Categories: FILMEntertainment

रेस्टोरेंट में जॉब करने से लेकर गाड़ियों को साफ करने तक, जब गुज़ारा करने के लिए रणदीप हुड्डा को करने पड़े ये काम (From Working in Restaurant to Cleaning Vehicles, When Randeep Hooda had to do These Things)

बॉलीवुड इंडस्ट्री में कई ऐसे एक्टर हैं, जिन्होंने अपनी एक्टिंग का लोहा तो मनवाया है, बावजूद इसके वो सुपरस्टार्स की लिस्ट में अपना नाम शामिल…

बॉलीवुड इंडस्ट्री में कई ऐसे एक्टर हैं, जिन्होंने अपनी एक्टिंग का लोहा तो मनवाया है, बावजूद इसके वो सुपरस्टार्स की लिस्ट में अपना नाम शामिल कर पाने में असफल रहे हैं. इस लिस्ट में एक्टर रणदीप हुडा का नाम शामिल है. वैसे तो रणदीप ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 2001 में की थी, लेकिन इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के लिए उन्हें करीब नौ साल तक इंतजार करना पड़ा. हालांकि इस मुकाम तक पहुंचने के लिए उन्हें काफी स्ट्रगल भी करना पड़ा. एक वक्त ऐसा भी था जब उन्हें गुज़ारा करने के लिए रेस्टोरेंट में जॉब करने से लेकर गाड़ियों की सफाई करने जैसे काम करने पड़े.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

वैसे रणदीप की फैमिली की बात करें तो उनके पिता एक डॉक्टर हैं, जबकि उनकी मां एक सोशल वर्कर हैं. रणदीप की बड़ी बहन यूएस में डॉक्टर हैं और भाई सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं जो सिंगापुर में सेटल हैं. कहा जाता है कि 8 साल की उम्र में फैमिली ने रणदीप को सोनीपत में एक बोर्डिंग स्कूल में भेज दिया था.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

हालांकि रणदीप को हायर स्टडीज के लिए ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न भेज दिया गया, जहां रणदीप ने बिजनेस मैनेजमेंट और ह्यूमन रिसोर्स में मास्टर डिग्री की पढ़ाई पूरी की. यहां पढ़ाई के दौरान अपना गुज़ारा करने के लिए रणदीप ने चाइनीज रेस्टोरेंट में काम किया, गाड़ियों की साफ-सफाई के अलावा टैक्सी ड्राइविंग जैसे काम भी किए. करीब 2 साल बाद जब वे भारत लौटे तो उन्हें एयरलाइन्स के मार्केटिंग डिपार्टमेंट में नौकरी मिली.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

आपको बता दें कि रणदीप ने साल 2001 में मीरा नायर की फिल्म ‘मानसून वेडिंग’ से फिल्मी दुनिया में कदम रखा था. इस फ़िल्म को दर्शकों की अच्छी प्रतिक्रिया भी मिली थी, बावजूद इसके दूसरी फिल्म पाने के लिए रणदीप को चार साल तक इंतजार करना पड़ा.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

आखिरकार 4 साल लंबे इंतजार के बाद साल 2005 में रामगोपाल वर्मा ने उन्हें फिल्म ऑफर किया. अंडरवर्ल्ड की दुनिया पर आधारित उनकी फिल्म ‘डी’ ने काफी सुर्खियां बटोरीं और दाऊद का किरदार निभाकर रणदीप खासा चर्चा में आ गए, लेकिन फिल्मों के गलत चयन के कारण उन्हें एक बार फिर लंबा इंतजार करना पड़ा और 2010 में आई फिल्म ‘वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई’ ने एक बार फिर से रणदीप को सुर्खियों में ला दिया.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

बताया जाता है कि रणदीप ने अपने करियर की शुरुआत में नसीरुद्दीन शाह का थियेटर ग्रुप ‘मोटली’ जॉइन किया था, लेकिन इसके लिए उन्हें काफी पापड़ बेलने पड़े थे. हालांकि बाद में नसीर साहब ने रणदीप पर सबसे ज्यादा भरोसा दिखाया. उन्होंने न सिर्फ रणदीप की एक्टिंग को तराशने का काम किया बल्कि, फिल्मों को लेकर एक्टर के नज़रिए को बदलने में भी मदद की.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

दरअसल, फिल्म ‘वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई’ से चर्चा में आने के बाद रणदीप ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर’, ‘जन्नत 2’, ‘हाइवे’ और ‘किक’ जैसी कई हिट फिल्मों में नज़र आए, लेकिन फिल्म ‘हाइवे’ में रणदीप ने महावीर भाटी का किरदार निभाकर जैसे हर किसी ला दिल जीत लिया.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

