हाथ की रेखाओें से जानें महिलाओं की सेक्स लाइफ (Reveal Her Sex Appeal With Palm Reading)

ज्योतिष विज्ञान में ‘हस्त रेखा’ विज्ञान का भी अलग महत्व है. इसमें शरीर की बाहरी रचना, हस्त रेखाओं और शरीर पर बने विभिन्न चिह्नों का विस्तृत अध्ययन किया गया है. शरीर के बाहरी अंगों की आकृति, उन पर स्थित चिह्नों तथा रेखाओं को देखकर यह पता लगाया जा सकता है कि स्त्री की सेक्स लाइफ (Sex Appeal With Palm Reading) और उसका सेक्स संबंधी स्वभाव कैसा होगा?


शरीर के अंगों से जानें स्त्री की सेक्स लाइफ
– जिस स्त्री के तलुवे कोमल, एड़ी कोमल व गोलाई लिए हो और जिसे पैरों में  पसीना न आता हो, उसका सेक्स जीवन(Sex Appeal With Palm Reading) काफ़ी अच्छा होता है.
– गोल, भरे-भरे अंगूठे और पैर की दूसरी उंगली अंगूठे से बड़ी हो, तो उस स्त्री का मन चंचल होता है. वह एक से अधिक पुरुषों से संबंध बनाने में दिलचस्पी रखती है.
– पैर की तर्जनी उंगली अंगूठे से अधिक लंबी हो, तो वह शादी से पहले ही सेक्स संबंध स्थापित कर सकती है.
– हृष्ट-पुष्ट और चिकने पैरवाली महिलाओं की सेक्स लाइफ(Sex Appeal With Palm Reading) किसी राजरानी की तरह हो सकती है.
– हृष्ट-पुष्ट टखने भी सुखकारक होते हैं.
– जिसकी जांघें चिकनी, कोमल, रोमरहित व हृष्ट-पुष्ट हों, वे अपने पार्टनर को सेक्स में अच्छा सहयोग देती है और ख़ुद भी सेक्स का आनंद उठाती है.
– मांसरहित घुटनेवाली स्त्री स्वतंत्र विचारोेंवाली और चंचल मन की होती है. ये एक से अधिक पार्टनर से भी संबंध रखने में झिझकती नहीं, लेकिन इनको गुप्त रोगों का भय होता है.
– पतली कमर, गोल नितंबवाली महिलाएं सेक्स में माहिर होती हैं. मांसल और भरे हुए चौड़े नितंबवाली स्त्री भोगी प्रकृति की मानी गई है.
– जिनके अंडरआर्म्स में पतले कोमल रोएं हों और जिनके ब्रेस्ट पुष्ट हों, वे भी सेक्स क्रिया में अच्छी मानी जाती हैं.
– होंठों के आकार से भी सेक्स लाइफ का पता चलता है. जिस स्त्री का ऊपरी होंठ मोटा हो, तो वो सेक्स मेें दिलचस्पी रखनेवाली होगी और अगर निचला होंठ मोटा हो, तो किस करने की दृष्टि से उसके होेंठ आकर्षक माने जाएंगे.

यह भी पढ़ें: 7 स्मार्ट ट्रिक्स से सुपरचार्ज करें अपनी सेक्स लाइफ 

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है

तिल के निशान से जानें सेक्स लाइफ
– तिल के संदर्भ में भी ज्योतिष शास्त्र में उल्लेख किया गया है. नाक में तिल तथा जांघों में लाल तिलवाली स्त्री के अन्य पुरुष से संबंध हो सकते हैं.
– कनिष्ठिका उंगली के नीचे काला तिल प्रेमी से बिछड़ने का संकेत है.
– हाथ के शुक्रपर्वत पर काले तिलवाली स्त्री छोटी उम्र से ही सेक्स-संबंधों में लिप्त हो जाती हैं. इन्हें गुप्तांग रोग हो सकते हैं.
– विवाह रेखा का काला तिल दांपत्य जीवन के ख़राब होने का प्रतीक है.
– अंगूठे की जड़ में स्थित काला तिल  गर्भपात का संकेत देता है.
– गालों में तिल या स्तनों में तिलवाली महिला अपने पति की प्रिय होती है.
– स्त्री के गुप्तांग में चिह्न, तिलादि हों, तो उस स्त्री का यौन-संबंध प्रायः राजकीय अधिकारी से होता है.
– जिस नारी के बाएं गाल पर तिल होता है, ऐसी महिलाओं को सेक्स में अलग-अलग पोज़ीशन्स व विभिन्नता पसंद होती है.
– जांघ पर तिलवाली स्त्रियां भौतिकवादी होती हैं. ऐसी युवतियां सेक्स(Sex Appeal With Palm Reading) को इच्छातृप्ति का साधन समझती हैं.
– अंगूठे के मूल में दो क्रॉस के चिह्न हों, तो महिला को यौन संबंधों के कारण जननेन्द्रिय रोगों की संभावना होती है और ऐसी महिला का कई पुरुषों से संबंध हो सकता है.

क्या कहती हैं हाथ की रेखाएं?
– जिस स्त्री की मध्यमा उंगली की रेखा कटी हो, वह अधिक पुरुषों से संबंध बनाती है.
– मन रेखा युक्त अंगूठेवाली स्त्री के कई पुरुष मित्र होते हैं.
– रति-रेखावाली स्त्री का जीवनसाथी से लगाव और वैवाहिक जीवन सुखद होता है.
– रति रेखा के ऊपर-नीचे रेखाएं हों, तो ऐसी स्त्री के कई प्रेमी होते हैं और वह सेक्स(Sex Appeal With Palm Reading) क्रिया में निपुण होती है.
– मोटी तथा भद्दी रति रेखावाली स्त्री सेक्स से संबंधित बातों से अनजान-सी होती है, जबकि पतली रेखा सेक्स-सुख प्राप्ति की प्रतीक है.
– रति रेखा टूटी हो, तो स्त्री के पति का अन्य स्त्री में यौनाकर्षण होता है.
– रति रेखा खंडित हो, तो रोगों का भय होता है.
– जिस स्त्री के अंगूठे के मूल से नीचे तक चक्राकार मोटी रेखा हो, ऐसी स्त्री परपुरुषों में रुचि रखनेवाली, स्वतंत्र विचार व व्यवहार करनेवाली होती है.
– शुक्र क्षेत्र पर रेखाएं विपरीत लिंगियों से शारीरिक संबंधों का संकेत देती हैं.
– जीवन रेखा और हृदय रेखा के मध्य जाल का चिह्न गर्भाशय की बीमारियों- प्रदर रोग आदि का संकेत देती है.

यह भी पढ़ें: बेहतर सेक्स लाइफ के लिए बदलें ये आदतें

Meri Saheli Team :
© Merisaheli