Categories: FILMEntertainment

न हाथों में चूड़ा, न मांग में सिंदूर, बिना मंगलसूत्र के सिंपल लुक में शादी के बाद पहली बार बाहर निकलीं नई-नवेली दुल्हनिया आलिया भट्ट, फैंस बोले- क्या ये हाफ मैरिज थी? तो कुछ ने कहा- मिसेज़ कपूर ग्लो कर रही हैं! (Alia Bhatt Spotted For The First Time After Wedding, Fans Say- Mrs Kapoor Is Glowing)

नई-नवेली दुल्हनिया आलिया भट्ट अपनी शादी के बाद पहली बार प्राइवट एयरपोर्ट पर स्पॉट हुईं. आलिया दरअसल शादी की रस्मों के बाद अब काम पर…

नई-नवेली दुल्हनिया आलिया भट्ट अपनी शादी के बाद पहली बार प्राइवट एयरपोर्ट पर स्पॉट हुईं. आलिया दरअसल शादी की रस्मों के बाद अब काम पर लौट चुकी हैं और उनके साथ मनीष मल्होत्रा भी थे. आलिया ने हल्के गुलाबी रंग का सूट पहन रखा था और वो बेहद सिम्पल लुक में थीं.

भारी-भरकम ज्वेलरी की बजाय आलिया ने अपनी प्यारी सी मुस्कान से सबका दिल जीत लिया. उन्होंने न तो हाथों में चूड़ा पहना हुआ था, न मांग में सिंदूर और न ही मंगलसूत्र. हां, उनकी डायमंड रिंग ज़रूर उंगली में चमक थी. आलिया ने माथे पर छोटी सी बिंदी लगा रखी थी और उनके मेहंदी लगे हाथ साफ़ दिखा रहे थे कि ये हैं बॉलीवुड की नई-नवेली दुल्हन रणबीर की आलिया.

आलिया ने अपनी शादी में भी बेहद सिंपल लुक रखा था और फैंस को उनकी यही सिम्प्लिसिटी बेहद भा गई थी. वहीं आलिया गुलाबी सूट में भी बेहद प्यारी लगीं, लेकिन कई फैंस को उनका ये लुक रास नहीं आया. कई फैंस बोले कि क्या ये हाफ़ मैरिज यानी अधूरी शादी थी. कुछ यूज़र्स ने ज़रूर कहा कि ये उसकी अपनी मर्ज़ी है, लेकिन ज़्यादातर फैंस का मानना है कि नई-नई शादी हुई है तो सिंदूर लगाकर वो और भी प्यारी लगती.

एक यूज़र ने लिखा कि कुछ आंटियां अब कहेंगी कि सिंदूर और मंगलसूत्र तो पहना ही नहीं, इस पर फ़ैन ने जवाब दिया कि सिर्फ़ आंटी ही क्यों हम भी यही कहेंगे, जब दीपिका और कैटरीना ने सिंदूर व मंगल सूत्र पहना था तो आलिया भी पहनकर उनकी ही तरह और प्यारी लगती…

ख़ैर ये अपनी चॉइस है लेकिन फैंस को कौन समझा सकता है! आलिया अपने काम के सिलसिले में करण जौहर और मनीष मल्होत्रा संग राजस्थान जाने की तैयारी में थीं और वो कलीना एयरपोर्ट पर स्पॉट हुई.

Photo Courtesy: Instagram/viralbhayani/instantbollywood

Share
Published by
Geeta Sharma

Recent Posts

कविता- हर बार मेरा आंचल तुम बनो… (Poetry- Har Baar Mera Aanchal Tum Bano…)

हूं बूंद या बदली या चाहे पतंग आसमान तुम बनो हूं ग़ज़ल या कविता या…

कहानी- जीवन की वर्तनी (Short Story- Jeevan Ki Vartani)

उस दिन देर रात जब मैं शादी से लौट रही थी, मुझे यही लग रहा…

© Merisaheli