ग्रॉसरी शॉपिंग के 27 गोल्डन टिप्स (27 Golden Rule For Grocery Shopping)

ग्रॉसरी स्टोर में की जानेवाली शॉपिंग आसान लेकिन एक चुनौती भरा काम है. ग्रॉसरी शॉपिंग यदि सही प्लानिंग के साथ की जाए, तो अच्छी क्वालिटी का सामान ख़रीदने के साथ-साथ आप अच्छी ख़ासी बचत भी कर सकते हैं. वैसे भी शॉपिंग करते समय न केवल पूरे परिवार की सेहत का ध्यान रखना पड़ता है, बल्कि अपने बजट को भी ध्यान में रखना पड़ता है. यदि आप भी ग्रॉसरी शॉपिंग करने जा रहे हैं तो यहां पर बताए जा रहे टिप्स को नज़ररअंदाज़ न करें.

  1. शॉपिंग पर निकलने से पहले घर के सामान की फाइनल लिस्ट बना लें. यह लिस्ट 3-4 दिन पहले से बनाकर रखें. जल्दबाज़ी में बनाई गई लिस्ट में कुछ सामान छूट भी सकता है.
  2. सामान की लिस्ट बनाने के बाद उसे फ्रिज के डोर या ड्राअर पर टैग करें. यदि कोई सामान लिखना रह गया है, तो याद आने पर आप तुरंत नोट कर सकते हैं.
  3. लिस्ट बनाते समय अपने स्टोर रूम, फ्रिज और फ्रीज़र को चैक करना न भूलें.
  4. ग्रॉसरी शॉपिंग की लिस्ट बनाने से पहले पूरे सप्ताह का मेनू प्लान कर लें, जैसे- फल, सब्ज़ियां, मीट, फिश और डेयरी प्रोडक्ट आदि.
  5. लिस्ट बनाने के साथ-साथ अपना बजट भी प्लान करें. अनावश्यक चीज़ों की ख़रीददारी करना केवल पैसों की बर्बादी है.
  6. छोटी-छोटी चीज़ों की ख़रीददारी करने के लिए बार-बार बाज़ार जाने की बजाय सप्ताह में एक बार बाज़ार जाकर सारा सामान ख़रीद लें.
  7. ख़रीददारी करने से पहले दो-तीन ग्रॉसरी स्टोर्स में जाकर क़ीमतें चैक कर लें. जहां पर दाम वाज़िब लगे और अच्छी क्वालिटी का सामान मिलें, वहीं से ख़रीददारी करें.
  8. शॉपिंग पर जाने से पहले अख़बार और स्थानीय शॉपिंग गाइड (पैम फ्लेट्स या ब्रोशर्स) में दिए गए विज्ञापनों को ज़रूर चैक करें. अक्सर त्योहार आदि अवसरों पर ग्रॉसरी फूड पर भारी सेल या छूट के अनेक ऑफर्स आते हैं.
  9. प्रतियोगिता के दौर में अनेक स्टोर्स, शोरूम्स और मॉल्स आदि अपनी बिक्री बढ़ाने और अधिक से अधिक ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए ‘विशेष ऑफर’ या ‘स्कीम्स’ निकालते हैं. इन ‘विशेष ऑफर’ और ‘स्कीम्स’ को ध्यान में रखें.
  10. ‘बाय वन गेट वन’, ‘बाय टू गेट वन’ या ‘50% डिस्काउंट ऑफर’ आदि जैसे ऑफर्स का लाभ उठाते हुए ग्रॉसरी सामान बल्क में ख़रीदें.
  11. इन ऑफर्स का लाभ उठाकर आप बचत कर सकते हैं. लेकिन बल्क में सामान ख़रदीते समय सामान की क्वालिटी के साथ कोई समझौता न करें.
  12. सेल में सामान ख़रीदने से पहले सामान के एक्चुअल प्राइज़ और सेल प्राइज़ की तुलना करके चैक करें कि आपको को कितना लाभ मिल रहा.
  13. कुछ बड़े दुकानदार या छोटे-छोटे जनरल स्टोर्स भी अपने कस्टमर्स को लुभाने के लिए कूपन ऑफर्स देते हैं. ग्रॉसरी शॉपिंग करते इन कूपन ऑफर्स का पूरा लाभ उठाएं. इन कूपन्स का लाभ उठाकर आप 10-12% तक बचत कर सकते हैं.
  14. जंक फूड ख़रीदने से बचें. चाहें इनमें ‘सेल’ लगी हो या ‘बॉय टू गेट वन’ जैसा ऑफर क्यों न हो. क्योंकि जंक फूड की न्यूट्रिशनल वैल्यु जीरो होती है और ये फूड सेहत को भी नुक़सान पहुंचाते हैं. अंत जंक फूड ख़रीदकर पैसे बर्बाद न करें.
  15. केन्ड, फ्रोजन और पी-पैकेज़्ड फूड में फैट, सोडियम और शुगर अधिक मात्रा में होते हैं, जो स्वास्थ्य को हानि पहुंचाते हैं. इसलिए इन खाद्य पदार्थो को ख़रीदने से बचें.