इतना ही नहीं साल 2016 में रिलीज हुई फिल्म ‘सरबजीत’ में रणदीप ने जितनी शिद्दत से अपना किरदार निभाया, उसे देखकर हर कोई दंग रह गया. इस फिल्म के लिए रणदीप ने महज़ 28 दिन में 18 किलो तक वजन कम किया था. भले ही फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कोई खास कमाल नहीं कर पाई, लेकिन रणदीप की एक्टिंग की हर किसी ने जमकर सराहना की.

Recent Posts

क्या बढ़ते प्रदूषण का स्तर मांओं के स्वास्थ्य को प्रभावित कर रहा है? (Are Rising Pollution Levels Affecting The Health Of Mothers?)

दिल्ली का वायु प्रदूषण मुख्य रूप से पूरी सर्दियों में एक गंभीर समस्या बना रहता…

कहानी- जहां चाह वहां राह (Short Story- Jahan Chah Wahaa Raah)

"ऐसे टीम नहीं बनेगी. टीम मेरे हिसाब से बनेगी." सभी बच्चों को एक लाइन में…

डेली ब्यूटी डोज़: अब हर दिन लगें खूबसूरत (Daily Beauty Dose: Easy Tips To Look Chic And Beautiful Everyday)

खूबसूरत तो हम सभी दिखना चाहते हैं और जब भी कोई त्योहार या बड़ा मौक़ा आता है तो हम कोशिश करते हैं कि अपनी ब्यूटी काख़ास ख़याल रखें. शादी के मौक़े पर भी हम अलग ही तैयारी करते हैं, लेकिन सवाल ये है कि सिर्फ़ विशेष मौक़ों पर ही क्यों, हर दिनखूबसूरत क्यों न लगें? है न ग्रेट आइडिया?  यहां हम आपको बताएंगे डेली ब्यूटी डोज़ के बारे में जो आपको बनाएंगे हर दिन ब्यूटीफुल… स्किन को और खुद को करें पैम्पर फेशियल, स्किन केयर और हेयर केयर रूटीन डेवलप करें, जिसमें सीटीएम आता है- क्लेंज़िंग, टोनिंग और मॉइश्चराइज़िंग.स्किन को नियमित रूप से क्लींज़ करें. नेचुरल क्लेंज़र यूज़ करें. बेहतर होगा कि कच्चे दूध में थोड़ा-सा नमक डालकर कॉटनबॉल से फेस और नेक क्लीन करें.नहाने के पानी में थोड़ा दूध या गुलाब जल मिला सकती हैं या आधा नींबू कट करके डालें. ध्यान रहे नहाने का पानी बहुत ज़्यादा गर्म न हो, वरना स्किन ड्राई लगेगी. नहाने के लिए साबुन की बजाय बेसन, दही और हल्दी का पेस्ट यूज़ कर सकती हैं. नहाने के फ़ौरन बाद जब स्किन हल्की गीली हो तो मॉइश्चराइज़र अप्लाई करें.इससे नमी लॉक हो जाएगी. हफ़्ते में एक बार नियमित रूप से स्किन को एक्सफोलिएट करें, ताकि डेड स्किन निकल जाए. इसी तरह महीने में एक बार स्पा या फेशियल कराएं.सन स्क्रीन ज़रूर अप्लाई करें चाहे मौसम जो भी हो. इन सबके बीच आपको अपनी स्किन टाइप भी पता होनी चाहिए. अगर आपकी स्किन बेहद ड्राई है तो आप ऑयल या हेवी क्रीमबेस्ड लोशन या क्रीम्स यूज़ करें.अगर आपको एक्ने या पिम्पल की समस्या है तो आप हायलूरोनिक एसिड युक्त सिरम्स यूज़ करें. इसी तरह बॉडी स्किन  की भी केयर करें. फटी एड़ियां, कोहनी और घुटनों की रफ़, ड्राई व ब्लैक स्किन और फटे होंठों को ट्रीट करें. पेट्रोलियम जेली अप्लाई करें. नींबू को रगड़ें, लिप्स को भी स्क्रब करें और मलाई, देसी घी या लिप बाम लगाएं. खाने के सोड़ा में थोड़ा पानी मिक्स करके घुटनों व कोहनियों को स्क्रब करें. आप घुटने व कोहनियों पर सोने से पहले नारियल तेल से नियमित मसाज करें. ये नेचुरल मॉइश्चराइज़र है और इससे कालापनभी दूर होता है. फटी एड़िययां आपको हंसी का पात्र बना सकती हैं. पता चला आपका चेहरा तो खूब चमक रहा है लेकिन बात जब पैरों की आईतो शर्मिंदगी उठानी पड़ी. फटी एड़ियों के लिए- गुनगुने पानी में कुछ समय तक पैरों को डुबोकर रखें फिर स्क्रबर या पमिस स्टोन से हल्के-हल्के रगड़ें.