Categories: FILMEntertainment

फिल्म रिव्यूः वॉर (Film Review Of War)

फिल्म: वॉर कलाकार: ऋतिक रोशन, टाइगर श्रॉफ, वाणी कपूर, आशुतोष राणा निर्देशक: सिद्धार्थ आनंद स्टारः 3.5  कहानीः वॉर  की कहानी कबीर (ऋतिक रोशन) और खालिद ( टाइगर श्रॉफ) …

फिल्म: वॉर
कलाकार: ऋतिक रोशन, टाइगर श्रॉफ, वाणी कपूर, आशुतोष राणा
निर्देशक: सिद्धार्थ आनंद
स्टारः 3.5
 कहानीः वॉर  की कहानी कबीर (ऋतिक रोशन) और खालिद ( टाइगर श्रॉफ)  की है.  भारतीय सेना के जांबाज मेजर रहे, कबीर लूथरा अचानक बागी हो जाते हैं. वह एक-एक करके सेना से जुड़े हुए बड़े लोगों को मारने लगते हैं. कबीर को बेकाबू होता देख उन्हें रोकने का जिम्मा उन्हीं के शिष्य रहे कैप्टन खालिद टाइगर श्रॉफ को सौंपा जाता है. खालिद देश पर मर मिटने वाला ऐसा सिपाही है जिसके सिर पर उसके पिता की गद्दारी का दाग होता है, जिसे मिटाने के लिए वह बचपन से मेहनत कर रहा है. कबीर को रोकने के लिए खालिद अपनी ऐड़ी-चोटी का जोर लगा देता है. वह यह जानना चाहता है कि आखिर उसे ट्रेनिंग देने वाले उसके गुरु बागी क्यों हो गए? दोनों के बीच इस मुकाबले में कभी गुरु आगे निकलता है तो कभी शिष्य. कबीर के बागी हो जाने की वजह क्या है? वह क्यों अचानक अपने ही देश का दुश्मन बन गया है? क्या टाइगर श्रॉफ ये वॉर जीतने वाले हैं या ऋतिक रोशन? कहानी का असली विलेन कौन है? इसी तरह के तमाम सवालों का जवाब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी.
एक्टिंगः  वॉर की जान अगर कोई है तो वह ऋतिक रोशन हैं. वे पूरी फिल्म में छाए रहते हैं, और फिर जब वे एक्शन मोड में आते हैं तो आंखें खुली रह जाती हैं. ऋतिक रोशन ने अपनी एक्टिंग और स्वैग से इस ‘वॉर’ को और भी इंटेंस बना दिया है.  टाइगर श्रॉफ ने भी खूब पसीना बहाया है. ऋतिक टाइगर की इंस्पिरेशन रहे हैं और टाइगर ने एक्शन सीन्स में पूरी जान लगाई है. वाणी  कपूर का रोल फिल्म में बहुत छोटा है और साफ पता चलता है कि कहानी में ग्लैमर का तड़का देने के लिए उनकी मौजूदगी अनिवार्य है. आशुतोष राणा ने हमेशा की तरह अच्छा काम किया है. फीमेल सीक्रेट एजेंट के रूप में प्रियंका गोयंका ने भी अच्छा काम किया है.
निर्देशनः फिल्म की सबसे बड़ी ताकत इसका एक्शन और लोकेशन है. ऋतिक और टाइगर के बीच खतरनाक बाइक चेसिंग सीन्स दिखाए गए हैं. निर्देशक सिद्धार्थ आनंद की फिल्म ऐक्शन के मामले में जितनी जबर्दस्त है, कहानी के मामले में उतनी ही कमजोर. हालांकि कहानी कमजोर है और सेकंड हाफ थोड़ा खींचा हुआ भी है. हालांकि, दोनों के स्वैग की वजह से फिल्म बोझिल नहीं हो पाती है.  कहानी का केंद्रबिंदु इस्लामिक आतंकवाद है.  हाई ऑक्टेन स्टंट्स व केरल, मॉल्टा, मोरक्को, ऑस्ट्रेलिया,आर्कटिक सर्कल जैसे 27 देशों के अनदेखे लोकेशंस फिल्म का प्लस पॉइंट हैं.  ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ की जुगलबंदी देखने योग्य है. फिल्म में ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ दोनों ही कमाल के रहे हैं. हालांकि गुरु कहीं-कहीं शिष्य पर भारी पड़ता भी नजर आता. फिल्म में सिर्फ दो गाने हैं लेकिन उनकी कंपोजीशन और लिरिक्स आपका मनोरंजन करने के लिए पर्याप्त रूप से दमदार हैं. विशाल-शेखर ने जय जय शिव शंकर में कमाल कर दिया है.  एक्शन फिल्मों के शौकीन लोगों को यह फिल्म ज़रूर देखनी चाहिए. 

Share
Published by
Shilpi Sharma

Recent Posts

करवा चौथ के लिए 5 न्यू मेहंदी डिज़ाइन्स (Karwa Chauth Special 5 New Mehndi Designs)

करवा चौथ (Karwa Chauth) भारतीय महिलाओं का एक महत्वपूर्ण व्रत है, जिसे देशभर की महिलाएं…

कहानी- दायित्वबोध (Short Story- Dayitvabodh )

एक-दूसरे से मिलने की कल्पनाएं समुद्री लहरों की तरह आकाश को छूने की कोशिश करने…

बिग बॉस 14: राधे मां शो से अचानक क्यों गायब हो गईं, जानें असली वजह (Bigg Boss 14: Why Has Radhe Maa Suddenly Disappeared From The Show?)

टीवी के पॉपुलर और सबसे विवादित शो 'बिग बॉस' के 14 वें सीज़न को शुरू…

© Merisaheli