Tag Archives: Name

नाम के पहले अक्षर से जानें कितना रोमांटिक है आपका पार्टनर? (First Letter Of Name Tells How Romantic Is Your Partner)

First Letter Of Name, How Romantic Is Your Partner

प्यार-मोहब्बत, रोमांस जीवन में ख़ुशियों के रंग भर देता है. आप भी तो जानना चाहते होंगे कि आपका पार्टनर कितना रोमांटिक व दिलफेंक है. आइए, नाम के पहले अक्षर से जानें अपने पार्टनर के प्यारभरे दिल, स्वभाव व रोमांटिक नेचर के बारे में.अपने जीवन में एक अच्छे पार्टनर की तलाश हर किसी को होती है. आइए, नाम के पहले अक्षर से पार्टनर के लव-नेचर पर एक नज़र डालते हैं.  

First Letter Of Name, How Romantic Is Your Partner

– जिन लोगों का नाम अक्षर से शुरू होता है, ऐसे लोग प्यार और रिश्तों की जीवन में अहम् भूमिका समझते हैं. ये आकर्षित करनेवाले ज़रूर होते हैं, लेकिन रोमांटिक नहीं होते हैं.

बी अक्षरवाले दोस्ती करना पसंद करते हैं. ऐसे लोग पहले अपने प्यार को याद रखना चाहते हैं और ये अपने से ज़्यादा अपने पार्टनर को ख़ुश रखने की कोशिश करते हैं.

सी अक्षरवाले दोस्ती करना पसंद करते हैं. ऐसे लोग प्यार के मामले में स्पष्टवादी होते हैं. इन्हें घुमा-फिरा कर बात करना पसंद नहीं होता है.

डी अक्षरवाले जिसे पाना चाहते हैं, उसे पा लेते हैैं और रोमांस इनके मूड पर निर्भर करता है.

अक्षरवाले मज़ाकिया व लाजवाब होते हैं. प्यार इनकी सबसे बड़ी कमज़ोरी होती है. ये ज़िंदादिली के साथ जीना पसंद करते हैं.

एफ अक्षरवाले प्रेम को लेकर सीरियस रहते हैं, जिसे भी प्यार करते हैं, टूटकर करते हैं. अपनी पर्सनल लाइफ और प्रोफेशनल लाइफ को अलग-अलग रखते हैं. ऐसे लोगों को अच्छा लाइफ पार्टनर मिलता है.

जी अक्षरवाले साफ़ दिल के होते हैं. ये अपने मन में कुछ नहीं रखते हैं. प्यार इनके लिए जीवन का एक हिस्सा भर रहता है. इन्हें किसी के ख़िलाफ या प्यार में साज़िश करना पसंद नहीं होता है.

एच अक्षरवाले अपनी बातें दूसरों को नहीं बताना चाहते, क्योंकि इन्हें डर बहुत होता है. ये प्यार में नहीं पड़ना चाहते और अगर पड़ गए, तो उससे बाहर नहीं निकल पाते.

आई अक्षरवाले दिमाग़ से ज़्यादा दिल से सोचते हैं. ये सच्चे दिल से प्यार करते हैं, लेकिन अपनी भावुकता के कारण इन्हें अक्सर नुक़सान उठाना पड़ता है.

जे अक्षरवाले ईमानदार और वफ़ादार स्वभाव के होते हैं. प्रेम के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित रहते हैं. अगर आपके पार्टनर का नाम जे से शुरू होेता है, तो आप भाग्यशाली हैं.

के अक्षरवाले मुंहफट होते हैं. ये थोड़े फ्लर्टी स्वभाव के होते हैं. बिना कुछ सोचे-समझे ये किसी को कुछ भी कह सकते हैं. ये अपने फ़ायदे के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

एल अक्षरवाले कभी किसी को दुखी नहीं देख सकते हैं और जिससे भी प्यार करते हैं, उसे अकेला नहीं छोड़ते. आदर्श प्रेमी  होते हैं.

