Tag Archives: Rakhi

रक्षाबंधन 2019: राखी बांधने का शुभ मूहुर्त-पूजा विधि-तिथि-महत्व (Rakshabandhan 2019: Right Time To Tie Rakhi)

रक्षाबंधन का ख़ास पर्व इस बार 15 अगस्त 2019 के दिन है. सबसे अच्छी ख़बर ये है कि रक्षाबंधन के दिन इस बार भद्रा काल नहीं होगा. ऐसा मौका कई साल बाद आ रहा है इसलिए इस बार रक्षाबंधन का त्योहार ख़ास रहने वाला है. रक्षाबंधन के शुभ पर्व को यदि सही तरीके से मनाया जाए तो उसका फल भी शुभकारी और मनोकामना पूरी करने वाला होता है. विधि-विधान से रक्षाबंधन किया जाए, तो इससे भाई की रक्षा होती है और भाई अपने जीवन में यश-कीर्ति प्राप्त करता है. इस साल राखी बांधने का शुभ मूहुर्त-पूजा विधि-तिथि और महत्व क्या है, ये बता रहे हैं ज्योतिष व वास्तु एक्सपर्ट पंडित राजेंद्र जी.

 

 

* इस बार राखी बांधने की समय अवधि लंबी रहेगी, जिसके कारण बहनें पूरे दिन राखी बांध पाएंगी. इस बार रक्षाबंधन के दिन यानी 15 अगस्त 2019 के दिन बहन अपने भाई को सुबह 05:49 बजे से लेकर शाम के 6:01 बजे तक राखी बांध सकती हैं.

* इस बार का रक्षाबंधन बहुत ख़ास रहने वाला है, क्योंकि इस साल रक्षाबंधन के दिन भद्रा काल नहीं होगा. ऐसा मौका कई साल बाद आ रहा है.

* रक्षाबंधन के शुभ पर्व को यदि सही तरीके से मनाया जाए तो उसका फल भी शुभकारी और मनोकामना पूरी करने वाला होता है.

यह भी पढ़ें: राशि के अनुसार चुनें करियर और पाएं सफलता (Astrology: The Best Career For Your Zodiac Sign)

 

ये है रक्षाबंधन का सही तरीका
* रक्षाबंधन के दिन सबसे पहले भाई-बहन उठकर स्नान आदि कार्य निपटा लें. फिर नए या साफ-सुथरे कपड़े पहनकर सूर्य देव को जल चढ़ाएं. फिर घर के मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना करें. ईश्‍वर की अराधना करने के बाद राखी बांधने से संबंधित सामान एकत्रित कर लें. इसके लिए चांदी, पीतल, तांबे या स्टील की कोई भी साफ थाली लें. उसमें एक सुंदर कपड़ा बिछा लें. उसमें एक कलश, नारियल, सुपारी, कलावा, रोली, चंदन, अक्षत, दही, राखी और मिठाई रख लें. थाली में भाई की आरती उतारने के लिए घी का दीपक भी रखें. अब यह थाल पहले भगवान को समर्पित करें, कृष्ण भगवान और गणेश जी को राखी अर्पित करें. भगवान को राखी अर्पित करने के बाद शुभ मुहूर्त देख भाई को पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करवाकर बिठाएं. फिर भाई को पहले तिलक लगाएं, फिर राखी यानी रक्षा सूत्र बांधें और भाई की आरती करें. इस बात का ध्यान रखें कि राखी बांधते समय भाई का सिर किसी कपड़े से ढका होना चाहिए.

राखी बांधते समय बहन भाई की लंबी उम्र के लिए इस मंत्र का उच्चारण कर सकती हैं :

येन बद्धो बलि राजा, दानवेन्द्रो महाबल: ।
तेन त्वां मनुबध्नामि, रक्षे मा चल मा चल ।।

 

 

इसके बाद भाई को मुंह मिठा करें. रक्षा सूत्र बंधवाने के बाद बड़ों का आशीर्वाद लें. इसके बाद भाई अपनी बहन को अपनी श्रद्धा अनुसार उपहार दें.

यह भी पढ़ें: अपनी राशि के अनुसार कौन सा रत्न पहनें जिससे हो भाग्योदय (Zodiac Birthstones: Gemstones You Should Wear According To Your Zodiac Sign)

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

सिंधु ने रचा इतिहास
जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में बैडमिंटन सितारा पीवी सिंधु ने पहली बार इसके एकल फाइनल में पहुंचकर रिकॉर्ड बना दिया. अब तक यह कारनामा किसी प्लेयर ने नहीं किया था. वे इस प्रतियोगिता में बैडमिंटन फाइनल में पहुंचनेवाली पहली भारतीय हैं. उन्होंने सेमीफाइनल में दुनिया की नंबर 2 प्लेयर जापान की अकाने यामागुची को 21-17, 15-21, 21-10 से हराया. दूसरे सेमीफाइनल में साइना नेहवाल चीनी ताइपे की नंबर वन खिलाड़ी ताई जू यिंग से हारकर कांस्य पदक ही पा सकीं. फाइनल के लिए सिंधु को हमारी ढेर सारी शुभकामनाएं. हमें यक़ीन है कि हम गोल्ड ज़रूर जीतेंगे. ऑल द बेस्ट!

