kitchen tips

खाना बनाना हो या खाना बनाने की तैयारी करना हो, यह सब काम किचन में ही होते हैं, लेकिन जब किचन की साफ़-सफाई और स्वच्छता की बात आती है, तो महिलाएं उतना ध्यान नहीं देतीं, जितना कि उन्हें जरूरत होती है. किचन में काम करते हुए छोटी- छोटी कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है, जो परिवार की सेहत से जुडी हुई होती हैं. चलिए, हम आपको बताते हैं किचन हाइजीन के बारे में कुछ ऐसे रूल्स, जिनके बारे में सभी महिलाओं को पता होना चाहिए.
1. किचन हाइजीन के मामले में पहला रूल है- हाथ धोकर किचन में प्रवेश करना. बिना हाथ धोकर किचन में जाने से बैक्टीरिया फैलने का डर रहता है. डॉक्टर्स का मानना है 25-30% बीमारियां हाथ न धोकर खाना बनाने से होती हैं. बिना हाथ धोकर खाना बनाने से कीटाणु खाने के जरिये शरीर में चले जाते हैं और बीमारियों का कारण बनते हैं, इसलिए जब भी किचन में जाएं, तो साबुन से अच्छी तरह हाथ धोकर जाएं.
2. खाने को अच्छी तरह से पकाना भी किचन हाइजीन के तहत आता है. यदि खाना कच्चा रहता है, तो हानिकारक बैक्टीरिया के कारण ़फूड पॉइज़निंग हो सकती है, इसलिए आंच से उतारने से पहले जांच लें कि खाना अच्छी तरह से पकाया हुआ हो.

Kitchen Hygiene Rules


3. यहां पर एक बात ओर ध्यान देने वाली है कि पका हुआ खाना बार-बार गर्म न करें. ऐसा करने से भोजन के पौष्टिक तत्व नष्ट हो जाते हैं और उसके ख़राब होने की संभावना भी बढ़ जाती है.
4. सही तरीके से खाना बनाना फूड हाइजीन का पहला नियम है, लेकिन फूड हाइजीन से पहले ज़रूरी है खाने को सुरक्षित तरी़के से स्टोरेज करना. बचे या खुले खाद्य पदार्थों को ज़िप लॉक या क्लिगं बैग में रखें. दाल, अनाज जैसी चीज़ों को प्लास्टिक के कंटेनर में भरकर रखें.
5. किचन हाइजीन के बुनियादी नियमों में से एक है- किचन काउंटर को साफ़ करना. ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर बनाने के बाद किचन काउंटर क्लीन करना बहुत ज़रूरी है. ऐसा करने किचन साफ़ रहेगा और बैक्टीरिया को फ़ैलाने से भी रोक सकते है. इसके अलावा सप्ताह में एक बार काउंटर को गर्म पानी में वाशिंग पाउडर/लिक्विड सोप या बेकिंग सोडा मिलाकर साफ करें.
6. ज़्यादातर महिलाएं कटिंग के लिए चॉपिंग बोर्ड का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन क्या आप जानती हैं कि ठीक तरीके से चॉपिंग बोर्ड को साफ न करने पर उस पर चिपका हुआ भोजन बैक्टीरिया को जन्म देता है, इसलिए बैक्टीरिया को पनपने से रोकने के लिए ज़रूरी है कि इस्तेमाल के बाद चॉपिंग बोर्ड को स्क्रबर से साफ़ करें. सप्ताह में एक बार चॉपिंग बोर्ड को गर्म पानी से अच्छी तरह धोएं, ताकि उसमें चिपके और छिपे हुए बैक्टीरिया निकल जाएं.
7. किचन में सबसे ज्यादा इस्तेमाल चाकू का किया जाता है, जिससे बैक्टीरिया फैलने का अधिक डर रहता है. इसलिए जितनी बार चाकू का उपयोग करें, उतनी बार चाकू को धोएं. सारा काम ख़त्म होने के बाद चाकू को गरम पानी से साफ़ करें, ताकि उसमें चिपकी हुई गंदगी और बैक्टीरिया दूर हो सके.
8. नॉन वेज बनाते समय जिन बर्तनों (पैन कुकर, चाकू आदि) का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें अच्छी तरह धोकर और धूप में सुखाकर रखें. उन बर्तनों को बाकी बर्तनों से अलग रखें.
9. खाना पकाते समय कचरे को इधर-उधर न फेंकें और न ही किचन के किसी कोने में ढेर लगाकर रखें.
10. किचन की स्वच्छता के लिए ज़रूरी है कि डस्ट बिन का इस्तेमाल करें और उसे ढंककर रखें. नियमित रूप से कचरे को बाहर फेंकें.
11. नियमित रूप से डस्टबिन को साफ़ करें. यह भी किचन हाइजीन का महत्वपूर्ण पहलू है. डस्ट बिन में फेंका हुआ कचरा (फल और सब्ज़ियों के छिलके और दूसरा गीला कचरा) जल्दी सड़ जाता है, जिसके कारण वातावरण में बैक्टीरिया फैलने शुरू हो जाते हैं और किचन में बदबू आने लगती है. यदि आप अपने किचन को स्वच्छ रखना चाहती हैं, तो सबसे पहले डस्ट बिन को साफ़ रखे.
12. किचन में रखे डस्टबिन में से यदि बदबू आती है, तो उसके आसपास बेकिंग सोडा छिड़कें, जिससे कीटाणुओं को फैलने से रोका जा सके और बदबू भी पूरे घर में न फैले.
13. खाना बनाते समय किचन के आसपास दीवारों पर तेल के छीटें पड़ जाते हैं, इन छीटों को तुरंत साफ़ करें. इन छीटों से भी कीटाणु फैलने का डर रहता है. चिकनाई वाले इन दाग-धब्बों को साबुनवाले गरम पानी से साफ़करें. ऐसा करने से कीटाणुओं को फैलनेसे रखा जा सकता है और किचन भी साफ सुथरा नज़र आएगा.

