Kaali Poster Controversy: मां का...

Kaali Poster Controversy: मां काली के हाथ में सिगरेट देखकर भड़की नुसरत जहां, बोलीं- धर्म को बेचने वाली चीज मत बनाओ (Nusrat Jahan Reacts To Leena Manimekalai’s Kaali Poster Controversy, Says Religious Sentiments Shouldn’t Be Hurt)

डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ (Kaali) के पोस्टर पर खूब बवाल मचा हुआ है. फिल्ममेकर लीना मण‍िमेकलई (Leena Manimekalai) की इस फ‍िल्म के पोस्टर में मां काली को स‍िगरेट पीते और एक हाथ में LGBTQ का झंडा लिए दिखाया गया है. इस पोस्टर के रिलीज होने के बाद से सोशल मीड‍िया पर घमासान (Kaali Poster Controversy) मचा हुआ है. लीना के खिलाफ धार्मिक भावना को आहत करते हुए मामला भी दर्ज हुआ है. बात इतनी बढ़ गई क‍ि कनाडा में भारतीय उच्चायोग ने भी इस मामले पर बयान जारी कर दिया है.

और अब एक्ट्रेस और तृणमूल कांग्रेस की एमपी नुसरत जहां (Nusrat Jahan) ने भी इस विवाद पर रिएक्शन दिया है और कहा है कि धर्म को बेचने वाली चीज नहीं बनाना चाहिए. उनका कहना है कि किसी की भी धार्मिक भावना को आहत नहीं करना चाहिए.

क्यों हो रहा है विवाद?

फिल्ममेकर लीना मण‍िमेकलई ने अपनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ का पोस्टर रिलीज़ किया है. इस पोस्टर में एक लड़की मां काली के भेष में नजर आ रही है, जिसके चार हाथ हैं. एक हाथ से वो सिगरेट पी रही है, वहीं एक हाथ में उसने एलजीबीटीक्यू समुदाय का झंडा लिया हुआ है. मां काली को सिगरेट पीते हुए इस तरह दिखाए जाने पर लोग भड़क गए हैं और सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर घमासान मच गया है. यूजर्स लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़काने के लिए लीना को अरेस्ट करने तक की मांग कर रहे हैं.

नुसरत ने क्या कहा?

पोस्टर को लेकर हो रहे हंगामे के बीच नुसरत जहा ने भी इस विवाद पर एक इंटरव्यू के दौरान बातचीत की. उन्होंने कहा, “धर्म को बीच में मत लाओ. इसे बेचने लायक मत बनाओ. ड्राइंग रूम में बैठकर सारी मसालेदार स्टोरी को देखना बहुत आसान होता है. मैंने हमेशा क्रिएटिविटी को अलग से सपोर्ट किया है. व्यक्तित्व को अलग सपोर्ट किया है, लेकिन मेरा ये भी मानना है कि धार्मिक भावनाएं आहत नहीं की जा सकतीं.”

क्रिएटिविटी और धर्म को अलग रखो

नुसरत ने आगे कहा कि इस तरह का पोस्टर बिल्कुल गलत है, इस तरह किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाना, ऐसे पोस्टर्स के जरिए देवी-देवताओं के साथ खिलवाड़ करना सरासर गलत है. “मैं किसी की धार्मिक भावना आहत नहीं कर सकती, क्योंकि मैं अपने धर्म को अपने तरीके से फॉलो करती हूं. अगर आप क्रिएटिवली कुछ कर रहे हैं, तो उसकी जिम्मेदारी बॉडी है. मैं नहीं कहूंगी कि आप सही हो या गलत, लेकिन मैं क्रिएटिविटी और धर्म को अलग रखती हूं और यही ठीक है.”

खुद भी इस तरह के धार्मिक विवाद में फंस चुकी हैं

नुसरत खुद भी 2 साल पहले इसी तरह के विवाद को जन्म दे चुकी हैं. दो साल पहले उन्होंने मां दुर्गा की तरह ड्रेस पहनकर एक स्पेशल फोटोशूट कराया था और उसे सोशल मीडिया पर शेयर किया था जिसकी वजह से काफी हंगामा भी मचा था. इस वजह से उन्हें काफी ट्रोलिंग का सामना भी करना पड़ा था.

×