Tag Archives: Maa

मदर्स डे पर विशेष- ईश्वर का रूप है मां… (Mother’s Day Special- Quotes About Mothers)

Mother’s Day Quotes

हम एक शब्द हैं वह पूरी भाषा है

बस यही मां की परिभाषा है…

Mother’s Day Quotes

मैं रोया परदेस में भीगा मां का प्यार

दुख ने दुख से बातें की बिन चिट्ठी बिन तार

 

तू फिरश्तों की दुआ है मां

तू धरती पर खुदा है मां

 

कल अपने आपको देखा था मां की आंखों में

ये आईना हमें बूढ़ा नहीं बताता है…

 

घर में झीने रिश्ते मैंने लाखों बार उधड़ते देखे

चुपके-चुपके कर देती है जाने कब तुरपाई अम्मा

ज़िंदगी की पहली टीचर, पहली फ्रेंड मां

ज़िंदगी भी मां क्योंकि ज़िंदगी देनेवाली भी मां

 

जब-जब मैंने काग़ज़ पर लिखा मां-पिता का नाम

कलम अदब से कह उठी हो गए चारों धाम

 

संवेदना, भावना, एहसास है मां

जीवन के फूलों में ख़ुशबू का आभास है मां

 

मुर्गे की आवाज़ से खुलती घर की कुंडी जैसी मां

बेसन की सोंधी रोटी पर खट्टी चटनी जैसी मां

चलती फिरती हुई आंखों से अज़ां देखी है

मैंन जन्नत तो नहीं देखी है मां देखी है

 

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकान आई

मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से मां आई

 

मैंने मां की हथेली पर एक छोटा तिल देखा

और मां से कहा- ये दौलत का तिल है

मां ने अपने दोनों हाथों से मेरा चेहरा थामा और कहा-

देखो मेरे दोनों हाथों में कितनी दौलत है…

 

जब भी कोई रिश्ता उधड़े करती है तुरपाई मां

दुनिया के सब रिश्ते ठंडे गरम-गरम रजाई मां

इस दुनिया में मुझे उससे बहुत प्यार मिला है

मां के रूप में मुझे भगवान का अवतार मिला है

 

मैं तन पर लादे फिरता दुसाले रेशमी

लेकिन तेरी गोदी की गर्माहट कहीं मिलती नहीं मां

 

ये जो सख़्त रास्तों पे भी आसान सफ़र लगता है

ये मुझको मां की दुआओं का असर लगता है

 

एक मुद्दत हुई मेरी मां नहीं सोयी मैंने एक बार कहा था कि मुझे अंधेरे से डर लगता है…

3575091 – mother and baby silhouette

मुझे अपनी दुनिया, अपनी कायनात को एक लफ़्ज़ में बयां करनी हो, तो वो लफ़्ज़ है मां

 

सहनशीलता पत्थर-सी और दिल मोम-सा

ना जाने किस मिट्टी की बनी है मां

 

मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊं

मां से इस तरह लिपट जाऊं कि बच्चा हो जाऊं

 

हालात बुरे थे मगर अमीर बनाकर रखती थी

हम गरीब थे, ये बस हमारी मां जानती थी

मांगने पर जहां पूरी हर मन्नत होती है

मां के पैरों में ही तो वो जन्नत होती है

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुज़ारे है कितने

भला कैसे कह दूं मां अनपढ़ है मेरी…

 

घर में ही होता है मेरा तीरथ

जब नज़र मुझे मां आती है

 

स्याही ख़त्म हो गई मां लिखते-लिखते

उसके प्यार की दास्तान इतनी लंबी थी…

– ऊषा मूरत गुप्ता

 

HAPPY MOTHER’S DAY! प्यारी मां को डेडिकेट करें बॉलीवुड के ये 10 गाने (Top 10 Bollywood Songs Dedicated To All Lovely Moms)

1431169494mothers-day-song1 (1)

हर किसी के लिए ख़ास होती है मां. बच्चे की सबसे अच्छी दोस्त, टीचर, गाइड मां ही होती है. बिज़ी लाइफ के चलते कई बार हम उन्हें थैंक्यू बोलना भूल जाते हैं. आइए, मदर्स डे के इस ख़ास दिन को सेलिब्रेट करते हैं बॉलीवुड में मां की ममता पर बने 10 गानों के साथ.

मेरी सहेली की ओर से हैप्पी मदर्स डे. देखें ये गाने.

फिल्म- राजा और रंक

फिल्म- दादी मां

फिल्म- एबीसीडी 2

फिल्म- तारे ज़मीन पर

फिल्म- दसविदानिया

फिल्म- रंग दे बसंती

फिल्म- छोटा भाई

फिल्म- फटा पोस्टर निकला हीरो

फिल्म- यारियां

फिल्म- शूटआउट एट लोखंडवाला

 

बॉलीवुड की मां निरूपा रॉय के कमरे को लेकर रियल लाइफ में दोनों बेटों के बीच दीवार (Nirupa Roy’s sons fighting over the late actress bedroom)

निरूपा रॉय

निरूपा रॉय

बॉलीवुड में मां का किरदार निभाने वाली स्व. निरूपा रॉय के घर में बेटों के रिश्तों में भी दीवार आ गई है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि निरूपा रॉय के कमरे को लेकर उनके दोनों बेटों किरन और योगेश में ठन गई है. निरूपा रॉय के दोनों बेटे उनके बेडरूम पर दावा कर रहे हैं, उनकी कहना है कि उनकी भावनाएं इस कमरे से जुड़ी हुई हैं.
वैसे साल 2004 में निरूपा रॉय की मौत के बाद से ही उनकी संपत्ति को लेकर विवाद शुरु हो गया था. उनकी पूरी संपत्ति लगभग 100 करोड़ की है. उनका 3000 स्क्वैर का अपार्टमेंट है, जिसमें किरन और योगेश के हिस्से में दो दो बेडरूम हैं. साथ ही इसमें 8000 स्क्वैर का गार्डन भी है.