Entertainment

‘अनुपमा’ से पहले कभी किसी अवॉर्ड शो में भाव नहीं मिलता था… 22 साल बाद मिली पहचान, बोलीं रुपाली गांगुली… (‘I Used To Be Ignored During Award Functions, Anupamaa Has Changed My Whole Life…’ Says Rupali Ganguly)

अनुपमा शो जबसे शुरू हुआ है लगातार दर्शकों का दिल जीत रहा है. टीआरपी में हमेशा आगे रहनेवाला ये शो कामयाबी के नए झंडे गाड़ रहा है और इतना ही नहीं इस शो से जुड़े तमाम कैरेक्टर्स को इतनी पॉपुलैरिटी मिली है कि वो अपने रियल नाम कि बजाय शो के किरदार से जाने जाने लगे हैं.

इस शो से सबसे ज़्यादा पहचान मिली रुपाली गांगुली को जो शो में लीड रोल अनुपमा का किरदार निभा रही हैं. ऐसा नहीं है कि रुपाली ने इससे पहले अच्छे शोज़ नहीं किए, वो सालों से टीवी से जुड़ी हैं और सारा भाई वर्सेज़ सारा भाई में मोनीषा बनकर भी उन्होंने काफ़ी वाहवाही लूटी थी. उससे पहले वो संजीवनी में भी काम कर चुकी थीं. लेकिन अनुपमा ने उन्हें जो कामयाबी और पहचान दी है वो इससे पहले उन्हें किसी शो ने नहीं दी.

इसी शो ने उन्हें कई अवॉर्ड्स भी जिताए. हाल ही में एक अवॉर्ड शो आयोजित हुआ जिसमें न सिर्फ़ उन्हें अवॉर्ड मिला बल्कि इवेंट में वो छाई रहीं. गुलाबी ड्रेस में उनका लुक कमाल का था और सारी लाइमलाइट वो चुरा ले गई.

एक्ट्रेस ने हाल ही में एक इंटरव्यू में बरसों पुराना दर्द साझा किया और कहा कि अनुपमा ने उनकी क़िस्मत और ज़िंदगी बदल दी. ऐसा नहीं है कि सारा भाई और संजीवनी ने उन्हें कामयाबी नहीं दी लेकिन वो हमेशा से चाहती थीं कि कोई ऐसा किरदार हो जिसमें वो लीड रोल कर सकें और वो बेहद खुश हैं कि राजन शाही उनके पास इस शो का ऑफर लेकर आए और उन्होंने अनुपमा किया, जिसने उनकी ज़िंदगी बदल दी.

रुपाली ने कहा एक समय था जब मुझे अवॉर्ड शोज़ में इग्नोर और साइडलाइन कर दिया जाता था. अवॉर्ड शो में मुझे भाव नहीं मिलता था लेकिन अब मुझे वो पहचान मिली है. मैं चाहती थी कि किसी शो की लीड बनूं और कोई शो मेरे नाम से चले और पहचाना जाए, पूरे 22 साल बाद मुझे यह पहचान मिली.

Geeta Sharma

Recent Posts

‘मी होणार सुपरस्टार छोटे उस्ताद ३’ मध्ये सिद्धार्थ चांदेकर सूत्रसंचालकाच्या भूमिकेत (Siddhartha Chandekar To Anchor ” Mee Honar Superstar Chhote Ustad 3″ Reality Show)    

मी होणार सुपरस्टार छोटे उस्तादचं तिसरं पर्व १३ जुलैपासून प्रेक्षकांच्या भेटीला येणार आहे. महाराष्ट्राच्या कानाकोपऱ्यातून आलेले…

July 13, 2024

‘डासांची उत्पत्ती रोखणे कठीण’ – प्रतिबंधक उपाय करण्याबाबतच्या परिसंवादात तज्ज्ञांचे प्रतिपादन (Measures And Reforms Discussed In A Conclave To Combat Mosquito Borne Diseases Like Malaria And Dengue)

पावसाळा जोरात सुरू झाला आहे. त्यामुळे डासांचा प्रादुर्भाव झालेला आहे. अन् डेंग्यू, मलेरिया या रोगांचा…

July 13, 2024

कहानी- मुखौटे (Short Story- Mukhaute)

बस अब और नाटक  नहीं. लगा भाभी से लिपटकर ख़ूब रो लूं और बता दूं…

July 13, 2024
© Merisaheli