45 फेंगशुई टिप्स से लाएं घर में सुख-समृद्धि (45 fengshui tips for happiness)

यदि आपके जीवन में बार-बार परेशानियां और रुकावटें आती रहती हैं, तो आप फेंगशुई शास्त्र की मदद से इसमें काफ़ी हद तक परिवर्तन ला सकते हैं यानी दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदल सकते हैं और परेशानियों से भी निज़ात पा सकते हैं. इसी के बारे में संक्षेप में बता रहे हैं वास्तुशास्त्री डॉ. प्रेम गुप्ता. आइए, सौभाग्य से जुड़े फेंगशुई टिप्स के बारे में जानें.

फेंगशुई द्वारा बताए गए विभिन्न उपायों को अपनाकर सौभाग्य की प्राप्ति की जा सकती है. फेंगशुुई के अनुसार, जब हवा से विंड चाइम्स बजती है, तो इसकी आवाज़ से घर में सुख-समृद्धि आती है और अनेक वास्तु दोष दूर हो जाते हैं. फेंगशुई में विंड चाइम, क्रिस्टल, ड्रैगन, लाफिंग बुद्धा, प्लास्टिक के फूल, कछुआ, जहाज़, सिक्कों आदि का बहुत महत्व है. इन्हें अपने घर या ऑफिस में किसी निर्धारित दिशा में रखकर जहां आप अपने घर-परिवार और नौकरी में सौभाग्य प्राप्त कर सकते हैं, वहीं शांति-सुकून भी पा सकते हैं. आइए, फेंगशुई से जुड़े विभिन्न उपयोगी टिप्स के बारे में जानें.

* शुभ व सौभाग्य प्राप्ति के लिए ड्रॉइंगरूम के प्रवेश द्वार के कोने पर दाईं तरफ़ 6 छड़वाली विंड चाइम्स लटकाना लाभदायक होता है. दरअसल, छह छड़ोंवाली विंड चाइम्स को ड्रॉइंगरूम में लगाने से सकारात्मक ऊर्जा निकलती है और पूरे घर में फैलती है. 

* ग्रीनरी फेंगशुई के सकारात्मक प्रभाव को बढ़ाती है. इनडोर पौधे घर में ख़ुशियां लाते हैं और घर के हर कोने को उत्साह और उमंग से सराबोर कर देते हैं. फेंगशुई में पौधों को नौ आधारभूत सुरक्षा सावधानियों में से एक माना गया है, इसलिए घर के खाली हिस्सों में पौधे लगा देने चाहिए.

* घर के दक्षिण-पूर्व कोने को धन व समृद्धि का कोना माना जाता है, इसलिए यहां चौड़े पत्तियोंवाले पौधे लगाएं.

* यदि परिवारिक सदस्यों को बार-बार परेशानी व निराशा का सामना करना पड़ता है, तो ड्रॉइंगरूम में नौ छड़ोंवाली विंड चाइम्स लगाएं. इससे सभी को  लाभ होगा.

* चढ़नेवाली बेलें, जिन्हें क्लाइम्बर्स कहा जाता है, जैसे- मनी प्लांट को कोने में लगाकर उस जगह की उदासीनता को कम
कर सकते हैं.

* लाफिंग बुद्धा, जो फेंगशुई में बहुत शुभ माना जाता है, उसे ड्रॉइंगरूम में ठीक सामने की ओर रखें, ताकि घर में प्रवेश करते ही आपकी नज़र सबसे  पहले उस पर पड़े.

* फेंगशुई के अनुसार, पुराना कबाड़ा व बेकार पड़ी चीज़ें परिवार में लड़ाई-झगड़े, मतभेद उत्पन्न करती हैं, इसलिए विशेषकर कपल्स अपने पलंग के  नीचे से पुराना कबाड़ तुरंत निकालकर बाहर फेंक दें, क्योंकि फेंगशुई के अनुसार, इससे पति-पत्नी के बीच मतभेद पैदा होते हैं.

यह भी पढ़ें: बेडरूम में पॉज़िटीविटी बनाए रखने के लिए फॉलो करें ये 9 वास्तु रूल्स

* गोलाकार डाइनिंग टेबल फेंगशुई में शुभ मानी जाती है, परंतु ध्यान रखें कि टेबल के साथ लगी कुर्सियों की संख्या सम हो.

* भोजन करते समय टीवी देखना हमारे सेहत की दृष्टि से भी नुक़सानदेह होता है, इसलिए टीवी को डाइनिंग रूम में न रखें.

* घर के दरवाज़े के हैंडल में सिक्के लटकाना घर में धन-संपत्ति और सौभाग्य लाने का बेहतरीन उपाय है.

