फैशन मिथ्स (Fashion Myths)

 

बात जब फैशल रूल्स की हो, तो सबसे बड़ा रूल यही है कि फैशन में कोई भी रूल फिक्स नहीं है. फैशन हर पल बदलता रहता है, तो इसके रूल्स भी बदलते रहते हैं. ऐसे में आपके लिए भी यह ज़रूरी है कि उन रूल्स को जानें, जिन्हें अब ब्रेक करना है.

 

मिथः सीक्वेंस और मेटालिक्स स़िर्फ नाइट लुक के लिए ही होते हैं.
हकीक़तः अपने स्पार्कल को एक ड्रेस तक ही सीमित रखें और डे लुक क्रिएट करें, जैसे- स़िर्फ टॉप या फिर स़िर्फ जैकेट पर सीक्वेंस हो.

मिथः प्रिंट्स को एक साथ पेयर नहीं करना चाहिए.
हकीक़तः लेटेस्ट और हॉटेस्ट ट्रेंड यही है कि आप प्रिंट्स को मिक्स-मैच करें. चाहे स्ट्राइप्स हो, पोल्का डॉट्स या फिर एनिमल प्रिंट, आप प्रिंट्स को स्मार्टली मिक्स-मैच करके हॉट लुक क्रिएट करें.

 

मिथः नेवी ब्लू और ब्लैक एक साथ नहीं पहनना चाहिए.
हकीक़तः अब ऐसा कोई ट्रेंड नहीं रहा, इसलिए इस रूल को भूल जाएं. ब्लू व ब्लैक को पेयर करें और पाएं मॉडर्न लुक.

मिथः गोल्ड और सिल्वर को मिक्स-मैच नहीं करना चाहिए.
हकीक़तः चाहे आपकी एक्सेसरी हो या ज्वेलरी, मेटालिक शेड्स एक-दूसरे को कॉम्प्लीमेंट ही करते हैं.

मिथः आपका हैंड बैग और शूज़ मैचिंग होने चाहिए.
हकीक़तः इस रूल से भी अब आप आज़ाद हो सकती हैं, सिंगल कलर की बजाय मिक्स कलरफुल एक्सेसरीज़ का ट्रेंड इन है.

मिथः शॉर्ट्स या शॉर्ट ड्रेसेज़ स़िर्फ समर के लिए ही होती हैं.
हकीक़तः जी नहीं, आप प्रिंटेड टाइट्स या शॉर्ट्स के साथ बूट्स पहनकर विंटर लुक क्रिएट कर सकती हैं.

मिथः स्नीकर्स स़िर्फ जिम के लिए ही हैं.
हकीक़तः अब वो ट्रेंड नहीं रहा. हाल ही के ट्रेंड को देखें, तो स्नीकर्स का सही सिलेक्शन आपको बहुत ही स्टाइलिश लुक दे सकता है और आप उसे कहीं भी पहन सकती हैं. चाहे लेदर पैंट्स हों या स्कर्ट- उसके साथ आप स्नीकर्स को कंबाइन करें.

मिथः रेड लिपस्टिक स़िर्फ ईवनिंग के लिए ही होती है.
हकीक़तः आप इसे दिन में भी लगाकर हॉट लुक क्रिएट कर सकती हैं. बस, इतना ध्यान रखें कि रेड लिपस्टिक के साथ बाकी का मेकअप मिनिमल ही रखें और आउटफिट के कलर्स भी न्यूट्रल हों, तो और भी बेहतर होगा.

मिथः स्वेट पैंट्स स़िर्फ घर में ही पहनी जा सकती हैं.
हकीक़तः हाल ही में यह ट्रेंड भी काफ़ी बदल गया है. अगर अच्छी फिटिंग की स्वेट पैंट है, तो वो कूल लगती है. आप उसे पीप टो बूटीज़ या हील्स और स्ट्रक्चर्ड ब्लेज़र के साथ पेयर करें.

मिथः दो बोल्ड कलर्स एक साथ नहीं पहनने चाहिए.
हकीक़तः कलर ब्लॉकिंग का मतलब ही है कि दो-तीन बोल्ड कलर्स एक-साथ पहनना और ये काफ़ी समय से ट्रेंड में भी है. आप अपनी एक्सेसरीज़ में भी कलर ब्लॉकिंग यूज़ कर सकती हैं.

यह भी देखें: लॅक्मे फैशन वीक समर/रिज़ॉर्ट 2017: मिलिए बॉलीवुड की 15 ग्लैमरस शोस्टॉपर्स से 

मिथः जींस को भी बाकी कपड़ों की तरह रेग्युलर वॉश करना चाहिए.
हकीक़तः जींस को आप जितना जल्दी और ज़्यादा वॉश करेंगे, उसकी फिटिंग उतनी ही ख़राब होगी, क्योंकि इससे उसका शेप बिगड़ता है और वो लूज़ होती है. जींस मटेरियल होता ही इसलिए है कि वो बहुत अधिक समय तक बिना धुले पहना जा सके. बेहतर होगा आप जब भी उसे धोएं, हैंगर में लटकाकर ही सुखाएं.

मिथः हमेशा एक ही साइज़ के कपड़े लें.
हकीक़तः यह ज़रूरी नहीं कि आपका जो साइज़ हो, आप आंखें बंद करके उसी साइज़ के कपड़े या शूज़ ख़रीद लें. हर स्टोर व ब्रांड की फिटिंग अलग-अलग होती है, इसलिए ट्राई करके अपनी फिटिंग के हिसाब से ही चीज़ें लें.

यह भी देखें: 32 ईज़ी फैशन बेसिक्स हर फैशनेबल वुमन को अपनाने चाहिए

मिथः शीयर टॉप्स को ऑफिस में नहीं पहना जा सकता.
हकीक़तः पिछले कुछ समय से शीयर ने फैशन में काफ़ी पॉप्युलैरिटी हासिल कर ली है और शीयर पहनने का यह मतलब नहीं कि आप
सी-थ्रू टॉप पहनें. आप शीयर या सिल्क इनर के साथ ट्रांसपरेंट टॉप पहन सकती हैं या फिर शीयर टी-शर्ट ले लें और उसे किसी सॉलिड कलर के साथ
लेयर करें.

मिथः हाई वेस्ट पैंट्स या जींस नहीं पहननी चाहिए.
हकीक़तः अगर सही फिटिंग और सही पेयरिंग के साथ थोड़ी-सी हाई वेस्ट जींस पहनी जाए, तो वो आपको स्लिम लुक देगी और आप लंबी भी नज़र आएंगी.
  – विजयलक्ष्मी

फैशन की अन्य ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें
Meri Saheli Team :
© Merisaheli