News

बहनों का प्रशंसनीय कार्य
राजस्थान के जोधपुर की बहनों ने केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए प्रशंसनीय कार्य किया. उन्होंने भाइयों को राखी बांधकर उपहार के तौर में चेक लिए और उसे केरल पीड़ितों की मदद के लिए भेज दिया. वाकई बहनों का यह क़दम सराहनीय है.
इस दिन की अन्य सुर्खियां
* प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी को उनकी बहन कमर मोहसिन शेख ने राखी बांधी. वे उन्हें आरएसएस कार्यकत्ता के दिनों से जानती हैं और पिछले चौबीस सालों से राखी बांध रही हैं.
* हमारे फौजी भाइयों के लिए बच्चों ने पंद्रह हज़ार राखियां भेजीं.
* आर्मी चीफ बिपिन रावतजी को उत्तराखंड व तमिलनाडु के बच्चों ने राखी बांधी.
* विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू को राखी बांधी.
* इस ख़ास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्रजी ने ट्विटर पर 55 महिलाओं को फॉलो किया, जिनमें कर्णम मल्लेश्‍वरी, सानिया मिर्ज़ा, शीला भट्ट, कोएना मित्रा, पीटी ऊषा, अश्‍विनी पोनप्पा आदि हैं. ट्विटर पर मोदीजी के चार करोड़ 37 लाख फॉलोअर्स हैं.

बायोफ्यूल से पहली उड़ान
भारत में पहली बार बायोफ्यूल से हवाई जहाज उड़ाकर इसका कामयाब परीक्षण किया गया. स्पाइसजेट के इस प्लेन ने देहरादून से दिल्ली तक की यात्रा 45 मिनट में पूरी की. बायोफ्यूल से उड़ान की लागत में बीस प्रतिशत की कमी आएगी. पेट्रोलियम विज्ञानी अनिल सिन्हा ने साल 2012 में जट्रोफा के बीज के कच्चे तेल से बायोफ्यूल बनाने की टेक्नोलॉजी का पेटेंट कराया था. इस परीक्षण प्लेन में इस्तेमाल किया गया फ्यूल उन्हीं की तकनीकी देखरेख में बना है. साथ ही इसे सफल बनाने के लिए बीस लोगों ने डेढ़ महीने तक दिन-रात मेहनत की. यदि प्लेन में बायोफ्यूल इस्तेमाल होने लगा, तो हर साल चार हज़ार टन कार्बन डाई ऑक्साइड एमिशन की बचत होने का अनुमान है. इसके अलावा ऑपरेटिंग लागत भी सत्रह से बीस प्रतिशत तक कम हो जाएगी.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

ज़रूरी होगा चिप डेबिट कार्ड
आरबीआई ने देशभर के सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि वे अपने सभी अकाउंट होल्डर को केवल चिप आधारित पिन स्वीकार्य डेबिट कार्ड ही दें. इसी कड़ी में एसबीआई बैंक ने पहल करते हुए अपने सभी कस्टमर से कहा है कि वे मैग्नेटिक पट्टीवाले डेबिट कार्ड को 31 दिसंबर से पहले चिप आधारित ईएमवी डेबिट कार्ड से बदल लें. खाताधारकों को इस बात से आश्‍वस्त किया गया है कि इसके लिए बैंक उनसे कोई भी एक्स्ट्रा चार्जेस नहीं लेगा. ध्यान दें कि समय रहते सभी इस ज़रूरी बदलाव को कर लें, वरना वे एटीएम से पैसों की लेनदेन नहीं कर पाएंगे, क्योंकि एटीएम मशीन पुराने कार्ड एक्सेप्ट नहीं करेगी. खाताधारक इसे अपने बैंक की शाखाओं में जाकर कर सकते हैं. इसके अलावा इंटरनेट बैंकिंग द्वारा भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं.