एन अक्षरवाले खुले विचार को समर्थन देनेवाले होते हैं. ये बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं. ये फ्लर्ट करने में आगे होते हैं, पर जब प्यार में पड़ जाते हैं, तो इनसे दूर रहने में ही भलाई है. थोड़े सनकी होते हैं.

यह भी पढ़ें: हाथ की रेखाओं से जानें सेक्स लाइफ के बारे में

First Letter Of Name, How Romantic Is Your Partner

एम अक्षरवाले स्वभाव के भावुक और संकोची होते हैं. प्यार को लेकर काफ़ी पज़ेसिव भी होते हैं. अक्सर ये छोटी-छोटी बातों को दिल से लगा लेते हैं.

अक्षरवाले प्रेम विवाह करते हैं और परिवार को साथ लेकर चलते हैं. ये एक आदर्श पार्टनर का रोल बख़ूबी निभाते हैं और बहुत भावुक भी होते हैं.

पी नाम वाले अपने प्यार पर दिलो-जान से न्योछावर होनेवाले होते हैं. घर, देश-दुनिया को साथ लेकर चलने में विश्‍वास करते हैं. ये उसूल पसंद होते हैं और मान-सम्मान के लिए कुछ भी कर गुज़रने के लिए तैयार रहतेे हैं.

क्यू अक्षरवाले मोहब्बत में जुनून की हद कर देते हैं. वे अपने प्यार को किसी से बांट नहीं सकते हैं. अपने आप में खोये रहते हैं. इन्हें दूसरे से कुछ लेना-देना नहीं होता है और इन्हें ग़ुस्सा भी कम आता है.

आर अक्षरवाले रोमांटिक, पर थोड़े दिलफेंक भी होते हैं. साथ ही मनमौजी स्वभाव के होते हैं. इन्हें दुनियादारी से कुछ मतलब नहीं रहता है. ये कम बोलते हैं. अपनी दुनिया में खोए रहते हैं.

एस अक्षरवाले प्यार पर विश्‍वास भी करते हैं, पर शक भी कुछ कम नहीं करते. ये बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं. ये अपने आप में सिमटे रहते हैं और अपने चारों ओर रहस्यमय वातावरण बनाए रहते हैं.

यह भी पढ़ें:  सेक्स से जुड़े मिथ्स कहीं कमज़ोर न कर दें आपके रिश्ते को

टी अक्षरवाले सिंपल जीवन जीना पसंद करते हैं. यही सोच प्यार को लेकर भी रहती है. इन्हें प्यार में दिखावा करना पसंद नहीं है. ये रिश्ते और भावनाओं को लेकर बेहद भावुक होते हैं.

यू अक्षरवालों के लिए प्यार ही सब कुछ है. ये सदा उमंग-उत्साह में रहते हैं. बुद्धिमान व दिल के साफ़ होते हैं. ये छोटी-छोटी चीज़ों में ही ख़ुशियां ढूंढ़ते हैं और हमेशा ख़ुश रहते हैं.

वी अक्षरवाले ना कभी कुछ कहते हैं और ना ही किसी की सुनते हैं. जब इन्हें प्यार हो जाता है, तो कुछ भी कर सकते हैं. स्वभाव से बेहद रोमांटिक और भावुक होते हैं.

डब्ल्यू वालों के लिए प्यार बस जीवन का एक हिस्साभर होता है. दूसरों को दबाकर अपना रौब जमाने की आदत होती है, जिसके चलते इन्हें कोई पसंद नहीं करता.

एक्स अक्षरवाले लोगों में एक ख़ास आदत होती है कि ये जिनको पाने की इच्छा रखते हैं, उसे पाकर ही दम लेते हैं यानी प्यार में जुनून की हद तक गुज़र जाते हैं. ये प्यार में पूरी तरह से समर्पित रहते हैं.

वाय वाले सच्चे, खुले दिलवाले व रोमांटिक नेचर के होते हैं. ये समझौता नहीं करना चाहते हैं, इसलिए इनका जीवन मुश्किलों से भरा होता है. ये थोड़े लापरवाह व भुलक्कड़ क़िस्म के होते हैं. लेकिन अपनी ग़लती के लिए जल्दी माफ़ी भी मांग लेते हैं.