Kitchen Hygiene


14. फ्रिज किचन का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसकी नियमित रूप से साफ़- सफाई करनी आवश्यक है.अधिक दिनों तक साफ़ न करने पर, बहुत दिनों का बचा हुआ खाना या अन्य चीज़ें रखने के कारण फ्रिज में भी बैक्टीरिया पनपने लगते हैं, इसलिए फ्रिज को सप्ताह में एक बार बेकिंग सोडा मिले हुए पानी से साफ़ करें.
15. फ्रिज में पका हुआ खाना 7 दिनों से ज्यादा न रखें. फिर भी आप इस बचे हुए इस हुए खाने को खाना चाहते हैं, तोपहले चेक करें यह ख़राब तो नहीं हुआ है, उसे 170 डिग्री फेरनहाइट के तापमान पर ही गर्म करें. यदि खाने में से गंध आ रही है या उसकारंग बदला हुआ लग रहा है, तो उसे तुरन्त फेंक दें.
16. किचन का सिंक वह जगह है, जहां पर बैक्टीरिया फैलने का सबसे ज़्यादा खतरा होता है. क्योंकि सिंक का उपयोग दिनभर झूठे बर्तनों को धोने के लिए किया जाता है. सिंक को क्लीनर और स्क्रबर से रोज़ाना साफ़ करें. सप्ताह में एक बार गर्म पानी में बेकिंग सोडा मिलकर साफ़ करें.
17. बर्तनों को धोने के लिए अच्छी क्वालिटीवाले स्क्रबर और लिक्विड उपयोग में लाएं. किचन सबसे ज्यादा कीटाणु फैलने का डर स्क्रबर से होता है, इसलिए काम हो जाने के बाद स्क्रबर को अच्छी तरह धोकर सूखने के लिए रखें.
18. अधिकतर महिलाएं किचन की साफ़-सफाई का बहुत ध्यान रखती हैं, लेकिन उनका ध्यान किचन में उपयोग में लाए जानेवाले कपड़ों की तरफ़ कम ही जाता है, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किचन में उसे किये जाने वाले कपडे, स्पंज और स्क्रबर ऐसे खतरनाक चीज़ें हैं, जिनसे सबसे ज़्यादा कीटाणु फैलते हैं, इसलिए इन्हें 2-3 दिन में गर्म पानी से धोएं. संभव हो, तो 1-2 महीने में बदल दें.
– देवांश शर्मा

प्यूरी बनना, बैटर तैयार करना, ग्रीस करना… ये सब रेसिपी के कुछ ऐसे शब्द हैं, जिनका प्रयोग विधि-सामग्री में कई बार किया जाता है, लेकिन कई महिलाएं इनका अर्थ नहीं समझ पातीं. आपकी सुविधा के लिए हम बता रहे हैं कुकिंग के दौरान अक्सर प्रयोग किए जाने वाले शब्द और उनका अर्थ. 

Language Of Cooking

चॉपिंग करना
सब्ज़ी, सलाद को काटना ही चॉपिंग कहलाता है.

स्लाइस करना
किसी सब्ज़ी या फ्रूट्स को पतला/लंबा एक समान काटना स्लाइस करना कहलाता है. उदाहरण के लिए- पोटैटो चिप्स बनाने के लिए आलू के गोलाकर स्लाइस करना.

बॉइल करना
उबालने की प्रक्रिया को बॉइल करना कहते हैं, जैसे- पानी, चाय, दूध उबालना.

बैटर बनाना
चीला, इडली, डोसा आदि बनाने के लिए तैयार किए जाने वाला घोल को बैटर कहते हैं, जैसे- बेसन के बैटर में लपेटकर पकौड़े तलना.

गोल्डन ब्राउन
प्याज़, पकौड़े आदि को सुनहरा भूरा होने तक भूनने या तलने को गोल्डन ब्राउन होने तक भूनना/तलना कहते हैं.

बेक करना
अवन में किसी चीज़ को दोनों तरफ़ सेंकने का मतलब होता है उसे बेक करना, जैसे- केक या पिज़्ज़ा बेस को अवन में बेक करना.

ब्लांच करना
उबलते हुए पानी में सब्ज़ी डालकर उसे अधपका करना ब्लांच करना कहलाता है, जैसे- पालक पनीर बनाने के लिए पालक को पानी में ब्लांच किया जाता है.

फोल्ड करना
भरावन रखने के लिए रोटी, ब्रेड आदि को मोड़ने की प्रक्रिया को फोल्ड करना कहते हैं, जैसे- मैदे की रोटी को दो भागों में काटकर फोल्ड करके समोसे तैयार करना.

ग्राइंड करना
किसी भी चीज़ को पीसने की प्रक्रिया को ग्राइंड करना कहते हैं, जैसे- ग्रेवी तैयार करने के लिए प्याज़ या गीला मसाला पीसना या चटनी पीसना.

बीट करना
दही, अंडा, बटर आदि को फेंटने का मतलब उसे बीट करना होता है.

चर्न करना
लस्सी बनाने के लिए दही, लोनी निकालने के लिए मलाई को मथना उसे चर्न करना कहलाता है.

मेरिनेट करना
पनीर, आलू आदि को मसाले, दही या किसी ख़ास घोल में कुछ देर के लिए लपेटना उसे मेरिनेट करना कहलाता है, जैसे- पनीर पकौड़ा बनाने से पहले पनीर को कुछ देर मसाले के घोल में मेरिनेट किया जाता है.

पील करना
छीलने को पील करना कहते हैं, जैसे- आलू या सब्ज़ी को काटने से पहले उसे पील करना.

स्टीम करना
किसी भी चीज़ को भाप में पकाने का मतलब है स्टीम करना, जैसे- ढोकला, इडली आदि को स्टीम करना.

प्यूरी बनाना
किसी भी चीज़ का गाढ़ा घोल तैयार करना प्यूरी बनाना कहलाता है, जैसे- टमाटर या कश्मीरी मिर्च को पीसकर उसकी प्यूरी बनाना.

यह भी पढ़ें: सीखें दाल बनाने के 10 नए तरी़के (10 Best And Easy Dal Recipes)

Cooking Tips

स्टफ करना
भरावन की प्रक्रिया को ही स्टफ करना कहते हैं, जैसे- भरवां करेला बनाते समय उसमें मसाला स्टफ करना या स्टफ्ड चीज़ टोमैटो बनाते समय टमाटर में चीज़ स्टफ करना.

