नवरात्र स्पेशल: किस राशि वाले किस देवी की पूजा करें (Navratri 2017: Durga Puja According To Zodiac Sign)

21 सितंबर 2017 से नवरात्र पर्व की शुरुआत हो रही है. नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व में माता के विभिन्न स्वरूपों की पूजा की जाती है और उन्हें प्रसन्न करने के लिए विभिन्न साधनाएं भी की जाती हैं. इस नवरात्र में नवरात्रि में क्या है घट स्थापना का शुभ मुहूर्त, सही पूजा विधि, व्रत-उपवास आदि के बारे में संपूर्ण जानकारी दे रहे हैं पं. राजेंद्र जी.
* इस बार नवरात्र में घट स्थापना मुहूर्त प्रात: 6.18 से 8.20 मिनट तक है.
* हवन स़िर्फ और स़िर्फ अष्टमी को ही करें. 28 सितंबर को अष्टमी है.
* नवरात्रि में सत्वगुण का प्रभाव बढ़ता है, तमोगुण का प्रभाव घटता है.
किस राशि वाले किस देवी की पूजा करें
 * नवरात्रि में इन पांच में से कोई भी एक चीज़ घर पर लाने से समस्याएं दूर होती हैं:  
1) नवरात्रि में किसी शुभ मुहूर्त पर तुलसी का पौधा घर लाकर उसे गमले में रोपें. सुबह-शाम इस पौधे के पास दीपक जलाएं तथा इसे जल से सींचें. इससे मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है. धन तथा परिवार संबंधी सभी समस्याओं का निवारण होता है.
2) शुभ मुहूर्त में केले के पौधे को घर लाएं. उसे गमले में लगाएं, नौ दिन तक जल चढ़ाएं. गुरुवार पूजा करके जड़ में थोड़ा कच्चा दूध भी चढ़ाएं. ऐसा करने से धन की आवक शुरू हो जाती है.
3) शुभ मुहूर्त में बड़ का पत्ता तोड़ें तथा उस पर ताज़ी हल्दी से स्वस्तिक बनाकर घर के पूजा स्थल में रख लें. ऐसा करने से आपके सारे काम बनने लगेंगे.
4) भगवान शिव को अतिप्रिय धतूरा मां काली की पूजा में भी काम आता है. नवरात्रि में धतूरे की जड़ को शुभ मुहूर्त में घर में स्थापित कर मां के बीजमंत्र क्रीं का जाप करें. ऐसा करने से समस्याएं कम होने लगती हैं.
5) नवरात्रि में किसी भी शुभ मुहूर्त पर शंखपुष्पी की जड़ लाएं. इस जड़ को चांदी की डिब्बी में रखकर घर की तिजोरी या अलमारी में रख दें. ऐसा करने से कभी पैसे की कमी नहीं होती है.

 

किस राशि वाले किस देवी की पूजा करें: 
1) मेष: स्कंदमाता की पूजा करें, दुर्गा चालीसा का पाठ करें
2) वृषभ: महागौरी स्वरूप की पूजा करें, ललिता सहस्रनाम का पाठ करें
3) मिथुन: ब्रह्मचारिणी की पूजा करें, दुर्गा द्वादश का पाठ करें
4) कर्क: शैलपुत्री की पूजा करें, लक्ष्मी सहस्रनाम का पाठ करें
5) सिंह: कुष्मांडा देवी की आराधना करें, दुर्गा मंत्र का जाप करें
6) कन्या: ब्रह्मचारिणी की उपासना करें, लक्ष्मी मंत्र का जाप करें
7) तुला: महागौरी की पूजा करें, काली चालीसा पढ़ें
8) वृश्‍चिक: स्कंदमाता का ध्यान करें, दुर्गा सप्तशती पढ़ें
9) धनु: चंद्रघंटा की आराधना करें, दुर्गा कवच का पाठ करें
10) मकर: मां काली की उपासना करें, ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे मंत्र का जाप करें
11) कुंभ: मां कालरात्रि की आराधना करें, सिद्ध कुंजिका स्तोत्र का जाप करें
12) मीन: चंद्रघंटा की पूजा करें, हल्दी की माला से बगलामुखी मंत्र का जाप करें
यह भी पढ़ें: नवरात्र स्पेशल: 10 सरल उपाय नवरात्र में पूरी करते हैं मनचाही मुराद
यह भी पढ़ें: नवरात्र स्पेशल: किस दिन क्या भोग लगाएं
यह भी पढ़ें: नवरात्रि पर विशेष: आरती… मां अम्बे की