ज़ेड अक्षरवाले बेहद रोमांटिक होते हैं. इनकी तरफ़ कोई भी आसानी से आकर्षित हो जाता है. ये अपने पार्टनर को इस कदर प्यार करते हैं कि उनके सामने और कोई भी अहमियत नहीं रखता है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ें: 7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं

Numerology: कितनी लकी है आपकी बर्थ डेट? (Numerology: Is Your Birth Date Lucky?)

Is Your Birth Date Lucky, Numerology

क्या वाकई नंबर्स हमारी ज़िंदगी से इस क़दर जुड़े होते हैं कि उनकी संख्या का बढ़ना या घटना हमें सफल या असफल बना सकता है? क्या 1 तारीख़ को पैदा हुए लोग वाकई हमेशा नंबर 1 बने रहते हैं और 8 नंबर वालों को बहुत मेहनत के बाद सफलता मिलती है? क्या है अंकशास्त्र यानी न्यूमेरोलॉजी का रहस्य और अंक हमारे जीवन को किस तरह प्रभावित करते हैं? आइए, जानते हैं.

1
नंबर 1
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 1 का स्वामी सूर्य है. 1 नंबर वाले लोग अपने फील्ड में भी नंबर वन होते हैं. इन्हें लीडर भी कहा जा सकता है. 1, 10, 19, 28 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 1 होता है. ऐश्‍वर्या राय, धीरूभाई अंबानी, मुकेश अंबानी, रतन टाटा, लता मंगेशकर आदि का रूलिंग नंबर 1 है.
नंबर 2
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 2 का स्वामी चंद्र है. 2, 11, 20,29 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 2 होता है. अमिताभ बच्चन, शाहरुख ख़ान आदि इसके अंतर्गत आते हैं. इस नंबर वाले लोग अपने फ़ील्ड के सुपर स्टार होते हैं और ये काफ़ी पॉप्युलर भी होते हैं.
नंबर 3
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 3 का स्वामी गुरु है. इस नंबर वाले लोग ख़ूब पैसा कमाते हैं. ये अपना काम ज़ीरो से शुरू करते हैं और उसमें काफ़ी नाम और पैसा कमाते हैं. 3, 12, 21, 30 तारीख़ को जन्मे लोग इस कैटेगरी में आते हैं. गोविंदा, रजनीकांत, करीना, रानी आदि का रूलिंग नंबर 3 है.

2

न्यूमेरोलॉजिस्ट श्‍वेता जुमानी के अनुसार, “9 ग्रहों के 9 नंबर्स हमारे व्यक्तित्व, व्यवहार को रूल करते हैं और हमारी सफलता या असफलता का कारण भी बनते हैं. अपने डेट ऑफ़ बर्थ यानी जन्म तारीख़ पर तो हमारा कंट्रोल होता नहीं, लेकिन नाम को लकी बनाकर काफ़ी हद तक हम अपना भाग्य बदल सकते हैं. आज अनिल कपूर, इमरान हाशमी, सुनील शेट्टी, इरफ़ान ख़ान, अनु मलिक, अजय देवगन से लेकर स्मृति ईरानी, पूनम ढिल्लन, तनुश्री दत्ता, श्‍वेता साल्वे, सेलीना जेटली जैसे कई सेलिब्रिटीज़ हमसे कंसल्ट करने यूं ही नहीं चले आते. न्यूमेरोलॉजी के सही प्रेडिक्शन ही इसकी लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण हैं.”