मैश करना
मसलने को मैश करना कहते हैं, जैसे- आलू परांठा बनाते समय आलू को मैश करना.

फ्राई करना
किसी चीज़ को तलना ही फ्राई करना कहलाता है, जैसे- तेल में पकौड़े, पूरियां फ्राई करना.

ड्रीप फ्राई करना
ज़्यादा देर तक तलने की प्रक्रिया को ड्रीप फ्राई करना कहते हैं.

क्रश करना
चूरा करने को क्रश करना कहते हैं, जैसे- ब्रेड को क्रश करना.

ग्रेट करना
कद्दूकस करने को ग्रेट करना कहते हैं, जैसे- कटलेट बनाने के लिए किसी सब्ज़ी को ग्रेट करना या नारियल ग्रेट करना.

मिक्स करना
दो या दो से अधिक सामग्री को आपस में मिलाने को मिक्स करना कहते हैं, जैसे- पकौड़े बनाने के लिए बेसन में प्याज़, हरी मिर्च, नमक आदि मिलाना.

ब्लेंड करना
दो या दो से अधिक पतले घोल को आपस में मिलाना ब्लेंड करना कहलाता है, जैसे- फेंटा हुआ दही और पीसे हुए मसाले ब्लेंड करना.

फिल्टर करना
छानने को फिल्टर करना कहते हैं, जैसे- किसी सामग्री में से पानी निथारने के लिए उसे फिल्टर करना.

बारबेक्यू
किसी चीज़ को सींक में गोदकर सीधे आंच पर सेंकने को बारबेक्यू करना कहते हैं, जैसे- सींक में पनीर, आलू या मटन के टुकड़े गोदकर सेंकना.

नीड करना
गूंधने को नीड करना कहते हैं, जैसे- रोटी या परांठे के लिए आटा गूंधना.

रोस्ट करना
भूनने को रोस्ट करना कहते हैं, जैसे- मूंगफली, सूखे मसाले भूनना.

कैरामल
शक्कर को सुनहरा लाल होने तक भूनने या पकाने को कैरामल कहते हैं. कैरामल शब्द का इस्तेमाल ख़ासकर मिठाई की विधि में किया जाता है.

पिंच
पिंच का अर्थ है चुटकीभर, जैसे- चुटकीभर चाट मसाला या केसर डालना.

ब्रश करना
बेक करने से पहले ब्रेड, टोस्ट, पिज़्ज़ा आदि पर हल्का-सा तेल, दूध, आटा या बटर लगाने को ब्रश करना कहा जाता है.

स्प्रेड करना
फैलाने को स्प्रेड करना कहते हैं, जैसे- पिज़्ज़ा बेस पर चीज़ फैलाना, ब्रेड पर बटर लगाना आदि.

स्कूप करना
आलू, टमाटर जैसी सब्ज़ियों के मध्य भाग में चाकू घूमाकर उसे खोलला करने को स्कूप करना कहते हैं, जैसे- भरवां बैंगन, भरवां आलू बनाते समय उन्हें स्कूप किया जाता है.

यह भी पढ़ें: 10 कुकिंग टिप्स हर महिला को मालूम होने चाहिए (10 Awesome Cooking Tips & tricks Every Woman Should Know)

स्किम करना
मलाई, झाग, फेन आदि निकालने को स्किम करना कहते हैं, जैसे- उबले हुए दूध से मलाई निकालना.

ग्रीस करना
तेल या बटर से किसी खास सांचे या बर्तन में चिकनाई लगाने को ग्रीस करना कहा जाता है, जैसे- मोदक बनाने के लिए उसके सांचे को ग्रीस किया जाता है.

क्रिस्पी बनाना
किसी चीज़ को तलकर कुरकुरा बनाने को क्रीस्पी बनाना कहते हैं, जैसे- पकौड़े को तेज़ आंच पर क्रिस्पी होने तक तलना.

गार्निश करना
किसी भी डिश को सजाना उसे गार्निश करना कहलाता है. उदाहरण के लिए- सब्ज़ी परोसने से पहले उसे कटे हुए हरे धनिया या पावभाजी को प्याज़ व हरे धनिया से गार्निश करना.

सर्व करना
परोसने को सर्व करना कहते हैं.

यह भी पढ़ें: आलू की 5 बेस्ट और ईज़ी रेसिपीज़ (5 Best And Easy Potato Recipes)

आलू को यदि ठीक से नहीं रखा गया, तो जल्दी ही उनमें अंकुर आने लगते हैं. आलू हमारे किचन की सबसे जरूरी चीजों में एक है. आलू को हम कई सब्जियों में मिलाते है. इसके अलावा आलू की सब्ज़ी, चाट, पकौड़े आदि भी बनते हैं इसलिए भारतीय किचन में आलू के बिना काम चल ही नहीं सकता. आलू को सही तरीके से स्टोर करके उन्हें अंकुरित होने से बचाया जा सकता है. आलू को अंकुरित होने से कैसे रोकें, आइए जानते हैं.

Potatoes

आलू को अंकुरित होने से रोकने के आसान टिप्स

  • आलू को सुरक्षित रखना बेहद जरूरी है इसलिए आलू को अंधेरे और ठंडी जगह पर रखें.
  • आलू को नमी से बचाएं. यदि आलू गीले हैं, तो संभालने से पहले उन्हें अच्छी तरह सुखा लें.
  • आलू को सुरक्षित रखने के लिए उन्हें सूती कपड़े के बैग या पेपर बैग में रखें.
  • गरम जगह पर आलू को स्टोर करने से ये अंकुरित होने लगते हैं इसलिए इन्हें हवादार जगह पर रखें.
  • आलू को बाकी सब्जियों और फलों की टोकरी से दूर रखें.
  • आलू और प्याज दोनों को एक साथ एक टोकरी में न रखें.
  • आलू फ्रिज में नहीं रखना चाहिए, क्योंकि आलू में स्टार्च होता है, जो फ्रिज में रखने से शुगर में बदल जाता है. स्टार्च से बनी हुई शुगर के सेवन से कई तरह के कैंसर हो सकते हैं इसलिए आलू को भूलकर भी फ्रिज में न रखें.
  • आलू को सूरज की रोशनी में या खुले में टोकरी में नहीं रखना चाहिए. इससे आलू बहुत जल्दी अंकुरित हो जाते हैं.
  • आलू को स्टोर करने से पहले अच्छी तरह देख लें. यदि उनमें से कोई आलू ख़राब है, तो उसे अलग कर दीजिए, क्योंकि एक सड़ा आलू बाकी आलुओं को भी खराब कर सकता है.
  • आलू को स्टोर करने से पहले कभी भी धोना नहीं चाहि, इससे आलू में नमी रह सकती है और वो जल्दी ख़राब हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें: इनडाइजेशन या अपच के 5 आयुर्वेदिक उपचार (5 Home Ayurvedic Remedies For Indigestion)

