सेक्स प्रॉब्लम्स- अक्सर सेक्स की इच्छा होती है (Sex Problems- I Am Always Sexually Aroused)

अक्सर सेक्स की इच्छा होती है
एक समय था, जब पारिवारिक तनाव और अन्य घरेलू समस्याओं के कारण मुझे सेक्सुअल रिलेशन में कोई दिलचस्पी नहीं रहती थी. मेरे पति थोड़े रिज़र्व नेचर के होने के साथ-साथ काफ़ी समझदार भी हैं. उन्होंने इस बात को लेकर मुझसे कभी कोई शिकायत नहीं की, लेकिन कुछ महीनों से मेरे स्वभाव और सोच में थोड़ा बदलाव-सा आ गया है. पहले जहां हम 10-15 दिन में एक बार सेक्स करते थे. अब अक्सर सेक्स की इच्छा होती है. कहीं मुझे कोई शारीरिक प्रॉब्लम तो नहीं?

– जया चटर्जी, सूरत.

कई बार घर का माहौल और मानसिक रूप से रिलैक्स रहना भी सेक्सुअल लाइफ को एक्टिव कर देता है. हो सकता है पहले पारिवारिक उलझनों में घिरी रहने के कारण आप अपनी सेक्सुअल लाइफ को अनदेखा करती रही हों. वैसे भी सेक्सुअल इच्छाओं को लेकर कोई निश्‍चित मापदंड नहीं रहा है. यदि आपकी सेक्स की इच्छा बढ़ रही है, तो इसमें कुछ ग़लत नहीं है और न ही आपको कोई शारीरिक समस्या है. इसलिए इन सभी बातों को दिलोदिमाग़ से निकाल दें और अपनी सेक्सुअल लाइफ को एंजॉय करें.

यह भी पढ़े: 11 सेक्स किलर फूड, जो बिगाड़ सकते हैं आपकी सेक्स लाइफ

यह भी पढ़े: 30 इफेक्टिव टिप्स, जो सेक्स लाइफ को बोरिंग बनने से बचाएंगे

हमारे 14 और 16 साल के दो टीनएज बच्चे हैं. बच्चे अक्सर हमारे साथ सोने की ज़िद करते हैं और हमें उन्हें अपने साथ सुलाना पड़ता है. कई बार ऐसा हुआ कि पति की सेक्स की इच्छा हुई और बच्चों की वजह से हम नहीं कर पाए. क्या कोई उपाय है, जिससे सेक्सुअल डिज़ायर को दूर किया जा सके?

– शांति चौहान, मुंबई.

जब बच्चे बड़े होने लगते हैं, ख़ासकर टीनएज बच्चे, तो उन्हें बहुत-सी बातें समझ में आने लगती हैं. इसलिए ऐसा नहीं है कि वे पैरेंट्स की भावनाओं को भी न समझ पाएं. आप ख़ुद के साथ-साथ पति और दो बढ़ते किशोरों के साथ भी अन्याय कर रही हैं. यदि आप अपनी सेक्सुअल डिज़ायर को दबाती हैं, तो आप कहीं न कहीं शारीरिक और भावनात्मक रूप से ख़ुद को तकलीफ़ देती हैं. इसके अलावा आपकी सेक्स लाइफ भी डिस्टर्ब होती है. इसलिए बेहतर होगा कि आप बच्चों को अलग कमरे में सुलाएं. इच्छाओं को दबाने की बजाय अपने पति के साथ सेक्सुअल लाइफ एंजॉय करें.

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेंSex Problems Q&A

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
(dr.rajivanand@gmail.com)

Usha Gupta :
© Merisaheli