सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या मैं ऐब्नॉर्मल हूं? (Sex Problems- AM I Abnormal?)

क्या मैं ऐब्नॉर्मल हूं?…
मैं 17 साल की हूं. मेरी एक समस्या है मैं जब भी किसी हैंडसम और आकर्षक लड़के को देखती हूं तो उत्तेजित हो जाती हूं. मेरी सहेलियों से जब इस बारे में बात की तो वे मेरा मज़ाक उड़ाने लगीं. मुझे डर लग रहा है. क्या मैं ऐब्नॉर्मल हूं? इससे मेरे भविष्य पर तो कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. कृपया मार्गदर्शन करें.

– रिद्धिमा सुबह्रमनियम, कोलकाता.

ऐसी कई लड़कियां हैं, जो महिला शरीर के बेसिक सायकोलॉजी और सोशोलॉजी को अनदेखा करती हैं. सेक्स के बारे में जानने और समझने में कोई बुराई नहीं है. इसके बारे में आधी-अधूरी जानकारी के कारण आपकी ऐसी मनःस्थिति हुई है. सबसे पहले आप अपने मन से इस डर को निकाल दें कि यह एक असामान्य बात है. आप बिल्कुल नॉर्मल हैं. जब कभी हम सेक्सुअल विचार करते हैं या उसके बारे में सोचते हैं तब योनि में गीलापन हो जाता है. इससे आपके भविष्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, आप निश्‍चिंत रहें.

यह भी पढ़े: स्पाइस इट अप: जानें सेक्स के 20 फ़ायदे

यह भी पढ़े: सेक्स में पहल करने से क्यों कतराती हैं महिलाएं ?

छूने मात्र से काफ़ी उत्तेजित हो जाती हूं…
मैं 22 साल की हूं. मेरी सगाई हो चुकी है. जल्द ही शादी होनेवाली है. जब कभी अपने मंगेतर के साथ अकेले में घूमती-फिरती हूं, तब उसके छूने मात्र से काफ़ी उत्तेजित हो जाती हूं. कहीं मेरे मंगेतर मुझे ग़लत तो नहीं समझेंगे?

– आशा शुक्ला, कानपुर.

जिस तरह भूख, प्यास, सोना आदि हमारे जीवन का ज़रूरी हिस्सा है, उसी तरह सेक्सुअल डिज़ायर भी है. आप इसे लेकर ग्लानि न महसूस करें, न ही ख़ूद के मन में हीनभावना को पनपने दें. आपका उत्तेजित होना एक नेचुरल प्रक्रिया है. दरअसल हमारी शारीरिक रचना और कुछ हद तक हार्मोन्स के कारण ऐसा होता है.

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेंSex Problems Q&A

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
(dr.rajivanand@gmail.com)

Usha Gupta :
© Merisaheli