अंकुरित आलू खाने से हो सकता है ये नुकसान
आलू एक ऐसी सब्जी है, जो सभी घरों में प्रयोग होती है, लेकिन अंकुरित आलू खाने से सेहत को नुकसान हो सकता है इसलिए आलू को सुरक्षित रखना बहुत जरूरी है. आलू यदि हरा या अंकुरित हो गया है, तो ये सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है इसलिए आलू को अंकुरित होने से बचाना चाहिए. जब आलू अंकुरित होता है, तो उसमें एक रसायनिक क्रिया होने लगती है, जिसके चलते अंकुरित आलू का कार्बोहाइड्रेट स्टार्च शुगर में बदलने लगता है. इसके साथ ही सोलानिन (Solanin) और अल्फा कैकोनिन ( Alpha Caconin) नामक दो जहरीले तत्व भी बनने लगते हैं. इसके कारण आलू बाहर से नरम होकर मुरझा जाता है. ये दोनों तत्व हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं, इनके कारण हमारा पाचनतंत्र खराब हो सकता है. अंकुरित आलू या हरे आलू खाने से फूड प्वाइजनिंग भी हो सकता है इसलिए इनका सेवन नहीं करना चाहिए.

* आलू के परांठे में एक्स्ट्रा स्वाद ऐड करने के लिए मिश्रण में साबूत धनिया कूटकर मिलाएं. 

* डोसे का आटा पीसते समय इसके मिश्रण में चावल व दाल के साथ आधा कटोरी चिवड़ा भी डालकर पीस लें. इससे डोसे कुरकुरे बनेंगे.

Smart Cooking Tricks

* ड्रायफ्रूट चॉकलेट का स्वाद लेना है, तो पिघले हुए चॉकलेट में सूखे मेवे मिलाकर उसे चिकनाई लगी थाली में फैला दें. ठंडा होकर चॉकलेट ड्रायफ्रूट्स में मिल जाएगी.

* हरी मिर्च व पुदीने को बारीक़ काटकर-सुखाकर पाउडर बना लें. इसे फ्लेवर हर्ब की तरह इस्तेमाल करें.

* एक टीस्पून देसी घी में राई का तड़का लगाकर इडली के घोल में मिलाने से इडली अधिक स्वादिष्ट बनती है.

* यदि मोटे आटे की पूरियां बनाएंगे, तो तेल कम लगेगा और पचने में भी आसान होगी. इसके अलावा पूरी के आटे में अरबी उबालकर मसलकर मिला लेने से पूरी कुरकुरी व स्वादिष्ट बनती है.

* फ्रूट डेज़र्ट सर्व करते समय ऊपर से स़फेद तिल व अलसी डालने से टेस्ट बढ़ जाएगा.

* सब्ज़ी बनाते समय मसाले के पेस्ट में लहसुन की मात्रा अधिक व अदरक की कम रखें, इससे ग्रेवी बढ़िया बनती है.

* इलायची, कालीमिर्च व लौंग को हल्का-सा भूनकर पाउडर बना लें. वेज-नॉनवेज स्टार्टर को सर्व करने से पहले उस पर यह पाउडर छिड़कें. स्टार्टर का स्वाद दुगुना हो जाएगा.

* फूलगोभी की सब्ज़ी खिली-खिली बने, इसके लिए सब्ज़ी बनाते समय उसमें दूध मिला दें.

* मठरी को खस्ता बनाने के लिए मैदे को दही से गूंधें, लेकिन दही खट्टा न हो, इस बात का ख़्याल रखें.

* यदि पोहे में तीन टेबलस्पून दूध मिला दिया जाए, तो जब आप बचे हुए पोहे को दोबारा गर्म करके खाएंगी, तब भी वो ताज़ा लगेगा.

* नाश्ते के लिए कुछ अलग ट्राई करना है, तो ढोकले के छोटे-छोटे टुकड़े करके बेसन के घोल में डुबोकर पकौड़े की तरह तल लें.

* यदि अंडे की भुर्जी में टमाटर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो पल्प व बीज निकालकर टमाटर को बारीक़ काटकर डालें.

* यदि एप्पल पाई बनाते समय सेब को काटकर सिरके के पानी से धो लेंगे, तो पाई ख़ूबसूरत दिखेगी और सेब का रंग भी नहीं बदलेगा.

* इंस्टेंट अचार का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें गन्ने या सेब का सिरका मिलाएं.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेसीखें कुकिंग के नए तरीके (Learn New Tips And Tricks Of Smart And Easy Cooking)

Cooking Tips

बेशक महिलाएं अपना ज़्यादातर समय किचन में बिताती है, लेकिन ज़रूरी नहीं कि उन्हें ऐसे कुकिंग टिप्स के बारे में भी पता हों, जिससे वे खाने का स्वाद भी बढ़ा सके. ऐसी महिलाओं के लिए हम यहां पर कुछ टिप्स बता रहे हैं, जो इस प्रकार से हैं-

Cooking Tips

1. फूलगोभी की सब्ज़ी का रंग न बदले, इसके लिए सब्ज़ी में 1 टेबलस्पून दूध मिलाएं. रंग न बदलने के साथ-साथ सब्ज़ी का स्वाद भी बढ़ता है.

2. ग्रेवी के लिए यदि प्याज़ का पेस्ट नहीं इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो इसकी बजाय पत्तागोभी का पेस्ट बनाकर सब्ज़ी में डाल सकते हैं.

3. पैन में थोड़ा तेल डालकर बारीक़ कटी हुई पत्तागोभी डालकर नरम होने तक भून लें. आंच से निकालकर ठंडा होने पर पीस लें. इस पेस्ट का यूज़ ग्रेवी बनाने के लिए करें.

