‘पृथ्वीराज’ के कॉस्ट...

‘पृथ्वीराज’ के कॉस्टयूम बनाने में लगी इतने साल की मेहनत, तब जाकर बन पाई 50,000 पोशाक और 600 पगड़ियां (It Tooks So Many Years Of Hard Work To Make Prithviraj’s Costume, Then Only 50,000 Costumes And 600 Turbans Were Made)

अक्षय कुमार और मानुषी छिल्लर स्टारर फिल्म ‘पृथ्वीराज’ बॉलीवुड के बड़े प्रोजेक्ट्स में से एक है. इसका निर्देशन चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने किया है. बिग बजट की इस फिल्म का सेट, ड्रेस, ज्वैलरी सब बेहद भव्य है, लेकिन इस सब में कितनी मेहनत और कितना पैसा लगा है, इसके बारे में जानकर आप दंग रह जाएंगे.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

2 साल की मेहनत ने अक्षय, मानुषी को बनाया राजा रानी – पृथ्वीराज फिल्म में अक्षय और मानुषी के लुक को लेकर फिल्म मेकर्स ने काफी मेहनत की है. पर्दे पर अक्षय और मानुषी को एक राजा और रानी की तरह दिखाने के लिए लगभग दो साल की कड़ी मेहनत के बाद सफलता हाथ लगी. देश के कई शहरों में घूम कर फिल्म की टीम द्वारा इसके लिए 6 महीने तक रिसर्च की गई. ताकि फिल्म के किरदार एकदम वास्तविक लगें. बताया जाता है कि रजवाड़े लुक के लिए बाड़मेर, जैसलमेर, नागौर से लेकर कोटा सहित कई जगह घूम घूम कर, कपड़े बनवाए गए और ज्वैलरी के लिए जयपुर और बीकानेर में तलाश पूरी हुई. इसके लिए हजारों मजदूरों ने काम किया.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

बॉलीवुड के नहीं बल्कि इस डिजाइनर की है मेहनत – आपको जानकर हैरानी होगी कि अक्षय को पृथ्वीराज का अवतार देने के लिए कोई ग्लैमर वर्ल्ड का डिजाइनर नहीं बल्कि राजस्थान के धौलपुर के रहने वाले संजीव राज परमार ने जिम्मा लिया. उन्होंने इस फिल्म के लिए 600 तरह की पगड़ियां और 50 हजार कॉस्ट्यूम डिजाइन किए हैं, जो बेहद बड़ी बात है. इतना ही नहीं उन्होंने गहनों और कपड़ों के अलावा फुटवियर से लेकर फिल्म में इस्तेमाल किए गए पर्स भी डिजाइन किए है.

ये भी पढ़ें: करण जौहर को अपने पिता के काम से होती थी शर्मिंदगी, वजह जानकर लगेगा झटका (Karan Johar Used To Be Embarrassed By His Father’s Work, You Will Be Shoked To Know The Reason)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम
फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

सेट पर उड़ाया पानी की तरह पैसा – ‘पृथ्वीराज’ में 12वीं सदी की दिल्ली, अजमेर और कन्नौज को रिक्रिएट करने का खास ख्याल रखा गया, जिसके लिए 25 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो सेट-डिजाइन के लिए 100 या 200 नहीं बल्कि 900 कारीगरों ने लगभग आठ महीने तक कड़ी मेहनत की है. फिल्म में दिखाए गए कई शहरों के लिए असली संगमरमर का इस्तेमाल किया गया, जो वाकई में वास्तविक दिख रहे हैं.

सैनिकों को भीड़ के लिए बुलाए इतने लोग – पृथ्वीराज के जमाने के महल से लेकर दरबार बनाने में मेकर्स को 35 करोड़ रुपए खर्च करने पड़े. चूंकि फिल्म ऐतिहासिक है, इसलिए सेट पर उसी तरह का माहौल बनाए रखने के लिए 300 से 400 जूनियर आर्टिस्टों या सैनिकों की भीड़ मौजूद रहती थी. सोशल मीडिया पर जब फिल्म का फर्स्ट लुक रिवील लिया गया था, तब फैंस ने इस फिल्म की भव्यता की खूब तारीफ की.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

बता दें कि फिल्म में अक्षय कुमार के अलावा संजय दत्त, सोनू सूद, मानुषी छिल्लर, मानव विज और साक्षी तंवर जैसे कई कलाकार हैं.

ये भी पढ़ें: हंसाने के चक्कर में कई बार अक्षय कुमार का पारा हाई कर चुके हैं कपिल शर्मा, फैंस भी लगा चुके हैं लताड़ (Akshay Kumar Has Been Angry With Kapil Many Tiems, Fans Have Also Taken Kapil’s Class)

×