Categories: FILMEntertainment

बर्थडे स्पेशल: ग्रेट कपिल पाजी का जवाब नहीं… (Happy Birthday: Great Legend Kapil Dev…)

कपिल देव भारतीय क्रिकेट की दुनिया में किसी देवदूत से कम नहीं थे. उन्होंने भारत को पहला आईसीसी वर्ल्ड कप के साथ-साथ कई यादगार व…

कपिल देव भारतीय क्रिकेट की दुनिया में किसी देवदूत से कम नहीं थे. उन्होंने भारत को पहला आईसीसी वर्ल्ड कप के साथ-साथ कई यादगार व अविस्मरणीय जीत दिलाई है. वे बेहतरीन ऑलराउंडर रहे. उनके हरफनमौला खेल को देख हर कोई प्रभावित होता था. उस पर हमेशा मुस्कुराता चेहरा और हर परिस्थिति में सकारात्मक सोच के कारण उन्हें अन्य खिलाड़ियों से अलग व ख़ास पहचान मिली. आज उनके जन्मदिन पर उनसे जुड़ी तमाम कही-अनकही बातों को जानने की कोशिश करते हैं. सबसे पहले कपिल देव को जन्मदिन बहुत-बहुत मुबारक हो!.. साथ ही ढेर सारी शुभकामनाएं!..

आज रणवीर सिंह ने 62 वर्षीय कपिल देव के संग अपनी कई मनमोहक तस्वीरें-वीडियो शेयर करते हुए उन्हें जन्मदिन की बधाई दी. दरअसल, रणवीर 83 फिल्म कर रहे हैं, जो भारत द्वारा साल 1983 में पहली बार विश्‍व कप जीतने पर आधारित है. इसमें रणवीर कपिल देव की भूमिका में हैं और उनकी पत्नी का क़िरदार दीपिका पादुकोण निभा रही हैं.

यादगार क्रिकेट जर्नी…

* कपिल देव राम लाल निखंज अपने फास्ट बोलिंग और अटैकिंग बैटिंग के लिए जाने जाते थे.

* कपिल के रूप में भारत को पहला बेहतरीन फास्ट बोलर मिला था. ग़ौर करनेवाली बात है कि अपने पहले ही मैच में उन्होंने पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों की हालत ख़राब कर दी थी.

* इस ज़बर्दस्त ऑलराउंडर ने 687 विकेट लेने के साथ-साथ 9037 रन भी बनाए हैं. शिखर पर रहा भारत को अपनी कप्तानी में पहला वर्ल्ड कप जीतने के यादगार पल देना.

* 1983 के वर्ल्ड कप में ही उनके द्वारा जिम्बाब्वे के ख़िलाफ़ खेली गई 175 रन की नाबाद यादगार पारी भी है.

* इससे जुड़ा दिलचस्प वाकया भी है. इस मैच में जब भारत बैटिंग कर रहा था, तब कपिल पाजी स्नान कर रहे थे. लेकिन जल्द ही भारत के 17 रन पर 5 विकेट गिर गए. तब कपिलजी तुरंत छठे नंबर पर बैटिंग के लिए आए और ताबड़तोड़ 138 गेंद पर 175 रन की नाबाद पारी खेल डाली. यह मैच भारत 31 रन से जीता था. आज भी यह पारी भारतीय अविस्मरणीय पारियों में से एक है.

* यह भी रिकॉर्ड है कि टेस्ट करियर के 184 पारियों में कपिल देव कभी भी रनआउट नहीं हुए.

* वे दरियादिल भी ख़ूब थे. जब एक बार कटक टेस्ट में उन्हें मैन ऑफ द मैच दिया गया, तब दिलीप वेंगसरकर नाराज़ हो गए, क्योंकि उन्हें मैन ऑफ द सीरीज़ दिया गया, लेकिन उनका मानना था कि मुश्किल विकेट में उन्होंने 166 रन की पारी खेली थी, तो मैन ऑफ द मैच भी उन्हें ही मिलना चाहिए था. जबकि कपिल देव ने 4 विकेट लेकर अपना 300 विकेट पूरा किया था. ऐसे में उदारता दिखाते हुए देवजी ने अपना अवॉर्ड दिलीप वेंगसकर को दे दिया था.