Easy Cooking Tips

4. सलाद बनाते समय सब्ज़ियों को तिरछा रखकर काटें.

5. सलाद के लिए टमाटर काटना चाहते है, तो टमाटर को धोकर 15 मिनट तक फ्रिज में रखें. बाहर निकालकर मनचाहें शेप में काटे, आसानी से कट जाएगा.

और भी पढ़ें: रोज़मर्रा में काम आनेवाले 13 उपयोगी किचन टिप्स (13 Useful Kitchen Tips And Tricks)

6. सलाद के लिए इस्तेमाल की जानेवाली सब्ज़ियों को ज़्यादा देर तक काटकर न रखें.

7. यदि टमाटर की ग्रेवी नहीं बनाना चाहते हैं, तो टमाटर की जगह सेब की ग्रेवी बनाएं. सेब को छील कर काट लें. उसमें लहसुन, हरी इलायची, साबूत कालीमिर्च और भुनी हुई सौंफ डालकर पीस लें. सब्ज़ी बनाने के लिए इस ग्रेवी का इस्तेमाल करें.

Easy Cooking Tips

8. देसी घी बनाते समय थोड़ी सी आंच तेज़ होने पर घी तुरंत काला पड़ जाता है. अत: घी के काले होने पर उसमें एक आलू की स्लाइसेस काटकर डालें. घी का कालापन दूर हो जाएगा.

9. यदि प्याज़ ज़्यादा कट गया है, तो कटे हुए प्याज़ में नमक व सिरका मिलाकर खाएं. कटा हुआ प्याज़ बर्बाद नहीं और प्याज़ खाने का मज़ा भी आएगा.

और भी पढ़ें:  किचन में काम को आसान बनाएंगे ये 12 टिप्स (12 Cooking Tips To Make Your Life Easier In The Kitchen)

* आलू की टिक्की बनाते समय एक कच्चे केले को उबालकर उसके मिश्रण में मिला दिया जाए, तो टिक्की का स्वाद दुगुना हो जाता है.

* यदि ऐसा लगे कि दूध फट सकता है, तो दूध में आधा चम्मच खाने का सोड़ा व थोड़ा-सा पानी मिलाकर उबाल लें. दूध फटेगा नहीं.

* यदि घर में घी बना रही हैं और घी जल गया हो, तो उसके कालेपन को दूर करने के लिए ताज़े आलू काटकर घी में मिक्स करके गर्म करने पर घी साफ़ हो जाता है.

Best Kitchen Tricks

* यदि आलू के चिप्स को स्टोर करते समय उसमें सूखी लाल मिर्च व नीम की पत्तियां रख दी जाएं, तो इसमें गंध नहीं आएगी.

* नींबू के अचार में नमक के दाने पड़ जाते हैं. अगर अचार में थोड़ा-सा शक्कर पाउडर मिला दिया जाए, तो अचार दोबारा ताज़ा हो जाएगा.

* कभी भी मशरूम को पानी से न धोएं, क्योंकि ये पानी सोख लेते हैं. इसकी बजाय गीले कपड़े से मशरूम को साफ़ कर लें.

* जिस प्लास्टिक के डिब्बे में खाने-पीने की चीज़ें हों, उसके बाहर थोड़ा-सा सरसों का तेल लगा देने से चीटियां उस डिब्बे से दूर रहेंगी.

* दाल बनाते समय कुकर में दो-तीन टुकड़े सुपारी के डाल देने से दाल जल्दी पक जाती है.

* यदि ड्रायफ्रूट्स या मेवे आदि को आसानी से काटना चाहते हैं, तो उन्हें एक घंटे के लिए फ्रिज में रख दें.

* टमाटर या बादाम के छिलके आसानी से निकालने हों, तो उसे पांच-दस मिनट के लिए उबलते पानी में डाल दें.

* यदि शहद को मापना हो, तो उसे मापने से पहले मेज़रमेंट कप में हल्का-सा तेल लगा दें. इससे शहद मेज़रमेंट कप में चिपकेगा नहीं.

* गोभी बनाते समय उसमें एक टीस्पून दूध मिला देने से सब्ज़ी स्वादिष्ट बनती है और वास्तविक रंग भी नहीं जाता है.

* दही को ग्रेवी या बिरयानी में दही डालने से पहले उसे अच्छी तरह फेंटने क साथ-साथ थोड़ी देर के लिए फ्रिज में रखकर हल्का-सा ठंडा होने पर इस्तेमाल किया जाए, तो ग्रेवी का स्वाद बढ़ जाता है.

– अभिमन्यु गुप्ता

यह भी पढ़े10 आसान और उपयोगी किचन टिप्स आप भी ज़रूर ट्राई करें (10 Best Kitchen Tips You Must Try)

10 किचन टिप्स (Kitchen Tips) हर महिला को मालूम होने चाहिए, क्योंकि ये 10 किचन टिप्स हर रोज़ आपके काम आएंगे. अपने किचन को हेल्दी और सेफ बनाने के लिए आपको ये किचन टिप्स मालूम होने चाहिए. 10 किचन टिप्स आपको बनाएंगे स्मार्ट किचन क्वीन इसलिए आप भी ये किचन टिप्स ज़रूर ट्राई करें.

Kitchen Secrets

1) किचन प्लेटफॉर्म पर अगर कोई चिपचिपी चीज़ गिर जाए, तो उसके ऊपर ब्लीच डालें और थोड़ी देर बाद ब्रश से साफ़ करें. इसी तरह यदि किचन के फर्श पर तेल, घी या दूध गिर जाए तो उस पर सूखा आटा छिड़ककर अख़बार से साफ़ करें. चिकनाई और धब्बे एकदम साफ़ हो जाएंगे.
2) मिक्सर की धार तेज़ करने के लिए महीने में एक बार उसमें नमक डालकर चलाएं.
3) किचन से फिश की गंध दूर करने के लिए आलू या सेब के एक-दो टुकड़े तल लें. गंध दूर हो जाएगी.
4) शीशे के जार से आ रही बदबू दूर करने के लिए माचिस की तीली जलाकर जार के अंदर डालें और जार का ढक्कन बंद करके कुछ मिनट के लिए छोड़ दें. बाद में साबुन व गरम पानी के घोल से धोएं.
5) प्याज़ और लहसुन काटने के बाद चाकू से बदबू दूर करने के लिए उस पर नींबू रगड़ें.

