Categories: FILMEntertainment

तीन शादियां करने के बाद भी 62 की उम्र में अकेले हैं लकी अली, सिंगर के वायरल वीडियो में उन्हें पहचानना है मुश्किल (Inspite of Marrying Thrice Lucky Ali is All Alone At 62, Its Difficult To Recognize the Singer In Viral Video)

हिंदी सिनेमा के दिग्गज एक्टर महमूद के बेटे और 90 के दशक के बेहतरीन सिंगर और म्यूजिक कंपोजर लकी अली का एक वीडियो इंटरनेट पर…

हिंदी सिनेमा के दिग्गज एक्टर महमूद के बेटे और 90 के दशक के बेहतरीन सिंगर और म्यूजिक कंपोजर लकी अली का एक वीडियो इंटरनेट पर इन दिनों जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें वह अपना एक पुराना गाना ‘ओ सनम…’ गाते हुए नजर आ रहे हैं.

बॉलीवुड के मशहूर सिंगर लकी अली जिन्होंने बॉलीवुड के लिए कई हिट गाने गाए, लेकिन काफी समय से वो लाइमलाइट से दूर गुमनामी की ज़िंदगी बिता रहे थे, लेकिन आजकल उनकी आवाज का जादू एक बार फिर से सोशल मीडिया पर चल रहा है. इंटरनेट पर लकी अली का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह अपना एक पुराना गाना ‘ओ सनम…’ गाते हुए नजर आ रहे हैं. इस ब्लैक एंड व्हाइट वीडियो में लकी अली गिटार के साथ नजर आ रहे हैं. गिटार पर थिरकते उनके हाथ और चेहरे पर मुस्कान लिए जब वह ‘ओ सनम’ गाना गाते हैं तो नजर उन पर से हटती ही नहीं. इस वीडियो में लकी अली को पहचानना मुश्किल है. 62 साल के लकी इस वीडियो में सफेद दाढ़ी में अपनी उम्र से ज्यादा लग रहे हैं.

लकी को देखकर लोग हुए इमोशनल

दरअसल, ‘ओ सनम’ गाना गाते हुए लकी अचानक से उस वक्त रुक जाते हैं, जब ‘मर भी गए तो भूल ना जाना’ वाली लाइन आती है. वो रुककर कैमरे की तरफ देखते हैं और थोड़ा भावुक हो जाते हैं. वीडियो का ये हिस्सा लोगों को इमोशनल कर रहा है. लकी अली को लोग आज भी कितना पसंद करते हैं, इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके इस वीडियो को सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है और देखते ही देखते ये वीडियो वायरल हो गया है.

पिता महमूद से कभी नहीं बनी लकी की

पिता महमूद के साथ लकी अली के रिश्ते कभी सामान्य नहीं थे. महमूद अली 60-70 के दशक में बेहद बिजी एक्टर थे और वे अक्सर शूटिंग के चलते अपने घर से दूर रहा करते थे. उनकी घर से दूरी का आलम ये था कि 10 महीने एक बोर्डिंग स्कूल में बिताने के बाद जब 4-5 साल के अली अपने पिता से मिले थे, तो वो उन्हें पहचान नहीं पाए थे बल्कि उन्होंने ये कहा था कि ये तो फिल्म कॉमेडियन महमूद है. महमूद को उन्होंने कभी पिता के तौर पर जाना ही नहीं, बल्कि एक कॉमेडियन के तौर पर ही पहचानते रहे. शायद यही वजह होगी कि लकी ने कभी अपने पिता का सहारा लेकर काम नहीं मांगा. वह खानाबदोश बैरागी की तरह जीवन जीना पसंद करते रहे.