नहाने के बाद पैरों और एड़ियों को भी मॉइश्चराइज़र करें. चाहें तो पेट्रोलियम जेली लगाएं. अगर पैरों की स्किन टैन से ब्लैक हो है तो एलोवीरा जेल अप्लाई करें.नेल्स को नज़रअंदाज़ न करें. उनको क्लीन रखें. नियमित रूप से ट्रिम करें. बहुत ज़्यादा व सस्ता नेल पेंट लगाने से बचें, इससे नेल्स पीले पड़ जाते हैं.उनमें अगर नेचुरल चमक लानी है तो नींबू को काटकर हल्के हाथों से नाखूनों पर रगड़ें. नाखूनों को नियमित रूप से मॉइश्‍चराइज़ करें. रोज़ रात को जब सारे काम ख़त्म हो जाएं तो सोने से पहले नाखूनों व उंगलियों परभी मॉइश्‍चराइज़र लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें. इससे  ब्लड सर्कूलेशन बढ़ेगा. नेल्स सॉफ़्ट होंगे और आसपास की स्किनभी हेल्दी बनेगी.क्यूटिकल क्रीम लगाएं. आप क्यूटिकल ऑयल भी यूज़ कर सकती हैं. विटामिन ई युक्त क्यूटिकल ऑयल या क्रीम से मसाज करें.नाखूनों को हेल्दी व स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए नारियल या अरंडी के तेल से मालिश करें. इसी तरह बालों की हेल्थ पर भी ध्यान दें. नियमित रूप से हेयर ऑयल लगाएं. नारियल या बादाम तेल से मसाज करें. हफ़्ते में एक बार गुनगुने तेल से बालों की जड़ों में मालिश करें और माइल्ड शैम्पू से धो लें. कंडिशनर यूज़ करें. बालों को नियमित ट्रिम करवाएं. अगर डैंड्रफ या बालों का टूटना-झड़ना जैसी प्रॉब्लम है तो उनको नज़रअंदाज़ न करें.  सेल्फ ग्रूमिंग भी है ज़रूरी, ग्रूमिंग पर ध्यान दें… रोज़ ब्यूटीफुल दिखना है तो बिखरा-बिखरा रहने से बचें. ग्रूम्ड रहें. नियमित रूप से वैक्सिंग, आईब्रोज़ करवाएं. ओरल व डेंटल हाईजीन पर ध्यान दें. अगर सांस से दुर्गंध आती हो तो पेट साफ़ रखें. दांतों को साफ़ रखें. दिन में दो बार ब्रश करें. कोई डेंटल प्रॉब्लम हो तो उसका इलाज करवाएं.अपने चेहरे पर एक प्यारी सी स्माइल हमेशा बनाकर रखें. अच्छी तरह ड्रेस अप रहें. कपड़ों को अगर प्रेस की ज़रूरत है तो आलस न करें. वेल ड्रेस्ड रहेंगी तो आपमें एक अलग ही कॉन्फ़िडेन्स आएगा, जो आपको खूबसूरत बनाएगा और खूबसूरत होने का एहसास भीजगाए रखेगा. अपनी पर्सनैलिटी और स्किन टोन को ध्यान में रखते हुए आउटफ़िट सिलेक्ट करें. एक्सेसरीज़ आपकी खूबसूरती में चार चांद लगा देती हैं. उनको अवॉइड न करें. मेकअप अच्छे ब्रांड का यूज़ करें, लेकिन बहुत ज़्यादा मेकअप करने से बचें. कोशिश करें कि दिन के वक्त या ऑफ़िस में नेचुरल लुक में ही आप ब्यूटीफुल लगें. फ़ुटवेयर भी अच्छा हो, लेकिन आउटफ़िट व शू सिलेक्शन में हमेशा कम्फ़र्ट का ध्यान भी ज़रूर रखें. आपके लुक में ये बहुतमहत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. 

© Merisaheli