यह भी पढ़ें: सैंडविच को हेल्दी बनाने के 10 टिप्स (10 Ways To Make Your Sandwich Healthier)

6) गुड़, शक्कर व अन्य मीठे खाद्य पदार्थों को चींटियां लगने से बचाने के लिए उस स्थान पर कैस्टर ऑयल लगा दें.
7) फ्लास्क से आनेवाली बदबू दूर करने के लिए उसमें गरम पानी और 3 टीस्पून विनेगर डालकर थोड़ी देर छोड़ दें. फिर ठंडे पानी से धो दें.
8) डस्टबिन से आनेवाली बदबू से बचने के लिए उसमें नींबू के छिलके डाल दें.
9) मिर्च के डिब्बे में थोड़ा हींग डालकर रखने से मिर्च लंबे समय तक ख़राब नहीं होती.
10) चीनी के डिब्बे में 6-7 लौंग डालने से उसमें चीटियां नहीं लगतीं.

10 हेल्दी टिफिन आइडियाज़ जानने के लिए देखें वीडियो:

 

खाना बनाना एक कला है और टेस्टी खाना बनाने के लिए हमेशा कुछ नया ट्राई करते रहना चाहिए. यहां हम आपको 10 ऐसे यूज़फुल किचन टिप्स बता रहे हैं, जो हर महिला को मालूम होने चाहिए. ये 10 ईज़ी किचन टिप्स आपकी कुकिंग को आसान बना देंगे.

Awesome Cooking Tips, Cooking tricks

 

1) टमाटर का सूप बनाने के लिए उसे उबालते समय ही एक हरी मिर्च, एक लहसुन की कली और एक टुकड़ा अदरक डाल दें, सूप स्वादिष्ट बनेगा.
2) ग्रेवी के लिए अदरक-लहसुन का पेस्ट तैयार करते समय हमेशा लहसुन की मात्रा 60% और अदरक 40% होना चाहिए, क्योंकि अदरक का स्वाद बहुत स्ट्रॉन्ग होता है.
3) अगर आप रात में चने, छोले या राजमा भिगोना भूल गई हैं, तो कोई बात नहीं. सुबह उन्हें एक से डेढ़ घंटे तक गरम पानी में भिगोकर रखें और उबालते समय उसमें 2 खड़ी सुपारी डाल दें.
4) खसखस को 10-15 मिनट पानी में भिगोने के बाद ही मिक्सर में पीसें. इससे वो अच्छी तरह पिस जाएगा.
5) सब्ज़ियां, सलाद आदि बहुत छोटे आकार में काटने से उनकी पौष्टिकता कम हो जाती है.
6) अचार और सब्ज़ियों में घर में तैयार लालमिर्च पाउडर डालने से स्वाद और रंग अच्छा आता है.
7) हरी सब्ज़ियों को ढंककर पकाएं ताकि उनमें मौजूद विटामिन भाप के साथ उड़े नहीं.
8) दाल में अगर पानी ज़्यादा हो जाए तो उसे फेंके नहीं, बल्कि सब्ज़ी, सूप आदि में इसका इस्तेमाल कर लें.
9) अगर मसाले में नारियल पिसा हो तो उसे ज़्यादा देर तक न भूनें.
10) करी को शाम तक फ्रेश रखने के लिए उसमें आधा नींबू निचोड़ दें.

यह भी पढ़ें: आलू की 5 बेस्ट और ईज़ी रेसिपीज़

 

ये टिप्स भी हैं काम के
* आंच से उतारने के बाद भी कड़ाही/पैन गरम होने की वजह से खाना पकता रहता है, इसलिए खाने को (खासकर चावल की डिश को) ज़्यादा पकने से बचाने के लिए उसे पूरी तरह पकने से कुछ देर पहले ही आंच से उतार लें.
* चिकन, मटन और फिश को फ्रिज में रखने से पहले अच्छी तरह धो लें. साथ ही इन्हें अलग-अलग पैकेट्स में रखें.
* अगर आप फिश या सब्ज़ी के लिए राई का पेस्ट बना रही हैं, तो इसकी कड़वाहट दूर करने के लिए इसमें थोड़ा-सा भिगोया हुआ खसखस, मिर्च और नमक मिलाएं.
* टमाटर को आसानी से छीलने के लिए उसे बीच से काट लें और कटे हुए भाग को नीचे की ओर रखते हुए माइक्रोवेव में 2-3 मिनट के लिए रखें.
* नॉन स्टिक पैन को गरम करने से पहले उसे नॉन स्टिक वेजीटेबल कुकिंग स्प्रे से कोट कर लें. साथ ही उसे 3 मिनट से ज़्यादा देर तक गरम न करें.
* पाई बनाने या किसी चीज़ को माइक्रोवेव में गरम करने के लिए कांच के बर्तन का इस्तेमाल करें, जबकि केक बनाने के लिए नॉन-स्टिक या सिलिकॉन पैन का प्रयोग करें.
* कोई भी चीज़ ग्रिल करने से पहले ग्रिल पर नॉन-स्टिक कुकिंग स्प्रे छिड़के ताकि कोई भी चीज़ ग्रिल करते समय चिपके नहीं.

यह भी पढ़ें: आम की 5 बेस्ट और ईज़ी रेसिपीज़

 

कुकिंग को आसान बनाने के लिए हमारे बताए 10 उपयोगी टिप्स ट्राई करें और अपने रोज़ के खाने को दें नया स्वाद.