और भी पढ़ें: सीखें कुकिंग के नए तरीके

16. ग्रॉसरी शॉपिंग करते समय सामान का लेबल अच्छी तरह पढ़ें. लेबल में ट्रांस फैट, सेचुरेटेड फैट, हाइड्रोजेनेटेड ऑयल्स, शुगर की अधिकतम मात्रा, सोडियम और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज़रूर चैक करें.
17. उपरोक्त तत्वों से मिश्रित सामान ख़रीदने की बजाय, ऐसे खाद्य पदार्थों की ख़रीददारी करें, जिनमें फाइबर, प्रोटीन्स, विटामिन्स और अच्छी क्वालिटी वाले फैट्स हों.
18. कोल्ड ड्रिंक्स, सोडा और दूसरे फ्लवर्ड ड्रिंक्स पर पैसे बर्बाद करने की बजाय फ्रूट जूस, छाछ, लस्सी और नारियल पानी लें.
19. केक, कुकीज़ आदि डेज़र्टस में कैलोरी अधिक मात्रा में होती है. इसलिए इन्हें ख़रीदने की जगह सीज़नल फ्रूट्स ख़रीदें. फ्रूट्स फैट-फी होते हैं. इनमें फाइबर और पोषक तत्व अधिक मात्रा में होते हैं, साथ ही नॉनफैट फ्रोजन योगर्ट भी ख़रीद सकते हैं. यह फैट-फ्री और लो-कैलोरी डेज़र्ट है.


20. शुगर सीरियल ख़रीदने की बजाय साबूत अनाजवाले सीरियल ख़रीदें, जिनमें शक्कर की मात्रा कम हों. इन सीरियल्स को और अधिक टेस्टी और हेल्दी बनाने के लिए फ्रूट्स भी मिला सकते हैं.
21. क्विक एंड ईज़ी टू कुक बन जानेवाले फूड्स जैसे- स्पेगेटी या चीज़ आदि को अपने ग्रॉसरी स्टॉक में ज़रूर रखें. कभी-कभी स्वाद बदलने के लिए ये फूड्स अच्छे हैं.
22. कोई भी प्रोडक्ट ख़रीदते समय उसकी पैकिंग, मैन्युफैक्चरिंग और एक्सपायरी डेट आदि को ज़रूर चेक करें. कई बार सेल में ऐसा सामान भी होता है, जो आगामी 10-15 दिनों में एक्सपायर होने वाला होता है.
23. ऐसे पैक्ड फूड न ख़रीदें, जिनमें आर्टिफिशियल इंग्रेडेंट्स और प्रिज़र्वेटिव्स मिलें हो. आर्टिफिशियल और प्रिज़र्वेटिव्स मिश्रित खाद्य पदार्थ सेहत को नुक़सान पहुंचाते हैं.
24. यदि रोज़ाना मार्केेेट जाने का समय नहीं है, तो फ्रोजन वेजीटेबल्स, डेयरी प्रोडक्ट्स, मीट, फिश आदि भी ख़रीद सकते हैं. फ्रोज़न वेजीटेबल्स और मीट आदि को 10-15 दिन तक फ्रीज़र में रख सकते हैं.
25. बेक्ड फूड्स, बैटरी, लाइट्स, टॉयलेट टिश्यू जैसे ज़रूरत के सामान को सेल में बल्क में ख़रीदें. लेकिन इन सामान की ख़रीददारी करने से पहले अपने स्टोर रूम को ज़रूर चैक करें.


26. आजकल ऑनलाइन शॉपिग का क्रेज बहुत बढ़ गया है. इसलिए अधिकतर लोग हर छोटी से छोटी और बड़े से बड़ा सामान भी ऑनलाइन मंगाने लगे हैं. यहां तक की ग्रॉसरी का सामान भी. याद रखें, ऑनलाइन शॉपिंग करने पर सामान की एक्चुअल क़ीमत के साथ शिपिंग चार्ज़ेस का भुगतान भी अलग से करना पड़ता है. इसलिए ऑनलाइन ग्रॉसरी शॉपिंग करने की बजाय अपने घर के नज़दीकी सुपर मार्केट या होलसेल मार्केट में जाकर ख़रीददारी करें. वहां पर आप अच्छी क्वालिटी वाले पर सामान पर मोलभाव करके उचित क़ीमतों पर ख़रीददारी कर सकते हैं.
27. मॉल्स और शोरूम्स में से प्लास्टिक्स के कैरी बैग्स ख़रीदने की बजाय क्लोदिंग बैग्स का इस्तेमाल करें. इसके 2 लाभ हैं, पहला क्लोदिंग बैग्स का प्रयोग करके बचत कर सकते हैं. क्योंकि कुछ मॉल्स और शोरूम्स कैरी बैग्स का एक्स्ट्रा चार्ज करते हैं और प्लास्टिक बैग्स की अनदेखी करके पर्यावरण को होनेवाले नुक़सान से भी बचा सकते हैं.

और भी पढ़ें: जब घर आएं मेहमान तो ऐसे करें रसोई की तैयारी

                   -पूनम नागेंद्र शर्मा

Poonam Sharma :
© Merisaheli