* तीन पुराने चीनी सिक्कों को लाल रंग के धागे या रिबन में बांधकर दरवाज़े के हैंडल में लटका दें. इससे घर के सभी लोगों को लाभ मिलता है. हां, ये  सिक्के दरवाज़े के अंदर की ओर लटकाएं, न कि बाहर की ओर.

* एक बात और घर के सभी दरवाज़ों के हैंडल में सिक्के न लटकाएं, स़िर्फ मुख्यद्वार के हैंडल में ही सिक्के लटकाएं.

* इसके अलावा दरवाज़े के बाहरवाले हैंडल में छोटी-सी घंटी भी लटका सकते हैं.

* सिक्के घर में धन आने के प्रतीक हैं, पिछले दरवाज़े पर आपको एक भी सिक्का नहीं लटकाना है, क्योंकि पिछला दरवाज़ा इस बात का सूचक है कि इस मार्ग से होकर आपका कुछ न कुछ बाहर चला जाता है.

* फेंगशुई में फिश क़ामयाबी का प्रतीक है. फेंगशुई के अनुसार, घर में फिश एक्वेरियम रखने से सुख-समृद्धि आती है. घर में एक छोटे से फिश

* एक्वेरियम में गोल्ड फिश रखना सौभाग्यवर्द्धक होता है.

* उत्तर-पूर्व क्षेत्र धन संपदा व समृद्धि दायक क्षेत्र है. यह जल तत्व का प्रतीक है. इस क्षेत्र में एक्केरियम रखना शुभ रहता है.

* ध्यान रहे कि एक्वेरियम में 8 फिश गोल्डन और 1 ब्लैक कलर की हो. यदि कोई गोल्डन फिश मर जाए, तो माना जाता है कि घर पर आई कोई मुसीबत वह अपने साथ ले गई यानी गोल्डन फिश का मरना अपशगुन नहीं होता.

* अपने ऑफिस में पूर्व दिशा में लकड़ी से बनी ड्रैगन रखें. इससे एनर्जी लेवल बढ़ता है और उमंग-उत्साह बना रहता है.

* फेंगशुई के अनुसार, क्रिस्टल-ट्री का उपयोग घर में सुख-समृद्धि, प्रतिष्ठा व शांति के लिए किया जाता है.

* फेंगशुई स्टोन ट्री सुनने में भले ही काल्पनिक लगे, किन्तु वास्तविकता यही है कि चीनी पद्धति मेंं इस पौधे का अधिक महत्व है. यह पौधा तरह-तरह  के रत्नों व स्फटिकों का बना होता है. इसकी कई वेरायटीज़ होती हैं. रंग-बिरंगे रत्नों से सजे इस पौधे को यदि घर के उत्तर-पश्‍चिम एरिया में रखें, तो निश्‍चित रूप से घर में सौभाग्य में वृद्धि होती है.

* नवरत्न पेड़ नवग्रहों की शांति, सुख व पारिवारिक शांति के लिए इस्तेमाल करते हैं.

यह भी पढ़ें: करियर में तरक्क़ी के लिए वास्तु टिप्स

* वैसे इसे घर में दक्षिण-पूर्व दिशा में भी रखा जा सकता है. इसे व्यावसायिक स्थल पर रखने से संपदा मिलती है. इसे बैठक में भी रखा जा सकता है.  इसका एक और महत्वपूर्ण कार्य नकारात्मक ऊर्जा को दूर करना भी है.

* यदि घर में निगेटिव एनर्जी फैली हुई है, तो ऐसी स्थिति में चीनी बैंबू ट्री का इस्तेमाल करें. बैंबू का पेड़ घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव में बढ़ोतरी  करता है.

* फेंगशुई के अनुसार, कछुए को घर में रखना क़ामयाबी और सेहत के लिए लाभदायक है.

* पानी से भरे एक कटोरे में धातु का बना फेंगशुई कछुआ रखकर इस कटोरे को उत्तर दिशा में रखने से घर में सुख-शांति बनी रहती है.

* तीन टांगोंवाले मेंढ़क को भी फेंगशुई में सुख-समृद्धि का प्रतीक माना गया है.

* फेंगशुई में ड्रैगन को बहुत सम्मान दिया जाता है और इसे शुभ मानते हैं. ड्रैगन येंग यानी पुरुषत्व, हिम्मत और बहादुरी का प्रतीक है. यह
ड्रैगन लकड़ी, सिरेमिक व धातु में उपलब्ध है. कई पीढ़ियों से ड्रैगन शक्ति, अच्छे भाग्य व सम्मान का प्रतीक है. ड्रैगन एक क़ीमती कास्मिक ची बनाता है, जिसे शेंग ची भी कहते हैं, जिससे घर-ऑफिस में भाग्य साथ देता है.