Best Kitchen Tips

 

1) पिसे हुए मसाले को हमेशा धीमी आंच पर पकाएं, इससे रंग और टेस्ट अच्छा आता है.
2) ग्रेवी को स्वादिष्ट बनाने के लिए उसमें थोड़ी-सी शक्कर मिलाएं.
3) जब टमाटर का सीज़न न हो तो ग्रेवी में टोमैटो केचअप या सॉस का इस्तेमाल किया जा सकता है.
4) खीर बनाने के लिए हमेशा भारी बर्तन का इस्तेमाल करें, ताकि दूध जले नहीं.
5) अगर मसाले में दही डालना हो, तो पहले उसे अच्छी तरह फेंट लें और धीरे-धीरे मसाले में डालें.
6) सब्ज़ियां काटने के लिए हमेशा लकड़ी के चॉपिंग बोर्ड का इस्तेमाल करें. मार्बल स्लैब पर सब्ज़ियां काटने से चाकू की धार कम हो जाती है.
7) सब्ज़ियों का जितना हो सके उतना पतला छिलका निकालने की कोशिश करें.
8) घर में तैयार अदरक, लहसुन और हरी मिर्च के पेस्ट को ज़्यादा समय तक रखने के लिए उसमें 1 टीस्पून गरम तेल और नमक मिलाएं.
9) खाना बार-बार गरम न करें, इससे उसमें मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं.
10) ग्रेवी के लिए हमेशा पके हुए लाल टमाटर ही इस्तेमाल करें, इससे रंग अच्छा आता है.

यह भी पढ़ें: बच्चों को खिलाएं 10 हेल्दी-टेस्टी रेसिपीज़

ये टिप्स भी हैं काम के
* फ्रिज को दुर्गंध रहित रखने के लिए उसमें नींबू का टुकड़ा रखें.
* कप में से कॉफ़ी के दाग़ हटाने के लिए उसमें कोई भी सोडा 3 घंटे के लिए भरकर रखें.
* हरी मिर्च काटने के बाद हाथों में होने वाली जलन से बचने के लिए उंगलियों को शक्कर मिलाए हुए ठंडे दूध के बाउल में रखें.
* चीज़ को कद्दूकस करने के बाद मशीन (ग्रेटर) को साफ़ करने के लिए उससे आलू कद्दूकस करें, इससे छेद में जमा चीज़ साफ़ हो जाएगा.
* फर्श पर अंडा गिर जाए, तो उस पर नमक छिड़ककर कुछ देर के लिए छोड़ दें. फिर उसे पेपर या टॉवेल से साफ़ करें, अंडा आसानी से साफ़ हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: जब घर आएं मेहमान तो ऐसे करें रसोई की तैयारी 

लाइफ को ईज़ी बनाना है तो किचन की कुछ ज़िम्मेदारियों का भी आसान तरीका अपनाना होगा. किचन क्लीनिग, मैनेजमेंट से लेकर कुकिंग के ईज़ी व स्मार्ट ऑप्शन सोचने होंगे. किसी गाइडेंस की ज़रूरत है तो मेरी सहेली तो है ही आपके साथ, जो आपके लिए लाई है स्मार्ट किचन सोल्यूशन्स

 

 

अगर खाना बच गया हो

अगर रोटी बच जाए

  1. रोटियों को क्रिस्पी होने तक तल लें. इस पर तीखी-मीठी चटनी, चाट मसाला, दही डालकर रोटी चाट बनाकर सर्व करें.
  2. रोटियों को तल लें. नमक, लालमिर्च पाउडर, अमचूर छिड़ककर मसाला रोटी बना लें.
  3. अगर आलू की सब्ज़ी और रोटी दोनों बच गई हो तो रोटियों को बटर लगाकर अच्छी तरह सेंक लें. इस पर आलू वाली सब्ज़ी, बारीक़ कटा प्याज़ और पत्तागोभी फैलाकर फ्रैंकी की तरह सर्व कर सकती हैं.
  4. इसी तरह रोटियों पर पिज़्ज़ा सॉस, शिमला मिर्च, प्याज़ के लच्छे और चीज़ बुरककर बेक कर लें. टेस्टी रोटी पिज़्ज़ा तैयार हो जाएगा.

अगर पका हुआ चावल बच जाए

  1. आप चाइनीज़ फ्राइड राइस बना सकती हैं.
  2. चावल में अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट, नमक, हल्दी व लाल मिर्च पाउडर, गेहूं का आटा मिलाकर आटा गूंध लें. गरम-गरम राइस परांठा बनाकर परोसें.
  3. चावल में अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट, भुनी व पिसी हुई मूंगफली, उबला हुआ आलू और कॉर्नफ्लोर मिलाकर टिकिया का आकार देकर तल लें. स्वादिष्ट राइस क्रिस्पीज़ तैयार है.

अगर सब्ज़ी बच जाए

  1. मिक्स सब्ज़ी बच गई हो तो उसमें प्याज़, टमाटर, पावभाजी मसाला और बटर मिलाकर पावभाजी बना सकती हैं.
  2. अगर हरी मटर की सब्ज़ी बच गई हो तो उसका पानी अच्छी तरह सुखा लें. इसमें सारे मसाले मिलाकर स्टफिंग तैयार करें. गेहूं के आटे में इसे स्टफ करके मटर पूरियां तल लें.
  3. इसी तरह आलू, पत्तागोभी या मेथी की सब्ज़ियों से टेस्टी परांठे बनाए जा सकते हैं.
  4. आलू की सब्ज़ी से टोस्ट सैंडविच बनाकर क्विक स्नैक्स तैयार किया जा सकता है.

