वज़न घटाएं, सेहत बनाएं(7 Best Slimming Foods)

हम किसी चमत्कारी डायट फूड्स की बात नहीं कर रहे, क्योंकि ऐसा कुछ होता ही नहीं है. हां, कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ (Best Slimming Foods) ज़रूर हैं, जिनके सेवन से पेट ज़्यादा देर भरा रहता है. जिससे भूख कम लगती है, नतीजतन वज़न कम होता है. आइए नज़र डालते हैं, ऐसे ही हेल्दी व पौष्टिक खाद्य पदार्थों पर.

बादाम


बादाम मोनो और पॉलीसैचुरेटेड फैट्स का बढ़िया स्रोत है. इसमें अन्य नट्स की तुलना में कम कैलोरीज़ होती हैं. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 23 बादाम में स़िर्फ 163 कैलोरीज़ होती हैं. इसके साथ ही बादाम में भरपूर मात्रा में फाइबर व विटामिन ई पाया जाता है. यही वजह है कि यह कोलेस्ट्रॉल लेवल कम रखने के साथ ही वज़न संतुलित रखने में मदद करता है.

सेब


सेब में पेक्टिन नामक तत्व पाया जाता है, जो स्वाभाविक रूप में पाचन की प्रक्रिया को धीमा कर देता है, जिससे पेट अधिक देर भरा रहता है. बहुत-से अध्ययनों से यह सिद्ध हुआ है कि खाने के साथ सेब का सेवन करने से भूख दबती है, जिससे हम कैलोरीज़ लेते हैं और हमारा पेट भी जल्दी भर जाता है. सेब एंटीऑक्सिडेंट्स, विटामिन सी व फाइबर का बढ़िया स्रोत है. सेब को और स्वादिष्ट बनाने के लिए इसे सलाद या स्टर फ्राय वेजिटेबल में डालें.

ये भी पढ़े:वर्कआउट के 20 फ़ायदे

एवोकाडो


इस क्रीमी सुपरफूड में भरपूर मात्रा में मोनोसैचुरेटेड फैट्स, पोटैशियम, मैग्निशियम, फॉलेट, विटामिन सी व ई पाया जाता है. यह आंखों की रौशनी तेज़ करने, दिल व त्वचा को स्वस्थ रखने के साथ ही कुछ विशेष प्रकार के कैंसर के ख़तरे को भी कम करने में मदद करता है. एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग नियमित रूप से एवोकाडो का सेवन करते हैं, उनका वज़न अन्य लोगों की तुलना में कम बढ़ता है. अन्य अध्ययन में पाया गया कि जो लोग लंच में आधा एवोकाडो ग्रहण करते हैं, उन्हें भूख कम लगती है. इसे खाने के कई तरी़के हैं. एवोकाडो को स्मूदी में डालें व एवाकाडो को सैंडविच में डालकर खाएं.

केला

केला पोटैशियम का बढ़िया स्रोत है, लेकिन साथ में इसमें रेसिस्टेंट स्टार्च भी पाया जाता है, जो वेट लॉस में मदद करता है. हमारा शरीर रेसिस्टेंट स्टार्च को धीमी गति में डायजेस्ट करता है, जिससे पेट अधिक देर तक भरा रहता है. इससे अलावा यह लीवर को फैट बर्निंग मोड में ले जाने में भी मदद करता है. इतना ही नहीं, केला रक्तचाप नियत्रित करने के साथ-साथ पाचनतंत्र को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है. पर ध्यान रहे, ज़्यादा पका हुआ केला न खाएं, क्योंकि हरे केले में रेसिस्टेंट स्टार्च की मात्रा ज़्यादा होती है.

पत्तागोभी


पत्तागोभी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स व विटामिन सी पाया जाता है और इसमें कैलोरीज़ भी बहुत कम होती हैं. एक कप पत्तागोभी में मात्र 22 कैलोरीज़ होती हैं इसलिए आप बिना किसी संकोच के भर प्लेट पत्तागोभी खा सकती हैं.

गाजर


चूंकि गाजर में फाइबर व वॉटर कंटेंट अधिक मात्रा में होता है, इसलिए इसका सेवन करने से पेट अधिक देर तक भरा हुआ रहता है. इसे और सेहतमंद बनाने के लिए हल्का भूनकर खाएं. एक अध्ययन के अनुसार, भुने हुए गाजर में कच्चे गाजर की तुलना में ज़्यादा एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं. इसके अलावा गाजर में मौजूद बिटा कैरोटिन इम्यून सिस्टम को मजबूत करने व आंखों की रौशनी तेज करने में मदद करता है.

फूलगोभी


गोभी एक लो कैलोरी वेजिटेबल है. एक फूलगोभी में मात्र 25 कैलोरीज़ होती हैं. इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर, पोटैशियम, विटामिन सी, के व बी6 6 पाया जाता है. कच्ची फूलगोभी खाने से पेट फूल सकता है, इसलिए इसे पकाकर खाएं.

ये भी पढ़ें:वज़न घटाने के 25 ईज़ी टिप्स

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप

Meri Saheli Team :
© Merisaheli