3 शादियों के बाद भी अकेले हैं लकी अली

अपनी ज़िंदगी अपनी शर्तों पर जीने वाले लकी अली ने तीन शादियां कीं, लेकिन फिर भी आज अकेले हैं. साल 1996 में लकी ने अपनी पहली एलबम ‘सुनो’ में काम करने वाली एक्ट्रेस मेघन जेन मकक्लियरी से लकी ने पहली शादी की. इनके दो बच्चे भी हुए, लेकिन कुछ सालों बाद लकी और मेघन दोनों अलग हो गए. कुछ साल अकेले रहने के बाद लकी अली को फिर से इनाया नाम की एक पर्शियन महिला से प्यार हो गया और इस महिला ने लकी ने दूसरा निकाह किया. दोनों के दो बच्चे भी हुए. लेकिन अली का दिल यहां भी नहीं लगा और उन्होंने इनाया को तलाक दे दिया. साल 2010 में लकी अली को ब्रिटिश की ब्यूटी क्वीन केट एलिजाबेथ से प्यार हो गया और बात शादी तक पहुंच गई. लेकिन दोनों शादियों की तरह लकी का ये रिश्ता भी टूट गया. 62 साल की उम्र में लकी अब अकेले हैं और इन दिनों बंगलूरू में अपना समय गुजार रहे हैं. लकी के साथ उनके बच्चे भी रहते हैं. एक न्यूज़पेपर को दिए इंटरव्यू में खुद लकी ने ये बात कबूली थी कि वो एक शादी या एक औरत पर टिके रहने वाले आदमी नहीं हैं. ” मैंने खुद अपनी पत्नियों को ये बात बताई थी.” कहते हैं कि बेटे की आदत को महमूद भी अच्छी तरह जानते थे, इसलिए लकी की दूसरी वाइफ से उन्होंने खुद कह दिया था कि देखना ये तीसरी शादी भी करेगा.

ज़िंदगी भर न जाने क्या तलाशते रहे लकी

62 साल के इस गायक ने जिंदगी में सब करने की ठान ली थी, वो पहले सिंगर बने, फिर एक्टिंग भी की, फिर उन्होंने घोड़े भी पाले, एक तेल के कुएं पर काम भी किया और कार्पेट भी बेचे. उन्होंने लंबे समय तक खेती भी की और फिर वो वापस गानों की दुनिया में सक्रिय हो गए. एक इंटरव्यू में लकी अली ने बताया था कि मुझे लगता है जैसे मैं कुछ ढूंढ रहा हूं और यही तलाश मेरे संगीत में और मेरे जीवन में दिखती है.

बॉलीवुड से खुश नहीं हैं लकी

लकी अली ने काफी समय से खुद को बॉलीवुड से दूर कर लिया है. इसकी वजह ये है कि वो बॉलीवुड से खुश नहीं हैं. वह कहते हैं ‘अब मैं बॉलीवुड फिल्में नहीं देख सकता. मैं इस बॉलीवुड से बहुत पहले पैदा हुआ था. मैं आर डी बर्मन और मदन मोहनजी जैसे संगीत निर्देशकों के समय में था. यहां तक कि बॉम्बे एक अलग स्थान था. वह सब कुछ यादों में चलता है.‘

Share
Published by
Meri Saheli Team

Recent Posts

अकबर-बीरबल की कहानी: मुर्गी पहले आई या अंडा? (Akbar-Birbal Story: What Came First Into The World, The Egg Or The Chicken?)

एक समय की बात है बादशाह अकबर के दरबार में एक ज्ञानी पंडित आए, वो…

पलक ने श्वेता तिवारी के लिए लिखा स्पेशल नोट, इस बात के लिए अपनी मां को दिया धन्यवाद (Palak Pens a special note for Mother Shweta Tiwari, Says Thank You For This Thing)

टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी और एक्स-हसबैंड अभिनव कोहली के बीच कुछ समय पहले ही सार्वजनिक…

योग- आईवीएफ के दौरान तनाव से लड़ने का कारगर साधन… (Yoga To Reduce Stress And Enhance Fertility)

दुनियाभर के लाखों दम्पति अनेक कारणों से प्रजनन की बढ़ती समस्याओं से जूझ रहे हैं…

© Merisaheli