ये भी पढें: जानें गैस बनने की असली वजहें और उससे बचने के असरदार उपाय

ईज़ी किचन टिप्स

  1. पूरियां ज़्यादा क्रिस्पी बनानी हों तो आटे में एक-एक टीस्पून रवा और चावल का आटा मिलाएं.
  2. प्याज़ को गैस स्टोव के पास काटें या काटने से पहले उसे थोड़ी देर फ्रिज में रखें. इससे प्याज़ आंखों में लगेगा नहीं.
  3. अगर टमाटर बहुत ज़्यादा पक गए हों तो एकदम ठंडे पानी में थोड़ा-सा नमक मिलाकर इसमें टमाटर को डुबोकर रातभर रख दें. अगले दिन टमाटर फिर से फ्रेश लगने लगेंगे.
  4. हमेशा बड़े आकार के और पतली स्किन वाले नींबू ख़रीदें. ये ज़्यादा जूसी होते हैं.
  5. दूध उबलकर गिरे नहीं, इसके लिए बर्तन के किनारे पर थोड़ा-सा बटर रब कर दें. इससे जब दूध उबलकर ऊपर आएगा तो बाहर गिरेगा नहीं.
  6. स्वीटकॉर्न का यलो कलर बरकरार रखने के लिए उबालने के बाद आंच से उतारने के पहले उसमें थोड़ा नींबू का रस मिला दें.
  7. नींबू का रस निकालने से पहले उसे 20 मिनट तक गरम पानी में डुबोकर रखें. रस ज़्यादा निकलेगा.
  8. चाशनी बनाते समय उसमें थोड़ा-सा नींबू का रस मिला दें. शक्कर में कोई इम्प्योरिटी होगी तो ऊपर इकट्ठी हो जाएगी, जिसे आप चम्मच से हटा सकते हैं. ऐसा करने से चाशनी टेस्टी भी बनती है.
  9. रोटियां बेलते समय सूखे आटे के तौर पर चावल के आटे का इस्तेमाल करें. रोटियां ज़्यादा सॉफ्ट बनेंगी.
  10. केक या पुडिंग में अगर किशमिश या ड्राई फ्रूट्स मिलाना हो तोघोल में उन्हें डालते से पहले थोड़े-से सूखे आटे से कोट कर दें. इससे बेकिंग के समय वे घोल में डूबेंगे नहीं.
  11. दाल पकाते समय उसमें थोड़े-से मेथीदाने भी मिला दें. इससे एसिडिटी- गैस की समस्या भी नहीं होगी और दाल टेस्टी भी बनेगी.
  12. अगर ब्रेड, बन या पाव बच गए हों तो उसमें हरी मिर्च, अदरक, प्याज़, नमक, पानी आदि मिलाकर घोल बना लें और पकौड़े तल लें.
  13. अगर आप ग्रेवी में दही मिला रही हैं तो नमक आख़िर में मिलाएं. इससे दही फटेगा नहीं.
  14. अगर सब्ज़ियां फ्रेश न लग रही हों तो ठंडे पानी में नींबू का रस मिलाकर इसमें सब्ज़ियों को थोड़ी देर डुबोकर रखें. सब्ज़ियां दोबारा फ्रेश लगने लगेंगी.
  15. खीर बनाना हो तो दूध उबलने के बाद आंच धीमी कर दें और 8 का शेप बनाते हुए लकड़ी के चम्मच से लगातार चलाएं. इसके अलावा शक्कर हमेशा आख़िर में मिलाएं. इससे खीर का चावल जल्दी पकेगा. शक्कर पहले ही मिला देने से चावल पकने में देर लगेगी.
  16. कोई डिश में बटर में बनाना हो तो बटर के साथ थोड़ा तेल भी मिला दें. इससे बटर जलेगा नहीं.

ये भी पढें: साउथ इंडियन ब्रेकफास्ट: लेमन सेंवईं

क्लीनिंग टिप्स

  1. यदि फर्श पर तेल, घी या दूध गिर जाए तो उस पर सूखा आटा छिड़ककर अख़बार से साफ़ करें. चिकनाई और धब्बे निकल जाएंगे.
  2. अगर खाना बनाते समय बर्तन बुरी तरह जल जाए तो उसमें थोड़ा-सा डिटर्जेंट और पानी डालकर उबालें. बर्तन आसानी से साफ़ हो जाएगा.
  3. गैस या किचन प्लेटफॉर्म की सफाई के लिए पुराने मोजों का इस्तेमाल करें. इससे क्लीनिंग तो बेहतर होगी ही, स्क्रैचेज़ भी नहीं पड़ेंगे.
  4. किचन के वॉशबेसिन पर लगे दाग-धब्बों को दूर करने के लिए नींबू को विनेगर में डुबोकर बेसिन पर रगड़ें.
  5. अगर सिंक जाम हो जाए तो नमक और सोडा को बराबर मात्रा में मिलाकर सिंक के छेद में डाल दें. थोड़ा-सा डिटर्जेंट पाउडर डालें. आधे घंटे बाद उबला हुआ तेज़ी से डालें. सिंक का जाम खुल जाएगा.
  6. क्रॉकरी को इस्तेमाल के बाद तुरंत धोकर रखें, वरना इस पर लगे दाग निकल नहीं पाते.
  7. क्रॉकरी क्लीन करने के लिए लिक्विड सोप में थोड़ा नमक भी मिला लें. क्रॉकरी चमक उठेगी.
  8. क्रॉकरी को साफ़ करने के लिए स्पंज का इस्तेमाल करें. इससे स्क्रैच नहीं पड़ेंगे.
  9. स्टेनलेस स्टील के बर्तनों पर लगे दाग़ हटाने के लिए प्याज़ के रस में विनेगर मिलाकर इससे बर्तन साफ करें. दाग़ निकल जाएंगे.

 

किचन मैनेजमेंट टिप्स

  1. नमक, शक्कर, दाल, मसाले आदि रोज़ाना इस्तेमाल होनेवाली चीज़ों को ट्रांस्परेंट जार में रखें, ताकि उसे ढूंढने में टाइम बर्बाद न हो.
  2. इसी तरह रोज़ाना काम आनेवाली चीज़ों जैसे नमक, मिर्च, मसाले आदि को प्लेटफॉर्म के आसपास ही ऊपर रैक पर रखें, बाकी चीज़ों को रैक या कैबिनेट में रखें.
  3. रोज़ाना इस्तेमाल होनेवाले अप्लायंसेस जैसे मिक्सर, टोस्टर आदि को काउंटर पर ही रखें. जबकि कभी-कभार इस्तेमाल होनेवाले अप्लायंसेस को कैबिनेट में रखें, ताकि आपका किचन भीड़भाड़ भरा न लगे.
  4. छोटी-छोटी चीज़ें जैसे चम्मच,फोक, किचन नैपकिन आदि को बास्केट या कंटेनर मेें रखें, ताकि किचन बिखरा हुआ न लगे.
  5. महंगी और स्टाइलिश क्रॉकरी, जिन्हें आपने स्पेशल ओकेज़न के लिए रखा है, को भी कैबिनेट में रखें, ताकि वे सुरक्षित रहें.
  6. मिक्सर-टोस्टर आदि ऐसी जगह पर रखें, जहां स्विच पास में हो. इससे इनका यूज़ आसान हो जाएगा.