* डबल ड्रैगन को यूं तो किसी भी दिशा में रखा जा सकता है, लेकिन इसे पूर्व दिशा में रखना सबसे ज़्यादा लाभदायक है.

* दो ड्रैगन का जोड़ा समृद्धि का प्रतीक है. इनके पैर के पंजों में ज़्यादा मोती सबसे अधिक एनर्जी संजोए हैं.

* लकड़ी का ड्रैगन दक्षिण-पूर्व या पूर्व में, सिरेमिक, क्रिस्टल के ड्रैगन को दक्षिण-पूर्व, उत्तर-पूर्व या उत्तर-पश्‍चिम में रखें.

* यदि घर का मुख्यद्वार उत्तर, उत्तर-पश्‍चिम या पश्‍चिम में हो, तो उसके ऊपर बाहर की तरफ़ घोड़े की नाल लगा देनी चाहिए. इससे सुरक्षा एवं  सकारात्मक ऊर्जा मिलती है.

* फेंगशुई के अनुसार, घर के पूर्वोत्तर कोण में तालाब या फव्वारा शुभ होता है, लेकिन इसके पानी का बहाव घर की ओर होना चाहिए, न कि बाहर की ओर.

* घर को नकारात्मक ऊर्जा से मुक्त रखने के लिए पूर्व दिशा में मिट्टी के एक छोटे-से पात्र में नमक भरकर रखें और हर चौबीस घंटे के बाद नमक बदल दें.

* बाथरूम में रखी बाल्टी हमेशा पानी से भरी रहे, इस बात का ख़ास ख़्याल रखें. यह उपाय आपके जीवन में ख़ुशियां के स्थायित्व को बनाए रखने में मददगार होगा. बाथरूम डेकोर के लिए आप प्राकृतिक या पानी के दृश्यों को दर्शाती सीनरी लगा सकते हैं. कहते हैं, इससे पानी की कमी जैसी समस्याएं परेशान नहीं करतीं.

यह भी पढ़ें: दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलता है विंड चाइम्स

* बाथरूम में साबूत नमक या फिटकरी से भरा एक कटोरा रखें. हर महीने इस कटोरे के नमक को बदलती रहें. कहते हैं, हवा में मौजूद नमी के साथ-  साथ यह नमक आसपास की नकारात्मक ऊर्जाओं को भी अपने अंदर समाहित कर लेता है.

* यदि आपको लगता है कि आपकी आय के सारे स्त्रोत बंद हो गए हैं, तो आप तीन रंगोंवाले फेंगशुई मेंढ़क (जिसके मुंह में सिक्के लगे हों) को अपने घर में इस प्रकार रखें कि मेंढ़क की पूरी दृष्टि आपके घर की ओर हो. ऐसा करने से आपकी भाग्य वृद्धि और आय बढ़ेगी.

* यदि आपका भाग्य आपसे रूठ गया हो, तो मकान या बिज़नेसवाली जगह के मुख्यद्वार पर चीनी फेंगशुई की विंड चाइम्स और चीनी सिक्के लगाएं.
इन बातों पर भी ध्यान दें.

* मुरझाए हुए या सूख गए पौधों को तुरंत हटा देना चाहिए. इससे नकारात्मक ऊर्जा फैलती है.

* घर के सामनेवाले हिस्से में कांटेदार या नुकीले पत्तोंवाले पौधे न लगाएं. ये नकारात्मक ऊर्जा बढ़ाते हैं.

* घर या ऑफिस में झाड़ू का इस्तेमाल न हो रहा हो, तो उसे नज़रों के सामने से हटाकर रखें.

* बाथरूम के दरवाज़े के ठीक सामने आईना न लगाएं, क्योंकि स्नान करने जाते समय हमारे साथ-साथ कुछ निगेटिव एनर्जी भी बाथरूम में प्रवेश कर जाती है.

* घर में जो घड़ियां बंद पड़ी होंं, उन्हें या तो घर से हटा दें या चालू करें. बंद घड़ियां हानिकारक होती हैं. इनसे नकारात्मक ऊर्जा निकलती है.

* कमरों में पूरे फर्श को घेरते हुए कालीन आदि बिछाने से लाभदायक ऊर्जा का प्रवाह रुकता है.

* फेंगशुई के तहत ईशान कोण पर बाथरूम बनाना पूरी तरह से वर्जित माना गया है. वैसे, घर के बाथरूम के लिए उत्तम दिशाएं दक्षिण, पश्‍चिम और  पूर्व मानी गई हैं.

वास्तु और फेंगशुई के जानकारी से भरपूर आर्टिकल्स के लिए यहां क्लिक करें: Vastu and Fengshui

Kanchan Singh :
© Merisaheli