कब लें इंश्योरेंस? (When Is The Right Time To Take A Insurance?)

अपनी ज़िंदगी को सिक्योर करने के लिए लोग समय-समय पर अपने हिसाब से सेविंग करते हैं, ताकि उन्हें किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े. अपनों के सुरक्षित भविष्य के लिए लोग कई तरह के इंश्योरेंस प्लान लेते हैं. जीवन के किस मोड़ पर आपको इंश्योरेंस की ज़्यादा ज़रूरत होती है? आइए हम आपको बताते हैं.

शादी के समय


समय के साथ प्राथमिकताएं बदल गई है, इसलिए दोनों पार्टनर का वर्किंग होना ज़रूरी है. दोनों के वर्किंग होने के बाद भी घर को सामान्य रूप से चलाना और लाइफ को एंजॉय करना आजकल मुशिकल होता जा रहा है. शादी के बाद भले ही आपका पार्टनर आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर है, लेकिन भविष्य के लिए अनिश्‍चित होता है. अत: शादी के बाद अपने और अपने पार्टनर के सुरक्षित भविष्य के लिए शादी के बाद अच्छी इंश्योरेंस पॉलिसी लें. इससे अपा दोनों का कल सुरक्षित रहेगा और टेंशन फ्री होकर आप अपनी लाइफ एंजॉय कर सकेंगे.

पैरेंट्स बनने पर


शादी होने के बाद भी कपल्स को अपनी ज़िम्मेदारियों का एहसास नहीं होता. इसका कारण है दोनों का वर्किंग होना. लेकिन जब आप पैरेंट्स बन जाते हैं, तो ज़िम्मेदारियां और भी बड़ जाती हैं. भविष्य में आपके बच्चे को कोई तकलीफ़ न हो, इसलिए ऐसी पॉलिसी ले, जो उसके भविष्य के लिए बेहतर हो.

पैरेंट्स के रिटायरमेंट पर


आप अपने पैरेंट्स की वजह से यहां तक पहुंचे हैं. इसलिए उनके रिटायरमेंट के बाद उनकी ज़िम्मेदारी भी आप पर आ जाती है. ऐसे में आपका बोझ बढ़ सकता है. अत: बेहतर होगा कि आप कोई एडिशनल इंश्योरेंस लें, जिससे आपको मदद मिल सके.

जब लेना हो बड़ा लोन
पैसों की कमी के कारण लोगों को हर सामान ईएम आई पर लेने पर लेना पड़ता है. ऐसे में अगर कल को आपकी जॉब चली जाए, तो भारी-भरकम लोन की किश्त भरना आपके परिवार के लिए संभव नहीं है. अत: समझदारी इसी में है कि लोन अमाउंट के बराबर ही काई इंश्योरेंस कवर लें, ताकि भविष्य में आपके अपनों को कोई तकलीफ न हो.

और भी पढ़ें: हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेते समय रखें इन 18 बातों का ख़्याल

नया व्यवसाय शुरू करने पर


यदि आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको पैसे की ज़रूरत पड़ेगी. ऐसे में फायनेशियली स्ट्रॉन्ग न होने पर आपको कई तरह की दिक्कतें आती है. इस समय पर कोई ऐसी पॉलिसी लें, जो आपके बिजनेस के लिए भी मददगार साबित हो.

बच्चों की हायर स्टडीज़ के लिए

पैरेंट्स बनने के बाद बच्चों के लिए कोई पॉलिसी लेना जितना ज़रूरी है, उतना ही ज़रूरी है उनकी आगे की पढ़ाई के लिए भी प्लानिंग करना. इसकी तैयारी पहले से ही कर लें. अपनी आय का कुछ हिस्सा ऐसी पॉलिसी में लगाएं, जो आपके बच्चे की हायर स्टडीज़ में सहायक हो

जब आप हो सिंगल पैरेंट


सिंगल पैरेंटिंग किसी चुनौती से कम नहीं है. पार्टनर के न रहने पर बच्चे के प्रति आपकी ज़िम्मेदारी बढ़ जाती है. ऐसे में उन्हें भावनात्मक सहयोग के साथ ही आर्थिक मज़बूती भी आपको ही देनी पड़ती है. एक अच्छी पॉलिसी आपको सुखी रख सकती है, इसलिए बिना देर किए अपने बच्चे की ज़रूरत के अनुसार कोई पॉलिसी लें.

मेडिकल इंश्योरेंस लें


जीवन अनिश्‍चितकालीन होता है, इसलिए अपने परिवार को सुरक्षित बनाए रखने के लिए मेडिकल इंश्योरेंस ज़रूर लें. कुछ अनहोनी पर आपकी सैलरी प्रभावित नहीं होगी और जीवन सुचारू रूप से चलता रहेगा.

और भी पढ़ें: जब लें पॉलिसी ध्यान रखें इन बातों का 

Poonam Sharma :
© Merisaheli