Entertainment

कैंसर से जूझ रहे जूनियर महमूद से मिलने पहुंचे जितेंद्र और सचिन, पेश की दोस्ती की मिसाल, एक्टर की हालत देखकर नहीं रोक पाए आंसू (Jeetendra, Sachin Pilgaonkar fulfil ailing Junior Mehmood’s wish to meet them, Actor gets teary-eyed as he meets Junior Mehmood)

60 और 70 के दशक के पॉपुलर एक्टर जूनियर महमूद (Junior Mehmood) इस वक्त पेट के कैंसर से जूझ रहे हैं. उनका कैंसर चौथे स्टेज (Junior Mehmood suffers stage 4 stomach cancer) पर पहुंच गया है और उनकी हालत इतनी क्रिटिकल (Junior Mehmood is critical) बनी हुई है कि उन्हें पहचानना भी मुश्किल हो रहा है. एक्टर की बीमारी की न्यूज मिलने पर पिछले दिनों जॉनी लीवर (Johnny Lever) और मास्टर राजू (Master Raju) उनसे मिलने पहुंचे थे. इसके बाद जूनियर महमूद ने अपने बचपन के दोस्त सचिन पिलगांवकर (Sachin) और करीबी यार एक्टर जितेंद्र (Jeetendra) से मिलने की इच्छा जताई थी और उन्हें मैसेज भी भिजवाया था. इसके बाद सचिन और जितेंद्र जूनियर महमूद से मिलने उनके घर पहुंचे. जब जितेंद्र ने जूनियर महमूद को इतने बुरे हाल में देखा तो की बुरी हालत देखी तो अपने आंसुओं पर काबू नहीं रख सके. जितेंद्र ने जूनियर महमूद के सिर पर हाथ फेरा और रो पड़े. 

इस दौरान सचिन ने जूनियर महमूद को मदद की भी पेशकश की. लेकिन महमूद के बच्चों ने मदद से इनकार कर दिया और उनसे अपने पिता के लिए दुआ करने को कहा. उनके एक करीबी फ्रेंड ने ये जानकारी दी.

जूनियर महमूद के साथ सचिन और जितेंद्र की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है. नेटीजंस भी उनकी इस दोस्ती को देखकर इमोशनल हो रहे हैं. एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा, ‘इसे कहते गहरी और सच्ची दोस्ती’. वहीं दूसरे यूजर ने कहा, ‘दोस्ती हो तो ऐसी. अंतिम समय में भी सचिन और जितेंद्र दोस्त से मिलने के लिए पहुंच गए हैं.’ 

बता दें कि जूनियर महमूद ने जितेंद्र के साथ कई फिल्मों में काम किया और उनकी सालों से दोस्ती है, जबकि सचिन उनके बचपन के दोस्त हैं. इसलिए महमूद ने दोनों से मिलने की आखिरी इच्छा जताई थी. 

जूनियर महमूद ने अपने जमाने में राज कपूर को छोड़ कर लगभग सभी सुपरस्टार्स के साथ स्क्रीन शेयर किया है. उन्होंने करीब 256 फिल्मों में अभिनय किया है. उन्होंने  ‘ब्रह्मचारी’, ‘दो रास्ते’, ‘आन मिलो सजना’, ‘कटी पतंग’, ‘हाथी मेरे साथी’ और ‘कारवां’ जैसी कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों में काम किया. उनकी ज्यादातर फिल्में सिल्वर जुबली रही थीं. उनकी तबियत दो महीने से खराब चल रही थी. टेस्ट करने पर उन्हें पेट का कैंसर होने की बात पता चली. उनका कैंसर लिवर और फेफड़ों तक फैल गया है. उन्हें पीलिया भी हो गया था. डॉक्टर्स ने उन्हें 40 दिन का टाइम दिया है, जिसमें से कुछ दिन पहले ही बीत चुके हैं.

Pratibha Tiwari

Recent Posts

जीवनसाथी (Short Story: Jeevansathi)

लता वानखेडेअमृताचे मन या लग्नाला तयार होईना. सागरसारख्या विशाल मनाच्या माणसाला, आपला भूतकाळ लपवून, त्याला…

February 26, 2024

फिल्म समीक्षा: स्पोर्ट्स थ्रिलर एक्शन से भरपूर
‘क्रैक- जीतेगा तो जिएगा’ (Movie Review- Crakk- Jeetegaa Toh Jiyegaa)

पहली बार हिंदी सिनेमा में इस तरह की दमदार एक्शन, रोमांच, रोगंटे खड़े कर देनेवाले…

February 25, 2024

कहानी- अलसाई धूप के साए (Short Story- Alsai Dhoop Ke Saaye)

उन्होंने अपने दर्द को बांटना बंद ही कर दिया था. दर्द किससे बांटें… किसे अपना…

February 25, 2024

आईची शेवटीची इच्छा पूर्ण करण्यासाठी शाहरुखने सिनेमात काम करण्याचा घेतला निर्णय (To fulfill mother’s last wish, Shahrukh decided to work in cinema)

90 च्या दशकापासून आतापर्यंत शाहरुख खानची मोहिनी तशीच आहे. त्याने कठोर परिश्रम करून स्वत:ला सिद्ध…

February 25, 2024
© Merisaheli