मां नहीं बनना चाहतीं हैं राम चरण...

मां नहीं बनना चाहतीं हैं राम चरण की वाइफ उपासना, इस फैसले की वजह जानकर सद्गुरू ने भी की खूब सराहना… बोले- ये सबसे बड़ी सेवा है, उपासना बोलीं- मेरी मां और सासू मां को भी समझाएं! (Sadhguru Praises Ram Charan’s Wife Upasana For Her Choice To Not Have Kids… Upasna Says ‘Speak With My Mother & Mother-In-Law’)

राम चरण (Ram Charan) बेहद पॉप्युलर स्टार (Popular Film Star) हैं और वो सिर्फ़ साउथ (south film industry) में ही नहीं पूरे देश में पसंद किए जाते हैं. आरआरआर फेम राम चरण (RRR Fame Ram Charan) भले ही कितने फेमस क्यों न हों लेकिन इन दिनों उनकी पत्नी उपासना कामिनेनी (Ram charan’s wife Upasna) अपने स्टेटमेंट को लेकर काफ़ी सुर्ख़ियों में हैं और वो ये कि आख़िर शादी के दस साल बाद (10 years of marriage) भी वो मां क्यों नहीं बनना चाहतीं (doesn’t want to have babies) उपासना ने इसकी सिम्पल सी वजह बताई कि देश की आबादी को कंट्रोल करने के लिए उन्होंने ये फ़ैसला लिया है.

राम चरण और उपासना की शादी साल 2012 में हुई थी और वो एक हैप्पी कपल के तौर पर देखे जाते हैं लेकिन एक्टर से पहले भी कई बार इस विषय में इंटरव्यूज़ में सवाल किया जा चुका है. जिस पर वो कहते हैं कि चिरंजीवी के बेटे होने के नाते मेरे पास फैन्स को खुश करके रखने की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. अगर मैं फैमिली शुरू करता हूं तो मैं अपने मिशन से भटक जाऊंगा. इसी तरह उपासना के भी कुछ गोल्स हैं और हम दोनों ने ही फ़ैमिली शुरू न करने का फ़ैसला किराया है. वहीं उपासना से भी ये सवाल किया जा चुका है और उपासना का यही कहना है कि अगर निजी जीवन में उन्होंने कोई निर्णय लिया है तो उसका सम्मान किया जाना चाहिए.

पर हाल ही में एटीए सम्मेलन में उपासना ने सद्गुरु जग्गी वासुदेव के सामने मां न बनने के अपने इस फ़ैसले की वजह बताई… उपासना ने साफ़ तौर पर कहा कि वो आबादी को कंट्रोल करने के लिए बच्चा नहीं करना चाहतीं और यही वजह है कि शादी के दस साल बाद भी वो मां नहीं बनीं.

https://www.instagram.com/tv/Cfl6KOshD-n/?igshid=NWRhNmQxMjQ=

उपासना ने सद्गुरू के सामने अपनी बात रखी और कहा कि मैं पिछले दस सालों से अपनी शादीशुदा ज़िंदगी में बेहद ख़ुश हूं. मैं अपनी ज़िंदगी और अपने परिवार से प्यार करती हूं, पर लोग मेरे आरआरआर को लेकर सवाल पूछना अपना हक़ क्यों समझते हैं- आरआरआर का अर्थ है- रिलेशनशिप, रिप्रोडक्शन की क्षमता और रोल ज़िंदगी में… मेरी तरह कई महिलाएं होंगी जो इस सवाल का जवाब जानना चाहती होंगी. सद्गुरू ने इस पर कहा कि रिलेशनशिप मैं तुम पर छोड़ता हूं क्योंकि ये तुम्हारा निजी मामला है लेकिन जहां तक रिप्रोडक्शन की बात है तो अगर तुम ऐसे ही रहने का फ़ैसला रखती हो तो मैं तुमको अवॉर्ड दूंगा. तुम जैसी कई यंग महिलाएं हैं कि प्रजनन की क्षमता रखते हुए भी मां न बनने का विकल्प चुनती हैं. ये सबसे बड़ी सेवा है क्योंकि मनुष्य कोई विलुप्त होती प्रजाति नहीं, हम ढेर सारे हैं और आगे चलकर और बढ़ेंगे. इंसान कार्बन फुटप्रिंट को लेकर चिंतित है लेकिन अगर मानव पदचिह्न कम होते है, तो ग्लोबल वार्मिंग के बारे में भी चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है. इसलिए उन महिलाओं को देखना अच्छा लगता है जिन्होंने रिप्रोड्यूस न करने का विकल्प चुना है. मैं इसकी सराहना करता हूं.

सद्गुरू की बातों से ख़ुश होकर उपासना ने ये भी कहा कि मैं जल्द ही अपनी मां और सासू मां से आपकी बात कराऊंगी.

https://www.instagram.com/tv/Cfl6KOshD-n/?igshid=NWRhNmQxMjQ=

×