Short Stories

मेरी सहेली की कहानी (Kahani) भावनाप्रधान, रोमांटिक (Romantic) व मर्मस्पर्शी होती हैं. ये ऐसी हिंदी कहानियां (Hindi Kahaniya) हैं, जो जीने की प्रेरणा देने के साथ-साथ हमें आत्मनिर्भर व आत्मविश्‍वासी भी बनाती हैं

कहानी- करवा चौथ

               पल्लवी “पूर्णा बिल्कुल सही है. सारे नियम हम महिलाओं के लिए क्यों? विवाह के बंधन में तो ...

कहानी- वट वृक्ष की छाया

                   रेनू मंडल “बच्चे नहीं समझते कि घर के बड़े-बुज़ुर्ग आंगन के वट वृक्ष के समान होते हैं, ...

कहानी- लौट आओ अचल (Short Story- Laut Aao Achal)

         शैली खत्री “शिकवा-शिकायतें कैसी, बस लौट आओ… लौट आओ अचल, मैं वहीं तो खड़ी हूं, बदला कहां कुछ. ...

कहानी- तुझे सब था पता मेरी मां… (Short Story- Tujhe Sab Tha Pata Meri Maa)

           भावना प्रकाश दिल पत्थर का किए बिना अपने दस साल के बच्चे को अपने से अलग कैसे कर देती? लौटी ...

कहानी- मदर्स डे

मनिकना मुखर्जी हमारी मांएं हमें पाल-पोसकर बड़ा करती हैं और कुछ सालों बाद हम ससुराल आ जाती हैं. ...

कहानी- अजब अंदाज़ (Short Story- Ajab Andaz)

        पुष्पा भाटिया हर व्यक्ति, भावनाओं के धरातल पर प्रशंसा का पात्र बनना चाहता है. परिवार की ...

कहानी- संस्कार (Short Story- Sanskar)

           अर्चना गौतम ‘मीरा’ एक बार मां ने हंसी-हंसी में कहा था, “वासु! मैं मरूं, तो मेरी मुट्ठीभर ...

कहानी- तालमेल (Short Story- Taalmel)

      निधि चौधरी पवन अपनी सारी ग्लानि, सारी कुंठा उड़ेल रहा था और सुनीता नीलकंठ की भांति उन विषैले ...

कहानी- प्रेशर कुकर

                   शैली माथुर “कढ़ी के स्वाद की कल्पना में खोई हो या ज़िंदगी के स्वाद की? वैसे दोनों का ...

कहानी- चौपाल (Short Story- Chaupal)

                      डॉ. गार्गी “सोच, मर जाता तू, तो कैसे आता इस स्वर्ग में. और मान ले कि तीनों अच्छे ...

कहानी- अतिक्रमण (Short Story- Atikraman)

      संगीता माथुर हम मांएं बेटियों को पुरुषों के कार्यक्षेत्र में उतरने के लिए प्रोत्साहित ...

कहानी- महादान

          मीनू ‘उषा किरण’ आंखें ईश्वर का हमें दिया गया एक अनमोल उपहार हैं. यदि हमारे इस दुनिया से ...

1 28 29 30 31 32