3

नंबर 4
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 4 का स्वामी राहू है. इस अंक वाले लोग काफ़ी बुद्धिमान और स्पिरिचुअल होते हैं. इनका एक माइनस प्वाइंट है कि ये एडजस्ट नहीं कर पाते. तब्बू, जूही, उर्मिला मातोंडकर आदि का रूलिंग नंबर 4 है.
नंबर 5
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 5 का स्वामी बुध है. ये बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं इसलिए किसी भी काम से बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं और अलग-अलग फील्ड में काम करना पसंद करते हैं. 5, 14, 23 तारीख़ को जन्मे लोग 5 अंक की श्रेणी में आते हैं. हिमेश रेशमिया, आमिर ख़ान का रूलिंग नंबर 5 है.
नंबर 6
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 6 का स्वामी शुक्र है. इस फील्ड के लोग फिल्म, मीडिया, स्पोर्ट्स आदि से जुड़ना पसंद करते हैं और उसमें ख़ूब नाम कमाते हैं. 6, 15, 24 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 6 है. माधुरी दीक्षित, आलिया भट्ट, सचिन तेंदुलकर, सुभाष घई, कपिल देव, सानिया मिर्ज़ा, संजय लीला भंसाली आदि इस श्रेणी में आते हैं.

4

न्यूमेरोलॉजिस्ट भाविक सांघवी मानते हैं कि अंकशास्त्र तभी सही रिज़ल्ट दे सकता है, जब उसे पूरी तरह फॉलो किया जाए. उनके अनुसार, ⁛ज़्यादातर लोग समझते हैं कि न्यूमेरोलॉजी में स़िर्फ नाम बदलना होता है और आपकी क़ामयाबी पक्की समझो, पर असल में ऐसा है नहीं. स़िर्फ नाम बदलने से ज़िंदगी नहीं बदलती, इसके साथ-साथ मंत्र, दान, उपवास, लकी जेम स्टोन्स, नंबर, कलर आदि का भी ध्यान रखना होता है. आपके बर्थ और कंपाउंड नंबर्स किसके साथ मैच करते हैं और किस समय पर कौन-सा काम आपको शुभ फल देगा, इसके अनुसार यदि कार्य किए जाएं तो ही सही रिज़ल्ट मिल पाते हैं. मेरे पास गोविंदा, सुष्मिता सेन, पूजा बेदी, अपरा मेहता जैसे कई सेलिब्रिटीज़ के अलावा कई कॉमन लोग भी आते हैं और उन्हें इस साइंस का फ़ायदा भी मिला है. फ़िल्म इंडस्ट्री में ही नहीं, आम लोगों में भी न्यूमेरोलॉजी का चलन बढ़ रहा है. फिल्म स्टार्स की कोई भी बात छुपी नहीं रहती इसलिए लोगों इसकी जानकारी तुरंत मिल जाती है.”

5
नंबर 7
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 7 का स्वामी केतु है. इस अंक वाले लोग काफ़ी भावुक और मूडी होते हैं, यही वजह है कि ये क्रिएटिव भी होते हैं. आर्ट से जुड़ना इन्हें पसंद होता है. 7, 16, 25 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 7 होता है. एकता कपूर, महेन्द्र सिंह धोनी, सैफ़ अली ख़ान, करण जौहर, कैटरीना कैफ़, विपाशा बसु, शोभा डे आदि इस श्रेणी में आते हैं.
नंबर 8
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 8 का स्वामी शनि है. इस नंबर को अमूमन अनलकी माना जाता है, लेकिन ये लोग यदि स्पिरिचुअल हों तो ये इनके लिए फ़ायदेमंद होता है. इस राशि के लोगों को इनकी क़ाबिलियत के अनुसार सफलता नहीं मिल पाती. 8, 17, 26 तारीख़ को जन्मे लोग इस कैटेगरी में आते हैं. मदर टैरेसा, आसाराम बापू, सौरव गांगुली, शबाना आज़मी, आशा भोसले, शिल्पा शेट्टी आदि का रूलिंग नंबर 8 है.
नंबर 9
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 9 का स्वामी मंगल है. ये तेज़ ग्रह है इसलिए इस अंक वाले लोग बहुत ग़ुस्से वाले होते हैं. आर्मी के ़ज़्यादातर ऑफ़िसर्स भी 9 अंक वाले ही पाए जाते हैं. 9, 18, 27 तारीख़ को जन्मे लोग इस श्रेणी में आते हैं. सलमान ख़ान, सुनिल शेट्टी, अक्षय कुमार, जैकी चैन, ब्रूसली आदि का रूलिंग नंबर 9 है.

