Entertainment

Movie Review: टिपिकल मसाला मूवी है जुड़वां2 (Judwaa2 is Typical Masala Movie)

फिल्मः जुड़वां 2
स्टार कास्टः   वरुण धवन, जैकलिन फर्नांडीज, तापसी पन्नू, अनुपम खेर, राजपाल यादव और सलमान खान
निर्देशकः डेविड धवन
रेटिंगः 2.5
कुछ निर्देशक एेसे होते हैं, जिनकी फिल्म देखते जाते समय दिमाग़ घर पर छोड़ देना चाहिए. डेविड घवन उनमें से ही एक हैं. जुड़वां2 टिपिकल डेविड घवन मूवी है. हम सभी का पता है कि यह फिल्म वर्ष 1997 में रिलीज़ हुई सलमान ख़ान स्टारर जुड़वां की सीक्वल है. लेकिन फिल्म देखने के बाद यह एहसास होता है कि यह सीक्वल नहीं, जुड़वां की रीमेक है. हम सभी को वरुण धवन की कॉमेडी स्किल पर पूरा भरोसा है और हमें उम्मीद थी कि जुड़वां2 में वे हमें हंसा-हंसा कर लोट-पोट कर देगी, और भाईजान की कमी महसूस नहीं होने देंगे, लेकिन अफसोस की बात यह है कि एेसा कुछ नहीं हुआ. फिल्म में वरुण ने बचकाना कॉमेडी की है इसलिए शायद यह फिल्म बच्चों को पसंद आए.

कहानीः धवन राजा और प्रेम नामक जुड़वा भाइयों का किरदार निभा रहे हैं. जिन्हें एक स्मगलर चार्ल्स (जाकिर हुसैन) जन्म के वक्त ही अलग कर देता है. चार्ल्स राजा को किडनैप कर लेता है. राजा का बचपन और जवानी मुंबई में मछुआरों की एक कॉलनी में बीतता है. जबकि प्रेम लंदन में अपने माता-पिता के पास बड़ा होता है जहां उसके पास सारी सुख सुविधाएं मौजूद हैं.जब दोनों जुड़वा भाई मिलते हैं तो कॉमडी की स्थिति पैदा होती है. कहानी में कुछ भी नया नहीं है.फिल्म में वही कुछ हो रहा है जिससे आप लगभग परिचित हैं. हीरो कई मसाला फिल्मों के डायलॉग रिपीट करते हैं. नारियल सिर पर गिरने की वजह से विलेन की याददाश्त चली जाती है और फिर एक फुटबॉल किक से वापस आती है. यहां पर कुछ भी ऐसा नहीं है जिसमें लॉजिक हो या दिमाग लगाना चाहिए, ये चीज तो फिल्म में ढूंढना ही छोड़ दीजिए.


एेक्टिंगः एक फिल्म में दो-दो वरुण धवन देखना उनके फैन्स के लिए डबल ट्रीट है. वरुण धवन ने राजा और प्रेम का किरदार ठीक से निभाया है, और जितनी एेक्टिंग वे कर सकते हैं उन्होंने की है. लेकिन उनकी एेक्टिंग अधिकतर जगहों पर ओवरएेक्टिंग हो जाती है. बात हीरोइनों की करें तो जैक्लिन फर्नांडिस और तापसी पन्नू के
 पास इस फिल्म में करने के लिए कुछ खास नहीं है. वे पर्दे पर आती हैं हीरो के साथ गाना गाती हैं, डांस करती हैं, किस करती हैं और फिर गायब हो जाती हैं. लगता है कि उन्हें ‘चलती है क्या’ और ‘ऊंची हैं बिल्डिंग’ जैसे गानों के लिए ही रखा गया है.
म्यूज़िकः फिल्म के गाने कुछ खास नहीं हैं लेकिन फिर भी फिल्म के दौरान समा बांधने का काम करते हैं.
क्यों देंखेः अगर आपने दशहरा पार्टी का कोई खास प्रोग्राम नहीं बनाया है तो जुड़वां-2 देखकर सेलिब्रेट कर सकते हैं. सलमान खान के फैन हैं तो फिल्म के अंत में एक कैमियो में आपको वह भी दिखाई देंगे.
ये भी पढ़ेंः सोहा बनीं प्यारी-सी बेटी की मॉमी 
Shilpi Sharma

Share
Published by
Shilpi Sharma

Recent Posts

मस्करा निवडताना (When Choosing Mascara)

सुंदर आणि बोलके डोळे, काही बोलण्याआधीच समोरच्याला तुमची ओळख करून देतात. अशी ही नयनांची भाषा…

December 7, 2023

Lonely In The City

Our cities are full of people, our social media list of friends very often run…

December 7, 2023

अखिल भारतीय मराठी नाट्य परिषदेचे १०० वे नाट्य संमेलन, खास या स्पर्धांचे होणार आयोजन ( All India Marathi Theater Council’s 100th Drama Conference, special competitions will be organized )

अखिल भारतीय मराठी नाट्य परिषदेचे शतक महोत्सवी अखिल भारतीय मराठी नाट्य नियोजित संमेलनाध्यक्ष  डॉ. जब्ब्बर…

December 7, 2023

कहानी- अतीत के साये  (Short Story- Ateet Ke Saaye)

भारती वीनू के जाने के बाद स्वयं निढाल सी बैठ गई. स्वयं उसके अंदर इतनी…

December 7, 2023
© Merisaheli