* कपिल देव रोमांंटिक भी कुछ कम नहीं थे. अपनी पत्नी रोमी भाटिया को उन्होंने चलती ट्रेन में प्रपोज़ किया था. वो भी मज़ेदार अंदाज़ में यह कहते हुए कि क्या हम इस जगह की फोटो ले लें, ताकि भविष्य में अपने बच्चों को यह फोटो तुम दिखा सको.

* देश के इस बेहतरीन कामयाब ऑलराउंडर ने 16 साल के करियर में 131 टेस्ट मैच में 2.78 इकोनॉमी रेट से 434 विकेट लिए और 31.05 की औसत से 5248 रन भी बनाए.

* कपिल देव भारत के ही नहीं, बल्कि विश्‍वभर के एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने ने 400 विकेट लेने के साथ-साथ 5000 रन भी बनाए.

* 16 अक्टूबर, 1978 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ फैसलाबाद में अपना करियर शुरू करनेवाले 19 साल के कपिल 145 की रफ़्तार से गेंद डालते थे. तब पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों को उनकी तूफ़ानी गेंदबाज़ी से बचने के लिए हेलमेट तक मंगवाना पड़ा. आख़िरकार अपने ट्रेडमार्क आउटस्विंग गेंद पर उन्होंने सादिक मोहम्मद के रूप में अपना पहला विकेट लिया.

* कपिल देव की फिटनेस लाजवाब थी. वे कभी भी अपने 16 साल के करियर में घायल या फिर किसी और कारणों से टीम से बाहर नहीं रहे. फिल्डर इतने अच्छे थे कि वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में मदनलाल की गेंद पर पीछे की तरफ़ भागकर बॉउंड्री पर विवियन रिचर्ड्स का कैच पकड़ा था. और वो मैच के टर्निंग पॉइंट में से एक था. तब विव 33 रन बनाकर अच्छा खेेल रहे थे.

* भारत के 1983 वर्ल्ड कप जीत पर बन रही फिल्म 83 में रणवीर सिंह की मेहनत व लगन को देख कपिल देव बेहद प्रभावित हुए. उन्होंने रणवीर की जमकर तारीफ़ की. कपिल के नटराज शॉट की तो रणवीर ने उम्दा कॉपी की है. साथ ही आज के नए कलाकारों की भी सराहना की, जो अपने रोल व अभिनय के लिए कितनी कड़ी मेहनत करते हैं.

* ध्यान दें कि 83 फिल्म केवल कपिल देव पर ही नहीं, बल्कि 1983 वर्ल्ड कप की विश्‍व विजेता भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों की कहानी है इसमें, जैसे- मोहिंदर अमरनाथ, श्रीकांत आदि.

* रणवीर सिंह फिल्म के लिए कपिल देव के क़िरदार की बारीक़ियों को जानने के लिए दिल्ली के उनके घर में कई दिन तक रहे और उनके साथ काफ़ी ख़ूबसूरत पल गुज़ारें.

* वैसे बहुत कम लोगों को मालूम है कि धर्मेंद्र व रति अग्निहोत्री की फिल्म दिल्लगी… यह दिल्लगी में भी कपिल देव ने काम किया था.

* आज भी वे क्रिकेट के अलावा गोल्फ, फुटबॉल खेलना पसंद करते हैं. अक्सर किसी टूर्नामेंट, समारोह, बच्चों आदि के साथ खेलते हुए उनकी तस्वीरें दिखाई देती हैं.

* कपिल देव की बेटी अमिया भी शायद फिल्मों में आए, लेकिन अभी कुछ तय नहीं है.

* उन्हें साल 1979-80 में अर्जुन अवॉर्ड, 1982 में पद्मश्री, 1983 में विसडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर, 1991 में पद्म भूषण, 2002 में विसडन इंडियन क्रिकेटर ऑफ द सेंचुरी से सम्मानित किया जा चुका है.

* कपिल देव के उपलब्धियों व क्रिकेट में बेहतरीन योगदान को देखते हुए उन्हें 24 सितंबर 2008 को भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल का दर्जा भी दिया गया.

* आज भी अपनी बातों, भाषण, व्यवहार आदि से वे हर किसी के दिलों में जोश भर देते हैं. उनकी उपस्थिति ही लोगों को उत्साहित कर देती है. इस महान खिलाड़ी का जोश-उत्साह ताउम्र यूं ही बना रहे, यही दुआ करते हैं.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेHBD: 53 के हुए ए. आर. रहमान (Top 10 Songs: Happy Birthday A. R. Rahman)

Share
Published by
Usha Gupta

Recent Posts

© Merisaheli