Romantic

कहानी- आइरिस के फूल (Short Story- Iris Ke Phool)

कुछ देर बाद जब मैं चलने लगा, तो उसने हमेशा की तरह मुझे एक फूल दिया. मैंने पूछा, “हमेशा यही…

कहानी- वजूद (Short Story- Wajood)

प्रीति सिन्हा “एक पुरुष हर पल अपना अस्तित्व जीता है, अपना वजूद नहीं खोता है. भले ही वह कितने ही…

कहानी- पहली बारिश की मुलाक़ात (Short Story- Pahli Barish Ki Mulaqat)

उसके कपडे़ लगभग भीगे हुए थे. कुछ बूंदें उसके चेहरे से फिसलती हुई नीचे गिर रही थीं और कुछ उसके…

कहानी- ये जो हल्का हल्का सुरूर है… (Short Story- Yeh Jo Halka Halka Surur Hai…)

तुम बताओ किसे अच्छा नहीं लगेगा कि कोई उसे परी समझे कि कोई उसे ख़्वाबों की रानी समझे कि कोई…

कहानी- मौसम की शरारत (Short Story- Mausam Ki Shararat)

मैं अभी लड़की की इस प्यारी हरकत का मज़ा लेने की ख़ातिर ज़ेहन में दोहराने ही वाला था कि बछड़ा…

कहानी- एक थी शाहिना (Story- Ek Thi Shaheena)

काफ़ी देर तक मैं फोन पकड़े हुए सोचता रहा. मानो कभी शाहिना की आवाज़, कभी अख़बार की हेडलाइन और कभी…

कहानी- अनकही (Story- Ankahi)

नलिन की मृत्यु के दौरान जो हर रोज़ उसके घर जाने का क्रम चला, तो मैंने उसे आगे भी बरक़रार…

कहानी- फाउल (Story- Foul)

बाप रे! एक भी उत्तर इस तरह नहीं दे रही है कि कोई सुराग मिले. तो क्या व़क़्त आ गया…

कहानी- सिस्टिन चैपल का वह चित्र (Short Story- Sistine Chapel Ka Woh Chitr)

क्या यह प्यार एकतरफ़ा था? शायद नहीं. यक़ीनन नहीं. मैं सोचती थी मैं अपने मन के नहीं दिमाग़ के आधीन…

दिल की बातें… प्रेमपत्र (Dil Ki Baatein… Prempatra)

तुम्हें याद है वो बारिश का मौसम, जब मैं तुमसे पहली बार मिली थी. रिमझिम-रिमझिम फुहारें बरस रही थीं रह-रहकर…

कहानी: …बरसता है (Story: Barasta Hai)

- कुंदनिका कापड़िया "जब हम सबके बीच होते हैं, तो अकेलेपन के भय से घबरा जाते हैं. पर सचमुच अकेलेपन…

हिंदी कहानी- एक प्रेम की परिणति (Short Story- Ek Prem Ki Pariniti)

उसे देख कुछ अचरज हुआ, वो चेहरा कुछ परिचित-सा लगा. कहां देखा है उसे? कुछ याद नहीं आ रहा, तभी…

© Merisaheli