आपको नपुंसक बना सकती हैं ये 10 आदतें (10 Habits That Can Make You Impotent)

आपको नपुंसक बना सकती हैं ये आदतें (Habits That Can Make You Impotent)

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (Erectile dysfunction) बहुत से पुरुषों की समस्या है, पर उन्हें पता ही नहीं चलता कि उनकी रोज़मर्रा की आदतें ही उनकी सेक्स लाइफ को बिगाड़ रही है. आप भी जानें इसके कारन, लक्षण और निवारण. 

पति-पत्नी के रिश्ते में प्यार की ताज़गी को हमेशा बरक़रार रखने में शारीरिक संबंधों की बहुत अहम् भूमिका होती है, लेकिन बदलते लाइफस्टाइल के चलते अधिकांश पुरुष इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शिकार होते जा रहे हैं. यह एक ऐसी समस्या है जो पुरुषों में आत्मविश्‍वास की कमी और अधूरेपन को दर्शाती है. क्या है इरेक्टाइल डिसफंक्शन, कैसे होती है ये समस्या और इसका निवारण कैसे होता है? चलिए जानते हैं.

क्या है इरेक्टाइल डिसफंक्शन?

संभोग के दौरान पेनिस का उत्तेजित न होना या फिर कामोत्तेजना को देर तक बनाए रखने में असमर्थता, यह यौन क्रिया की एक ऐसी स्थिति है जिसे स्तंभन दोष, नपुंसकता, शीघ्रपतन या फिर इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है. इरेक्टाइल डिसफंक्शन का अर्थ है पेनिस में तनाव न आना या तनाव का बरक़रार न रह पाना. इस स्थिति को इंपोटेंसी भी कहा जाता है जो 65 साल से अधिक उम्र के पुरुषों में बेहद आम है. इरेक्टाइल डिसफंक्शन की यह समस्या 40 वर्ष के क़रीब 5 फ़ीसदी पुरुषों में पाई जाती है जो उम्र के साथसाथ बढ़ती है. यह समस्या व्यक्ति के साथ उसके पार्टनर की सेक्सुअल लाइफ को भी प्रभावित करती है इसलिए समय पर इसका इलाज कराना अति आवश्यक है.

कारण

संभोग के दौरान आनंद की चरमसीमा तक पहुंचने के लिए लगातार पर्याप्त इरेक्शन का होना ज़रूरी है. अगर ऐसा नहीं होता है तो यह स्थिति आपके लिए चिंताजनक साबित हो सकती है. हालांकि यह बीमारी पुरुषों में कई कारणों से हो सकती है इसलिए इसके कारणों को जानना बहुत ज़रूरी है.

1- धूम्रपान

अगर आपको धूम्रपान करने की आदत है तो फिर ये आदत आपको इरेक्टाइल डिसफंक्शन का शिकार बना सकती है. सिगरेट पीने की वजह से शरीर में ठीक तरह से बल्ड सर्कुलेशन नहीं हो पाता है, जिससे बेड पर आपके परफॉर्मेंस में कमी आ सकती है.

2- शराब

अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से धमनियों में ख़ून का दौरा कम हो जाता है जिससे पेनिस तक पर्याप्त मात्रा में ख़ून की सप्लाई नहीं हो पाती है. ऐसे में व्यक्ति नपुंसक हो सकता है या इरेक्टाइल डिसफंक्शन का शिकार हो सकता है.

3- दवाइयां

अगर आप हाई ब्लड प्रेशर या फिर तनाव को दूर करने के लिए दवाइयों का सहारा लेते हैं तो यह आदत आपके बेड लाइफ के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है.

4- तनाव

तनाव या डिप्रेशन पुरुषों की सेक्स लाइफ के लिए बेहद ख़तरनाक माना जाता है. यह धीरेधीरे बीमारी फैलाता है इसलिए तनाव या डिप्रेशन से ख़ुद को दूर रखना चाहिए.

5- मोटापा

बढ़ते वज़न या फिर मोटापे का सीधा असर पुरुषों के लिंग पर पड़ता है और मेल

हार्मोन्स का प्रोडक्शन धीमी गति से होने लगता है. इससे पहले कि मोटापा आपकी सेक्स लाइफ का दुश्मन बने, आपको अपने वज़न को कंट्रोल करने को लेकर सीरियस हो जाना चाहिए.

6- हाई कोलेस्ट्रॉल

हाई कोलेस्ट्रॉल की वजह से रक्त की धमनियां पूरी तरह से ब्लॉक भी हो सकती हैं जिससे ख़ून की सप्लाई धीमी पड़ जाती है. अगर ऐसा होता है तो फिर इसका दुष्परिणाम पुरुषों के प्राइवेट पार्ट को भुगतना पड़ सकता है.

7- हृदय रोग

बदलते लाइफ स्टाइल की वजह से दिल की बीमारी एक बड़ी बीमारी बनकर उभरी है. हृदय रोग व्यक्ति के शारीरिक संबंध का सबसे बड़ा दुश्मन बन सकता है और आपको इरेक्टाइल डिसफंक्शन का शिकार बना सकता है.