पुराने गीत की याद दिलाता नया गीत...
फिल्म सुई धागा में पपॉन द्वारा गाया गाना चाव लागा बरबस पुराने हिट गाने मोह मोह के धागे की याद दिलाता है. पपॉन ने उसे उसी अंदाज़ में गाया भी है. संगीत अनु मलिक का है. वैसे आपनी जानकारी के लिए बता दे कि यशराज बैनर तले बनी दम लगाके हईशा में भी इसी जोड़ी ने कमाल दिखाया था. उसी की अधिकतर टीम सुई धागा में भी है. सरकार की मेक इन इंडिया थीम पर बनी अनुष्का शर्मा व वरुण धवन अभिनीत व शरत कटारिया द्वारा निर्देशित सुई धागा हाल ही में अपने प्रोमो, ट्रेलर, गाने आदि से इस कदर चर्चा में है कि हर किसी को इसका बेसब्री से इंतज़ार है. एक बेरोज़गार से रोज़गार बने आम इंसान के संघर्ष को दर्शक कितना पसंद करते हैं, देखना दिलचस्प होगा.

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

शार्दुल-अंकिता की सराहनीय जीत…

जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में हर रोज़ देश के युवा खिलाड़ी अपना दमख़म दिखा रहे हैं. आज 15 साल के शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप इवेंट में रजत पदक जीत देशवासियों को ख़ुश कर दिया. इसके अलावा टेनिस के एकल में अंकिता रैना ने कांस्य पदक अपने नाम किया. अंकिता से पहले साल 2006 में सानिया मिर्ज़ा ने रजत व साल 2010 में कांस्य पदक जीता था. आनेवाले दिनों के लिए सभी खिलाड़ियों को ऑल द बेस्ट!

Breaking News

तीर्थ स्थान स्वच्छता पर सार्थक पहल…

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य छह मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थानों को पूरी तरह से साफ़-सुथरा रखने व गंदगी हटाने के लिए 99 करोड़ के प्रारूप को पास किया है. ये प्रमुख स्थान टाललघाट (नागपुर), राजुर गणपति मंदिर (जालना) के अलावा शेंडगांव, अमरावती, बीड क्षेत्रों के धार्मिक स्थल हैं. इसमें कोई दो राय नहीं कि स्वच्छता अभियान के तहत यह सराहनीय व सार्थक पहल है.

 

राखी में विश्‍व गुरु भारत…

इंदौर के 18 कलाकारों ने दो महीने की मेहनत व लगन के साथ 45ु44 इंच की भव्य राखी बनाई है. इस राखी को खजराना गणेश मंदिर में गणपति भगवान को बांधी जाएगी. इस राखी की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि इसमें भारत की भव्यता व विश्‍व गुरू की विशेषता को दर्शाया गया है. इसके ऊपरी हिस्से में भारत का नक्शा और नीचे की ओर राष्ट्रपति भवन, सुप्रीम कोर्ट, लाल किला, आरबीआई व सांसद बनाया गया है. इसके अलावा राखी के निचले हिस्से में शेषनाग बनाया है, जिसके सिर पर धरती टिकी है. पृथ्वी में हिंदुस्तान का नक्शा टॉप पर है, जो भारत को विश्‍व गुरु के रूप में दर्शाता है. देश के नक्शे को गणेश भगवान का आकार दिया गया है.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

विदेश में पढ़ना हुआ आसान…

जिस तरह महाराष्ट्र सरकार अनुसूचित  जाति व अनुसूचित जनजाति के स्टूडेंट्स की विदेश शिक्षा के लिए स्कॉलरशिप देती है. उसी तरह अब 20 अन्य छात्रों, जिसमें ओबीसी व सामान्य वर्ग के बच्चे शामिल होंगे, को विदेश मेंं जाकर पढ़ाई करने के लिए सुविधा मुहैया करवाएगी. सरकार के बीस करोड़ रुपए के इस प्रावधान में तीस प्रतिशत लड़कियों को आरक्षण दिया जाएगा. सिलेक्टेड विद्यार्थियों को हर माह पंद्रह सौ डॉलर की स्कॉलरशिप दी जाएगी.

 

केरल को अमिताभ की मदद…

केरल राज्य में बारिश की कहर, बाढ़ व प्राकृतिक आपदा से हर कोई ग़मगीन है. इसी कारण मदद की पहल के लिए सभी के हाथ बढ़ रहे हैं, फिर चाहे वो वायु, थल, जल सेना हो, सरकार हो, आम आदमी या फिर फिल्म स्टार्स ही क्यों न हो. अब अमिताभ बच्चन ने केरल पीड़ितों के लिए 51 लाख रुपए देने के साथ-साथ अपनी ख़ुद की कई बहुमूल्य चीज़ें भी नीलाम कर दी. केरलवासियों के लिए चलाए जा रहे उनके रेजुल पुकुट्टी प्रोग्राम के तहत उन्होंने बड़े पैमाने पर अपने जैकेट्स, पैंट-शर्ट, स्कार्फ, शू आदि दान किए हैं. अमिताभ के पहले अक्षय कुमार, रजनीकांत, शाहरुख, सुशांत राजपूत आदि कलाकारों ने भी अपना उल्लेखनीय योगदान दिया है.

– ऊषा गुप्ता