राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को क्रिकेट का जेंटलमैन कहा जाता है और उनके बर्थडे पर उन्हें मिला है परफेक्ट गिफ्ट अपने बेटे समित से… समित ने वन डे मैच में150 रनों की पारी खेली और यह साबित कर दिया कि वो भी अपने पिता के नक़्शे कदम पर ही चलनेवाले हैं

 द्रविड़ 45वां जन्मदिन मना रहे हैं. आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें…

उनकी मज़बूत शख़्सियत का अंदाज़ा तो इसी बात से लगाया जा सकता है कि अगर क्रिकेट में कोई जेंटलमैन है, तो राहुल… अगर क्रिकेट की कोई बेहद मज़बूत दीवार है, तो वो हैं राहुल… अगर किसी क्रिकेटर को मिस्टर डिपेंडेबल या भरोसेमंद कहा जाता है, तो वो भी हैं राहुल!
अपने शांत मिज़ाज और उत्कृष्ट खेल से किसी ने स्पोर्ट्स लवर्स के दिलों पर राज किया है, तो राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ही हैं. विरोधी खेमा भी जिन्हें अदब और सम्मान की नज़र से देखता रहा है, जिनकी तारीफ़ों के क़सीदे पढ़ने में हर कोई ख़ुद को गौरवान्वित महसूस करता रहा है, ऐसे क्रिकेटर के जन्मदिन पर हम उन्हें सैल्यूट करते हैं.

  • बेहद शालीन, बहुत ही सिंपल लेकिन अल्ट्रा टैलेंटेड राहुल का जन्म 11 जनवरी 1973 को मध्य प्रदेश की एक मराठी फैमिली में हुआ था, लेकिन बाद में वे बैंगलुरू शिफ्ट हो गए थे, जहां उनकी स्कूलिंग व आगे की शिक्षा हुई. उनके क्रिकेट रिकॉर्ड्स की बात करें, तो फेहरिस्त बेहद लंबी होगी, बेहतर होगा उनसे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण व दिलचस्प तथ्य जानें-
  • राहुल को प्यार से जैमी भी बुलाया जाता है, कयोंकि उनके पिता जैम कंपनी में काम करते थे.
  • राहुल द्रविड़ ही एकमात्र नॉन-ऑस्ट्रलियन क्रिकेटर हैं, जिन्होंने ब्रैडमैन ओरेशन को एड्रेस किया था, जो कि अपने आप में बेहद गौरव की बात है.
  • 1999 में हुए 7वें वर्ल्डकप (50-50) में राहुल द्रविड़ ही सर्वाधिक रनों के मामले में शीर्ष पर थे. ऐसे में उन लोगों के मुंह भी बंद हो गए थे, जो उन्हें वनडे के लिए अनफिट व मात्र टेस्ट का खिलाड़ी ही मानते थे.

यह भी पढ़ें: Exclusive Interview: जग जिस पर हंसता है, इतिहास वही रचता है… रेसलर संग्राम सिंह 

  • क्रिकेट के इतिहास में द्रविड़ ही एकमात्र ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने जिस मैच में डेब्यू किया, उसी मैच से वो रिटायर भी हुए. जी हां, 2011 में भारत की टी20 टीम में उन्हें सिलेक्ट किया गया था, जिसमें उन्होंने 21 गेंदों पर 31 रन बनाए थे.
  • बहुत कम लोग ही जानते हैं कि क्रिकेट से पहले द्रविड़ का प्यार हॉकी था. वो हॉकी के बेहतरीन खिलाड़ी थे और वो कर्नाटक की जूनियर स्टेट टीम के लिए सिलेक्ट भी हुए थे.
  • ग्लेन मैकग्रा का ये कथन भी काफ़ी मशहूर हुआ था, जिसमें उन्होंने राहुल की शान में कहा था- भारतीय टीम में मात्र एक ही खिलाड़ी ऐसा था, जो 90 के दशक की ऑस्ट्रेलियन टीम में डायरेक्ट एंट्री पा सकता था, वो है- राहुल द्रविड़.

  • 2001 में कोलकाता टेस्ट में वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ के बीच 376 रन की साझेदारी टेस्ट क्रिकेट का एक यादगार लम्हा है.
  • आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ इस टेस्ट में लक्ष्मण ने 281 रन तो द्रविड़ ने 180 रन बनाए थे.
  • टीम इंडिया के लिए 164 टेस्ट में 13288 रन, 344 वनडे में 10889 रन और एकमात्र टी20 इंटरनेशनल मैच में 31 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ राहुल पद्म श्री और पद्म भूषण जैसे सर्वोच्च भारतीय नागरिक सम्मान हासिल कर चुके हैं.
  • राहुल द्रविड़ ने 164 टेस्ट मैचों में 210 कैच पकड़े हैं जो कि वर्ल्ड रिकॉर्ड है.
  • अपने शानदार खेल की वजह से मिस्टर भरोसेमंद का उपनाम हासिल करने वाले राहुल द्रविड़ ने लगातार 94 टेस्ट खेले हैं. उन्होंने 93 टेस्ट भारत तो एक आईसीसी इलेवन के लिए खेला है. वह ऐसा करने वाले सुनील गावस्कर (106) के बाद दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं. वर्ल्ड रिकॉर्ड एलन बॉर्डर (153) के नाम है.