8- डायबिटीज़

कुछ साल पहले डायबिटीज़ होने की औसत आयु 40 वर्ष हुआ करती थी जो अब घटकर 25 से 30 साल हो चुकी है. डायबिटीज़ के कारण ख़ून की धमनियों और तंत्रिकाओं पर बुरा प्रभाव पड़ता है, जिससे इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या हो सकती है.

9- बढ़ती उम्र

जैसेजैसे उम्र बढ़ती है व्यक्ति की यौन इच्छाओं में भी कमी आने लगती है. जो पुरुष यौन क्रिया में इच्छा नहीं रखते या फिर जिन्हें उत्तेजना नहीं होती, वे नपुंसक होते हैं लेकिन जो पुरुष उत्तेजित होते हैं लेकिन घबराहट के मारे जल्दी शांत हो जाते हैं, वे आंशिक नपुंसक होते हैं.

10- हाइपरलिपिडिमिया

हाइपरलिपिडिमिया एक बीमारी है. यह तब होता है जब आपके ख़ून में बहुत अधिक लिपिड (वसा) होता है यानी कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स. इस बीमारी के कारण आपको इरेक्टाइल डिसफंक्शन या नपुंसकता की समस्या हो सकती है.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

लक्षण

काम क्रिया के दौरान अगर शीघ्रपतन की समस्या होती है तो यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन हो सकता है.

संभोग के दौरान अगर उत्तेजना में कमी हो तो यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन या नपुंसकता का लक्षण हो सकता है.

समय से पहले स्खलन और विलंब स्खलन भी नपुंसकता यानी इरेक्टाइल डिसफंक्शन का लक्षण है.

पर्याप्त उत्तेजना के बाद भी संभोग सुख प्राप्त करने में असमर्थता इस बीमारी का लक्षण हो सकता है.

अगर ये समस्याएं दो या उससे अधिक महीने से हो रही हैं तो अपने डॉक्टर से परामर्श ज़रूर ले लेना चाहिए.

निवारण

इरेक्टाइल डिसफंक्शन यानी शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित व्यक्ति अपनी ख़राब सेक्स परफॉर्मेंस को लेकर शर्मिंदगी महसूस करता है, लेकिन समय पर सही उपचार करके इस समस्या से निजात पाना भी आसान है.

1- दवाइयां

पेनिस के मसल्स में ब्लड फ्लो बढ़ाने और उन्हें आराम देने के लिए डॉक्टर्स सिल्डेनाफिल (ीळश्रवशपरषळश्र), टैडलफिल (ींरवरश्ररषळश्र), वर्डेनफिल र्(ींरीवशपरषळश्र) अवानाफिल (र्रींरपरषळश्र) जैसी दवाएं मरीज़ को देते हैं. समस्या की गंभीरता के आधार पर दी जानेवाली इन दवाओं का सेवन सेक्स से क़रीब आधे घंटे पहले किया जाता है. हालांकि हार्ट डिजीज़ और प्रोस्टेट के मरीज़ों को इन दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए.

2- काउंसलिंग

तनाव, चिंता या फिर अन्य वैवाहिक समस्याएं अगर आपकी इस बीमारी का कारण हैं तो काउंसलिंग के ज़रिए इस समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है. आमतौर पर ऐसा उन लोगों के साथ होता है, जिन्हें सेक्स का कम अनुभव होता है लेकिन अपनी

परफॉर्मेंस की चिंता बहुत ज़्यादा होती है.

3- इंजेक्शन

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से निपटने के लिए मरीज़ को एक ख़ास इंजेक्शन दिया जाता है, जिसे पापवेरिन (रिर्रिींशीळपश) इंजेक्शन कहा जाता है. यह रक्त वाहिकाओं को बढ़ाने में मदद करते हैं. इस इंजेक्शन को शरीर में रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाने के लिए सीधे लिंग में लगाया जाता है.

4- जीवनशैली में बदलाव

जीवनशैली में बदलाव लाकर भी इस समस्या से काफ़ी हद तक राहत मिल सकती है. अपने डायट में हरी सब्ज़ियों, डेयरी प्रोडक्ट्स, विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर चीज़ों को शामिल करें. इसके साथ ही धूम्रपान, शराब और अवैध दवाइयों का सेवन करने से बचें और अपने शरीर के वज़न को कंट्रोल करें.

5- एक्सरसाइज़

ब्रिटेन के विश्वविद्यालय में हुए एक अध्ययन के अनुसार, पेल्विक एरिया की एक्सरसाइज़ करने से क़रीब 40फ़ीसदी पुरुषों में इरेक्टाइल की समस्या नॉर्मल हो गई है. तेज़ चलना, स्विमिंग और हफ़्ते में तीन बार कार्डियो करने से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और पेल्विक हिस्से में ब्लड फ्लो बढ़ता है. इटली और इथियोपिया में हुए एक अध्ययन के अनुसार, एरोबिक्स से भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन में सुधार हो सकता है.

ये भी पढें: सेक्स अलर्टः इन 10 स्थितियों में न करें सेक्स
यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: 6 AMAZING लव रूल्स हैप्पी लव लाइफ के लिए
Aneeta Singh :
© Merisaheli