6

न्यूमरोलॉजिस्ट श्‍वेता बरड़िया किसी भी विज्ञान को 100% सही नहीं मानतीं. उनके अनुसार, “कोई भी शास्त्र किसी के भी भविष्य की सौ फीसदी गारंटी नहीं दे सकता और न ही किसी की तक़दीर बदल सकता है. हां, अन्य शास्त्रों की तरह न्यूमेरोलॉजी भी बारिश में छाते का काम ज़रूर करती है. लेकिन तेज़ बारिश में जाने पर जिस तरह छाता साथ होते हुए भी शरीर पर बारिश के कुछ छींटे पड़ते ही हैं, उसी तरह कर्मों का फल तो भुगतना ही होता है, न्यूमेरोलॉजी कुछ हद तक आपकी राह आसान कर सकता है. आप अपने अच्छे समय में किसी अंक या ज्योतिषशास्त्री के पास जाते हैं और आपका सब कुछ अच्छा होता चला जाता है तो आपका इस पर विश्‍वास बढ़ने लगता है. लेकिन बुरे समय में जब यही शास्त्र असर नहीं दिखा पाता तो यक़ीन करना थोड़ा मुश्क़िल हो जाता है. कोई भी शास्त्र रात को दिन या दिन को रात में नहीं बदल सकता, ये स़िर्फ बता सकता है कि आगे खाई मिलेगी, लेकिन उसे पार तो आपको ही करना होगा. लोग कहते हैं कि अमिताभ बच्चन ने जब से नीलम की अंगूठी पहनी है, तब से उनका अच्छा समय शुरू हो गया, लेकिन तब हम ये सोचना क्यों भूल जाते हैं कि आज वे जादूगर, अजूबा, तू़फ़ान जैसी फ़िल्में नहीं साइन कर रहे हैं.”

7
न्यूमेरोलॉजी में 1, 3, 5, 6 को पॉजीटिव नंबर कहा जाता है, इन नंबर्स के लोगों को क़ामयाबी पाने के लिए अन्य नंबर्स के मुक़ाबले कम मेहनत करनी पड़ती है. 2 और 7 क्रिएटिव नंबर माने जाते हैं, इन नंबर्स के लोग ज़्यादातर क्रिएटिव फ़ील्ड में क़ामयाबी हासिल करते हैं. न्यूमेरोलॉजी के सबसे टफ़ नंबर हैं 4, 8 और 9, इन नंबर्स के लोगों को क़ामयाबी पाने के लिए ज़्यादा मेहनत करनी पड़ती है. 8 नंबर वालों को तो ज़्यादातर 35 साल के बाद ही क़ामयाबी मिल पाती है.

– कमला बडोनी 

Awww! ये होगा सैफ-करीना के शहज़ादे का नाम! (Saif Ali Khan-Kareena Kapoor Khan reveal their baby boy’s name!)

saif-bebo-1 (1)

करीना कपूर खान (Kareena Kapoor Khan) और सैफ अली खान (Sai Ali Khan) मम्मी-पापा बन गए हैं. उनके घर एक प्यारे से बेटे ने जन्म लिया है. छोटे नवाब का स्वागत करने के लिए पूरा परिवार अस्पताल में मौजूद था. करीना की डिलीवरी से पहले आए दिन होने वाले बच्चे के नाम को लेकर ख़बरें आती रहती थीं. बीच में अफ़वाहें उड़ी थीं कि ये अपने बच्चे का नाम सैफीना रख सकते हैं, लेकिन इन अफवाहों पर ख़ुद फुलस्टॉप लगा दिया था दोनों ने. अब बच्चे के जन्म के बाद करण जौहर ने टि्वटर पर बताया कि सैफ के छोटे नवाब का नाम होगा तैमूर अली खान पटौदी (Taimur Ali Khan Pataudi). करण ने टि्वटर पर लिखा है, ”मेरी बेबो को बेटा हुआ है!!!!!मैं बहुत ख़ुश हूं!!!!! #TaimurAliKhan”

फिलहाल अभी छोटे नवाब की कोई पिक्चर सैफ और करीना की तरफ़ से रिलीज़ नहीं की गई है.

– प्रियंका सिंह