पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एक्स्ट्रा निप्पल होना नॉर्मल है? (Why Do I Have Extra Nipple?)

मेरी सहेली बताती है कि उसे एक एक्स्ट्रा निप्पल (Extra Nipple) है. क्या यह नॉर्मल बात है? क्या उसे सर्जरी करानी पड़ेगी या वो इसी तरह रह सकती है. इस बात को लेकर वो बहुत परेशान रहती है. कृपया, बताएं कि क्या सही है. उसे क्या करना चाहिए?

– लता अग्रवाल, सागर.

आपने अपनी सहेली के बारे में जो भी जानकारी दी है, वह कॉमन है. इसमें डरनेवाली कोई बात नहीं है. इस एक्स्ट्रा निप्पल को सुपरन्यूमररी निप्पल कहते हैं. कुछ लोगों में यह जन्मजात भी होता है. सबसे पहले आपकी फ्रेंड को अपना चेकअप करवाना होगा, ताकि पता चल सके कि उन्हें कोई और प्रॉब्लम तो नहीं. एक्स्ट्रा निप्पल को प्लास्टिक सर्जन सर्जरी से निकाल देंगे. इसके लिए बस आपको एक अच्छे प्लास्टिक सर्जन से मिलना होगा.

यह भी पढ़ेंक्या प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा उल्टियां होना नॉर्मल है?

मैं 33 वर्षीया महिला हूं, पर अभी तक मां नहीं बन पाई हूं. कुछ समय पहले मैंने कंसीव किया था, पर ट्यूब में प्रेग्नेंसी होने के कारण तुरंत सर्जरी करवानी पड़ी थी. मुझे यह जानना है कि क्या इसके बाद मैं नेचुरली कंसीव कर पाऊंगी?

– राजेश्‍वरी पांडेय, पालमपुर.

महिलाओं में दो ट्यूब्स होती हैं, जिन्हें फैलोपियन ट्यूब्स कहते हैं. ये क़रीब 10 सेंटीमीटर लंबी होती हैं. ट्यूबरकुलोसिस (टीबी), प्रमेह, सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ और अन्य यौन रोगों के कारण ट्यूब्स में इंफेक्शन हो सकता है या वो पूरी तरह ख़राब भी हो सकती हैं. जैसा कि आपने बताया कि आपकी इमर्जेंसी में सर्जरी की गई थी, दरअसल उसमें आपकी डैमेज्ड ट्यूब निकाल दी गई होगी. सबसे पहले आपकी दूसरी ट्यूब को चेक करना होगा कि उसमें कोई इंफेक्शन तो नहीं, क्योंकि अगर आपकी एक ट्यूब भी
सही-सलामत है, तो आपके नेचुरली कंसीव करने के अभी भी 50% चांसेस हैं. इस बारे में अधिक जानकारी के लिए किसी फर्टिलिटी एक्सपर्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: क्या गर्भाशय का न होना मुमकिन है?

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ से बचने के लिए क्या करें?

  • हर बार सेक्स के दौरान लेटेक्स कंडोम इस्तेमाल करें. कंडोम के साथ-साथ कोई अन्य फैमिली प्लानिंग भी करवाएं.
  • टॉवेल्स या अंडरगार्मेंट्स शेयर करने से बचें.
  • इंटरकोर्स के पहले और बाद में प्राइवेट पार्ट्स को अच्छी तरह साफ़ करें.
  • हेपेटाइटिस बी का वैक्सीनेशन लगवाएं.
  • समय-समय पर एचआईवी की जांच कराते रहें.
  • अगर आपको सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ है, तो पार्टनर से रिलेशन न बनाएं, वरना उसे भी इंफेक्शन हो जाएगा.

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
rajshree.gynoncology@gmail.com 

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

महिलाओं की ऐसी ही अन्य पर्सनल प्रॉब्लम्स पढ़ें

Aneeta Singh :
© Merisaheli