Categories: FILMEntertainment

‘खुशनसीब हूं, मेरे बच्चे ड्रग्स नहीं लेते, उनकी परवरिश अच्छी हुई है’, बोले शत्रुघ्न सिन्हा, साथ ही कहा आर्यन खान तो बहाना था, कहीं और निशाना था… (I Am Glad Luv-Kush, Sonakshi Don’t Have Such Habits, My Kids Don’t Do Drugs, Says Shatrughan Sinha On Aryan Khan’s Case)

शॉट गन शत्रुघ्न सिन्हा काफ़ी बेबाक़ी से बात करते हैं और अपनी राय देने से कभी झिझकते नहीं हैं. आर्यन खान ड्रग्स मामले में भी उन्होंने…

शॉट गन शत्रुघ्न सिन्हा काफ़ी बेबाक़ी से बात करते हैं और अपनी राय देने से कभी झिझकते नहीं हैं. आर्यन खान ड्रग्स मामले में भी उन्होंने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में अपने विचार रखे जो काफ़ी स्पष्ट थे और साथ ही उन्होंने अपने बच्चों की तारीफ़ भी की और परवरिश पर भी बातें कीं. वहीं उन्होंने आर्यन खान मामले को लेकर तंज भी कसा है कि आर्यन तो बहाना था, असल में कहीं और निशाना था. इस मामले में वो शाहरुख़ को सपोर्ट भी करते रहे और उनका कहना है कि असल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ये सब हुआ है. नवाब मलिक ने सब कुछ सामने रखा और आर्यन को अंत में इंसाफ़ मिला. ये शाहरुख़ के साथ स्कोर सेट करने के लिए था सब.

एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में शत्रुघ्न ने कहा कि वो काफ़ी खुशनसीब हैं कि लव-कुश और सोनाक्षी ने कभी ड्रग्स नहीं लिया, वो इस चीज़ में नहीं पड़े क्योंकि उनकी परवरिश अच्छी हुई है, इसलिए उनको ड्रग्स की कभी लत नहीं लगी.

क्या स्टार्स के लिए ये एक चुनौती है कि व्यस्त जीवनशैली में बच्चों के लिए टाइम निकालकर उनका सही मार्गदर्शन करें? इस पर उनको कहना था कि चुनौती हो या न हो, पर ऐसा जरूर होना चाहिए. मेरा तो शुरू से मानना है कि मैं जो प्रीच करता हूं, वो प्रैक्टिस भी करता हूं यानी जो मैं कहता हूं उसका पालन खुद भी करता हूं, मैं एंटी टोबैको कैम्पेन करता हूं. मैं हमेशा कहता हूं से नो टु ड्रग्स एंड टोबै यानी ड्रग्स को न कहो और तंबाकू से दूर रहो.

मैं इस मामले में काफ़ी लकी हूं कि मेरे बच्चों के बारे में मैंने कभी ऐसा देखा, न सुना और न कभी ऐसा पाया कि वो ड्रग्स की लत में पड़े हों. मुझे उन पर फ़ख़्र है और साथ ही क्योंकि हमने उनको अच्छी परवरिश दी है, मेरी परवरिश अच्छी रही तभी बच्चे सही रास्ते पर हैं.

ये पैरेंट्स की ज़िम्मेदारी है कि वो अपने बच्चों पर ध्यान दें, बच्चे अकेले न पड़ें इसका ख़याल रखें. कहीं वो ग़लत संगत में न पड़ें. कम से कम एक वक़्त का खाना तो पैरेंट्स को अपने बच्चों के साथ खाना ही चाहिए.

आर्यन खान मामले में उन्होंने कहा कि आर्यन को न्याय मिले, सिर्फ़ इसलिए कि वो शाहरुख़ के बेटे हैं न तो उनको टार्गेट करना चाहिए और न ही कोई ख़ास सुविधा मिलनी चाहिए. ये शाहरुख़ की लड़ाई है उनको खुद ही लड़नी पड़ेगी क्योंकि इंडस्ट्री में कहां कोई किसी की मदद को आता है, सब डर जाते हैं.

Recent Posts

हेमा मालिनी ने शिकागो के इस्कॉन मंदिर के शिलालेख का किया अनावरण (Hema Malini Unveils Inscription Of Chicago’s Iskcon Temple)

हर कोई जानता है कि हेमा मालिनी कितनी कृष्ण भक्त हैं. अक्सर मुंबई के इस्कॉन…

कंगना रनौत ने स्टार किड्स पर एक बार फिर साधा निशाना, बोलीं- उबले अंडे लगते हैं(Kangana Ranaut Takes A Dig At Star Kids, Says- They Look Like Boiled Eggs)

हर मुद्दे पर बिंदास बेबाक तीखे बयान देकर अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देनेवाली…

© Merisaheli