16 साल के बेटे को PUBG खेलने से ...

16 साल के बेटे को PUBG खेलने से रोका तो मां को ही गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया, बहन को धमकाकर 3 दिन घर पर रहा शव के साथ! (Shocking! 16 Year Old Lucknow Boy Kills Mother For Not Letting Him Play Mobile Game PUBG)

उत्तर प्रदेश के लखनऊ (UP, Lucknow) में एक दिल दहला देनेवाली घटना घटी. जिसने भी इस खबर को पढ़ा उसके रोंगटे खड़े हो गए. दसवीं का 16 वर्षीय छात्र (16 year old boy) पबजी (PUBG) खेलने का आदी था और जब उसकी 40 वर्षीय मां साधना ने उसे गेम खेलने से रोका तो किशोर ने लाइसेंसी पिस्तौल से मां की गोली मारकर हत्या कर दी (kills 40 year old mother Sadhna with pistol). साधना के पति नवीन सिंह आर्मी में सुबेदार मेजर (Naveen Singh Army Officer) के पद पर आसनसोल में तैनात हैं. साधना अपने बेटे और नौ साल की बेटी के साथ रहती थीं. साधना अपने बेटे की इस गेम खेलने की लत से परेशान थी और उसे अक्सर टोका करती थी. शनिवार शाम जब साधना ने अपने बेटे को ये गेम खेलने से मना किया तो बेटे ने मां को गोली मार दी. पूरी 6 गोली साधना पर दागी गई और उसकी मौक़े पर ही मौत हो गई.

गोली की आवाज़ से दूसरे कमरे में मौजूद उसकी छोटी बहन बाहर आई तो किशोर ने उसको भी डराया-धमकाया कि उसने अगर किसी से कुछ कहा तो उसको भी वो मार डालेगा. उसने अपने बहन को दूसरे कमरे में बंद कर दिया और अपनी मृत मां के शव को तीन दिन तक घर में रखा. जब बदबू आने लगी तो वो जिस कमरे में शव रखा था उसमें रूम फ़्रेशनर मारकर आ जाता. लेकिन जब बदबू बहुत ज़्यादा आने लेगी तब वो डर गया और अपने पिता की फ़ोन पर मनगढ़ंत कहानी सुनाई.

किशोर ने पिता को बताया कि कोई युवक आता था जिसने मां की हत्या कर दी और हम दोनों भाई-बहनों को भी कमरे में बंद करके मार डालने की धमकी दी. जब वो चला गया तब आपको फ़ोन किया. ये सब सुन नवीन के होश उड़ गए और उन्होंने अपने पड़ोसी को फ़ोन करके घटना बताई. पड़ोसी जब नवीन के घर गए तो दोनों बच्चों को निकाला. किशोर ने बताया कि किसी ने मां को मार दिया. पड़ोसी ने देखा कि शव पड़ा हुआ है जिसमें से बहुत तेज़ बदबू आ रही है. पड़ोसी ने पुलिस को सूचित किया.

पुलिस ने घर को सील कर सबूत जुटाए और जांच शुरू की, वहीं नवीन के बेटे और बेटी से अलग-अलग पूछताछ की तब मामले का खुलासा हुआ. किशोर ने बताया कि शनिवार को घर से 10 हज़ार रुपए भी ग़ायब हुए थे जिसका इल्ज़ाम उसी पर लगा था और उसकी पिटाई भी हुई थी. किशोर ने कहा कि हर ग़लत बात के लिए उसी को ज़िम्मेदार ठहराया जाता था. उसने ये भी माना कि उसे गेम खेलने की लत थी जिसके लिए कई बार उसको मां टोकती थी और उसकी पिटाई भी होती थी. हालांकि किशोर को अपनी मां की डांट-फटकार से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता था.

साधना के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया, आगे की तहक़ीक़ात जारी है!

×