Categories: Entertainment

गोवा फिल्म फेस्टिवल: IFFI जूरी हेड ने ‘द कश्मीर फ़ाइल्स’ को बताया अश्लील व प्रोपेगेंडा फिल्म, भड़के लोग… इज़राइली राजदूत ने भी जूरी हेड को लगाई फटकार, कहा- आपको शर्म आनी चाहिए! (Goa Film Festival: ‘The Kashmir Files’ Is Vulgar Propaganda, Says IFFI Jury Head, Israeli Ambassador Slams Jury Head, Deets Inside)

इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (IFFI) में द कश्मीर फ़ाइल्स (The Kashmir files) दिखाई गई लेकिन इसको लेकर नया विवाद खड़ा हो गया. IFFI जूरी हेड…

इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (IFFI) में द कश्मीर फ़ाइल्स (The Kashmir files) दिखाई गई लेकिन इसको लेकर नया विवाद खड़ा हो गया. IFFI जूरी हेड और इज़राइल के फिल्म मेकर नदव लैपिड ने फ़िल्म के लिए विवादित टिप्पणी की है जो किसी को पसंद नहीं आ रही. लैपिड ने इस फ़िल्म को वल्गर और प्रोपेगेंडा मूवी बताया. उन्होंने फ़िल्म की आलोचना की और कहा कि ये मूवी फ़िल्म फ़ेस्टिवल में दिखाने लायक़ तक नहीं थी. इसे देखकर हम डिस्टर्ब हो गए. उन्होंने कहा इतने प्रतिष्ठित फ़िल्म समारोह में ऐसी फ़िल्म दिखाने पर वो हैरान हैं.

इस बयान के बाद लोग भड़क गए और विवाद काफ़ी बढ़ गया. अनुपम खेर से लेकर अशोक पंडित तक ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है. अनुपम खेर ने कहा कि झूठ का कद कितना भी ऊंचा क्यों न हो…सत्य के मुकाबले में हमेशा छोटा ही होता है.

अशोक पंडित ने कहा कि नदव लैपिड ने द कश्मीर फ़ाइल्स के लिए जिस भाषा का प्रयोग किया है उस पर मुझे बेहद आपत्ति है. तीन लाख कश्मीरी पंडितों के नरसंहार को चित्रित करना अश्लील नहीं हो सकता. मैं एक फ़िल्ममेकर व कश्मीरी पंडित होने के नाते उनके इस शर्मनाक बयान की घोर निंदा करता हूं.

इसके अलावा अशोक पंडित ने अन्य लोगों व फ़िल्म मेकर्स से भी एकजुट होने की अपील की है. वहीं विवेक अग्निहोत्री ने भी ट्वीट किया है और उन्होंने सीधे तौर पर कुछ न कहकर इशारों में कहा है कि सच सबसे ख़तरनाक होता है और वो लोगों से झूठ तक बुलावा देता है.

दूसरी ओर ये मामला अब राजनीतिक रूप भी के चुका है. भाजपा के विरोधी इसको मोदी जी व भाजपा की फ़िल्म बता रहे हैं और लैपिड का समर्थन कर रहे हैं वहीं अन्य लोग लैपिड के बयान को शर्मनाक बता रहे हैं.

इस मामले में भारत में इजराइली राजदूत नाओर गिलोन ने भी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने नदव लैपिड के बयान को निजी बताया और कहा कि नदव लैपिड के बयान पर हमें शर्म आती है. उनका कहना है कि भारत और हम मित्र हैं क्योंकि हमारे दुश्मन एक हैं. भारत ने हमें बतौर मेहमान यहां आमंत्रित किया था, यहां मेहमानों को भगवान समझा जाता है, लेकिन आपने भारत के भरोसे व मेहमाननवाज़ी का दुरुपयोग किया है.

Recent Posts

कियारा आडवाणी ज्यादा अमीर हैं या सिद्धार्थ मल्होत्रा, जानें कितनी है दोनों की नेटवर्थ (Kiara Advani is Richer or Sidharth Malhotra, Know Net Worth of Both)

बॉलीवुड के मोस्ट पॉपुलर लवबर्ड सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी अब ऑफिशियली पति-पत्नी बनने वाले…

लॉन्जरी को लेकर दुल्हन न करें ये ग़लतियां (Lingerie Mistakes That Should Be Avoided For Bride)

हर दुल्हन के लिए शादी का दिन बहुत ख़ास होता है. इस दिन को यादगार…

© Merisaheli