कौन हैं हर हर शंभू गाकर फेमस होन...

कौन हैं हर हर शंभू गाकर फेमस होनेवाली फरमानी नाज़ और उन्होंने हर हर शंभू गाना क्यों गाया? (Who is `Har Har Shambhu’ singer Farmani Naaz? Know her struggle story)

सावन में काँवड़ियों के लिए हर हर शंभू गाना गाकर घर घर में पॉपुलर हो गई गई हैं फरमानी नाज़ (How Har Har Shambhu singer Farmani Naaz). महादेव का ये गाना फरमानी ने इतने दिल से गाया है कि सुनते ही मन में भक्ति भाव आ जाता है. यही वजह है कि ये गाना आज हर किसी की ज़बान पर है. तो आइए आज जानते हैं कि कौन हैं फरमानी नाज़ और उन्होंने ‘हर हर शंभू’ गाना क्यों गाया? आइए जानते हैं उनके संघर्ष और सक्सेस की कहानी.

मां-बाप ने क़र्ज़ लेकर की शादी, पति ने मारा-पीटा

मुज़्ज़फरपुर के एक छोटे से गाँव में जन्मी फरमानी के माता -पिता की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. लेकिन बेटी की खुशी के लिए उन्होंने लाखों का क़र्ज़ लेकर उनकी धूमधाम से शादी की. लेकिन शादी के बाद से ही फरमानी के विचारों को लेकर पति के साथ उनके झगड़े होने लगे. उनके पति का किसी और लड़की से अफेयर था. वो फरमानी के सामने ही उस लड़की से बात करता था और उसके ससुराल में सब इस बारे में जानते थे. वो विरोध करती तो उनके साथ मार पीट की जाती. उन्हें जान से मारने की धमकी दी जाती.

बेटा बीमारी के साथ पैदा हुआ तो घर से निकाल दिया गया


2019 में फरमानी को बेटा हुआ तो उन्होंने सोचा कि शायद सब ठीक हो जाएगा, लेकिन उनके बेटे के गले मे कोई बीमारी थी. फरमानी के ससुराल वाले उन्हें परेशान करते थे और उन पर हमेशा दबाव डालते थे कि बेटे के इलाज के लिए मायके से पैसे मांगकर लाएं. आखिर एक दिन फरमानी के सब्र का बाँध टूट गया और वो बेटे को लेकर मायके आ गईं.

बेटे की बीमारी ने बनाया सिंगर


फरमानी मायके तो आ गईं लेकिन उनके मायके की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. शुरुआत में बेटे के दूध और इलाज के लिए उन्होंने अपने कुछ जेवर बेचे, लेकिन कुछ ही दिनों में पैसे खत्म हो गए. फरमानी का गला बचपन से ही अच्छा था, इसलिए उनके ताऊजी के बेटे ने उन्हें एक यूट्यूबर राहुल से मिलवाया. उसे फरमानी की आवाज़ पसंद आ गई और उन्होंने 25 हज़ार सैलरी और बेटे के इलाज का खर्च देने के वादे के साथ फरमानी से गवाना शुरु किया. फरमानी ने सबसे पहले हीर रांझा का गाना गया. इस गाने को तीन दिन में 10 मिलियन व्यू मिला था. इसके बाद एक के बाद कई गाने फरमानी ने रिकॉर्ड किए और वो पॉपुलर होती चली गई. 

इंडियन आइडियल में सिलेक्ट हुई, कुमार शानू के साथ भी गाया

फरमानी की सक्सेस देखकर राहुल ने अपने यूट्यूब चैनल का नाम ही फरमानी नाज़ सिंगर कर दिया और उनकी सैलरी बढाकर 35000 कर दी. 2020 में फरमानी को कुमार शानू के साथ गाना गाने का मौका मिला जिसके लिए उन्हे 45000 रुपये मिले. इसी साल उन्होंने इंडियन आइडियल के लिए भी ऑडिशन दिया और सिलेक्ट भी हो गईं, लेकिन बच्चे के इलाज के चलते वो मुंबई नहीं जा पाई.

अब राहुल ने नाज भक्ति, नाज नज्म और नाज म्यूजिक नाम से तीन और यू-ट्यूब चैनल की शुरुआत कर दी है. इन तीनों चैनल में राहुल, फरमानी और फरमान पार्टनर हैं. फरमानी के पास कभी बच्चे को दूध पिलाने तक के पैसे नहीं थे, लेकिन अब वो अपनी शादी के लिए मायके द्वारा लिया गया 8 लाख का चुका चुकी हैं. घर को भी उन्होंने दोबारा बनवाया.

शिव शंभू गाने पर फतवा जारी करनेवाले उलेमाओं को फरमानी ने दिया जवाब


हर हर शंभू गाने पर देवबंद के उलेमाओं ने फरमानी के खिलाफ नाराज़गी जताई है. उनको जवाब देते हुए वो कहती हैं, “जब मेरे पति ने मुझे छोड़ दिया था तब कहाँ थे ये उलेमा. मैं कलाकार् हूँ और कलाकार का कोई धर्म नहीं होता. मैं कवाली भी गाती हूँ. भक्ति गीत भी गाती हूँ और मुझे सब कुछ खाकर उतना ही आनंद आता है. वो कहते हैं इस्लाम में नाच गाना हराम है, लेकिन मेरे लिए मेरी कला से बढ़कर कुछ नहीं. “

×