5 श्रावण स्पेशल मेहंदी डिज़ाइन्स स्टेप बाय स्टेप (5 New Mehndi Designs-Shravan Special Unique Mehndi Designs Step By Step)

5 श्रावण स्पेशल मेहंदी डिज़ाइन्स से आप श्रावण में मेहंदी लगाने की परंपरा को बहुत ही ख़ूबसूरती से पूरा कर सकती हैं. सावन और शृंगार का चोली-दामन का साथ है. सावन की बरसती बूंदें शृंगार के लिए उकसाती हैं. तभी तो सावन में गीत गाने, मेहंदी लगाने, झूला झूलने, सजने-सवंरने का रिवाज़ है. व़क्त के साथ भले ही शृंगार का अंदाज़ बदल गया है, लेकिन बरसती बूंदें आज भी मन में वही उत्साह भर देती हैं. आप भी सावन में शृंगार करना न भूलें, इसलिए हम आपको बता रहे हैं 5 श्रावण स्पेशल मेहंदी डिज़ाइन्स लगाने का स्टेप बाय स्टेप तरीक़ा.

5 श्रावण स्पेशल मेहंदी डिज़ाइन्स लगाने का स्टेप बाय स्टेप तरीक़ा जानने के लिए देखें वीडियो:

सावन को ऐसे बनाएं स्पेशल:
सावन के महीने का जितना धार्मिक महत्व है, उतना ही ये प्यार और शृंगार के लिए भी जाना जाता है. तभी तो सावन के महीने पर इतने गीत लिखे गए हैं. चाहे सावन के सोमवार के व्रत हों या मेहंदी लगाने, कजरी (लोकगीत) गाने, चूड़ी पहनने, झूला झूलने का रिवाज़, रिमझिन बरसता सावन हर दिल में एक नई उमंग भर देता है. बदलते व़क्त के साथ सावन के महीने को कैसे बनाएं और सुहाना? आइए, जानते हैं.

* बड़े शहरों में सावन के सभी रीति-रिवाज़ मनाना भले ही मुमकिन न हो, लेकिन अपनी तरह से सावन को सुहाना बनाया ही जा सकता है. इसके लिए सहेलियों के साथ एक दिलचस्प पार्टी प्लान कीजिए.
* इस पार्टी को मेहंदी, चूड़ी, चुनरी आदि थीम दीजिए ताकि आप उस दिन ख़ूब सच-संवर सकें. * जीवन में इंद्रधनुष के रंग भरने का इससे अच्छा मौक़ा और क्या हो सकता है इसलिए पार्टी में ख़ूब सज-संवरकर जाएं.
* जब इतनी सारी सहेलियां साथ हों, तो नाच-गाने का दौर तो चलेगा ही. तो दिल खोलकर नाचिए-गाइए और सावन को यादगार बनाइए.
* पार्टी में यदि झूले का अरेंजमेंट भी हो जाए तो क्या कहने!
* सावन की पार्टी चाट-पकौड़े के बिना भला कैसे पूरी हो सकती है इसलिए पार्टी का मेनु ज़ायकेदार बनाने के लिए उसमें शामिल कीजिए चटाखेदार रेसिपीज़.

यह भी पढ़ें: चूड़ियां पहनने के 5 धार्मिक और वैज्ञानिक लाभ (Why Do Indian Women Wear Bangles-Science Behind Indian Ornaments)

श्रावण में ट्राई करें ये स्मार्ट आइडियाज़:
* जीवन में इंद्रधनुष के रंग भरने के लिए सावन में पहनिए ब्राइट कलर के ट्रेंडी आउटफिट्स और एक्सेसरीज़.
* मेहंदी, चूड़ी, चुनरी पहनकर हमसफ़र को रिझाइए.
* पार्टनर के साथ रोमांटिक गानों का लुत्फ़ उठाते हुए लॉन्ग ड्राइव पर निकल जाइए.

जानें व्रत क्यों रखा जाता है?

धार्मिक मान्यता
धर्मशास्त्रों में व्रत का बहुत महत्व है. व्रत से शरीर, मन और आत्मा सभी की उन्नति होती है. पूजा-पाठ, त्योहार या हफ्ते में किसी एक दिन अधिकतर लोग व्रत रखते हैं.
वैज्ञानिक महत्व
आयुर्वेद के अनुसार, व्रत करने से पाचन क्रिया अच्छी रहती है और फलाहार लेने से शरीर का डिटॉक्सीफिकेशन होता है. शरीर में से खराब तत्व बाहर निकलते हैं. शोधकर्ताओं के अनुसार, व्रत करने से कैंसर का खतरा कम होता है. हार्ट डिसीज़, डायबिटीज़ जैसी बीमारियां भी जल्दी नहीं होतीं. अतः सेहत की दिृष्टि से हफ़्ते में एक दिन व्रत करना बहुत ही ज़रूरी है.

यह भी पढ़ें: श्रावण मास में ऐसे करें शिव को प्रसन्न- पूरी होगी हर मनोकामना (How To Worship Lord Shiva During Shravan Month?)

 

श्रावण में ऐसे रखें व्रत
* शरीर से टॉक्सिन बाहर निकालने के लिए सावन के सोमवार का व्रत कीजिए और पाइए नया निखार.
* श्रावण में आप फ्रूट डायट भी फॉलो कर सकती हैं. इससे आप हेल्दी रहेंगी और ख़ूबसूरत भी नज़र आएंगी.

Kamla Badoni :
© Merisaheli