Categories: Health & Fitness

मॉनसून में ऐसे रखें अपनी सेफ्टी का ख़्याल (Monsoon Safety Tips)

खुले प्लग व स्विच अगर इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, तो उनके पावर पांइट को बंद करके उन्हें अनप्लग कर दें.  यदि कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ख़राब हो जाए, तो उसे स्वयं खोलने या रिपेयर करने की बजाय इलेक्ट्रिशियन के पास ले जाएं. अर्थिंग के कारण शॉक भी लग सकता है. गीले हाथों और पैरों से इलेक्ट्रिक अप्लायंसेस, स्विच और प्लग को न छुएं. जहां बिजली का बोर्ड है और वहां सीलन आती है या बारिश का पानी आता है, तो उस जगह को ठीक कराएं. विंडो एसी का प्रयोग होने के बाद उसे रिमोट के अलावा मुख्य स्विच से भी बंद करें. घर के इलेक्ट्रिक सर्किट की अर्थिंग होना बहुत जरूरी है. यह बिजली के उपकरणों जैसे फ्रिज, टीवी, प्रेस, कूलर, गीजर आदि में आए करंट से सुरक्षा देता है. बाहर से आने के बाद साबुन से अच्छी तरह से हाथ-पैर धोएं. मच्छरों व कीड़े-मकौड़ों से बचने के लिए फुलस्लीव के कपड़े पहनें. घर के आसपास पानी जमा न होने दें. कूलर और वॉटर टैंक में पानी इकट्ठा होने न दें. 10 दिन में एक बार ज़रूर साफ़ करें. अगर उनमें से पानी निकालना संभव न हो, तो उनमें केरोसिन ऑयल की कुछ बूंदें डालें. और भी पढ़ें: मॉनसून में होनेवाली 10 बीमारियों के लक्षण व उनसे बचने के उपाय (10 Common Monsoon Diseases, Their Treatment & Prevention) घर के आसपास मच्छर भगानेवाले स्प्रे और इंसेक्टिसाइड आदि दवाओं का छिड़काव करें. घर को साफ़-सुथरा और सूखा रखें, ताकि मक्खियां घर में प्रवेश न कर सके. पूरे घर में फिनायल मिश्रित पानी का…

  • खुले प्लग व स्विच अगर इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, तो उनके पावर पांइट को बंद करके उन्हें अनप्लग कर दें.
  •  यदि कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ख़राब हो जाए, तो उसे स्वयं खोलने या रिपेयर करने की बजाय इलेक्ट्रिशियन के पास ले जाएं. अर्थिंग के कारण शॉक भी लग सकता है.
  • गीले हाथों और पैरों से इलेक्ट्रिक अप्लायंसेस, स्विच और प्लग को न छुएं.
  • जहां बिजली का बोर्ड है और वहां सीलन आती है या बारिश का पानी आता है, तो उस जगह को ठीक कराएं.
  • विंडो एसी का प्रयोग होने के बाद उसे रिमोट के अलावा मुख्य स्विच से भी बंद करें.
  • घर के इलेक्ट्रिक सर्किट की अर्थिंग होना बहुत जरूरी है. यह बिजली के उपकरणों जैसे फ्रिज, टीवी, प्रेस, कूलर, गीजर आदि में आए करंट से सुरक्षा देता है.

  • बाहर से आने के बाद साबुन से अच्छी तरह से हाथ-पैर धोएं.
  • मच्छरों व कीड़े-मकौड़ों से बचने के लिए फुलस्लीव के कपड़े पहनें.
  • घर के आसपास पानी जमा न होने दें.
  • कूलर और वॉटर टैंक में पानी इकट्ठा होने न दें. 10 दिन में एक बार ज़रूर साफ़ करें.
  • अगर उनमें से पानी निकालना संभव न हो, तो उनमें केरोसिन ऑयल की कुछ बूंदें डालें.

और भी पढ़ें: मॉनसून में होनेवाली 10 बीमारियों के लक्षण व उनसे बचने के उपाय (10 Common Monsoon Diseases, Their Treatment & Prevention)

  • घर के आसपास मच्छर भगानेवाले स्प्रे और इंसेक्टिसाइड आदि दवाओं का छिड़काव करें.
  • घर को साफ़-सुथरा और सूखा रखें, ताकि मक्खियां घर में प्रवेश न कर सके.
  • पूरे घर में फिनायल मिश्रित पानी का पोंछा लगाएं.
  • बालकनी में रखे गमलों पर पानी जमा न होने दें. उनके नीचे की जगह को सूखा रखें.
  • घर में कचरा इकट्ठा न करें. शाम होने तक सारा कचरा बाहर फेंक दें.
  • खाने-पीने की चीज़ें खुला न छोड़ें.
  • बाहर से आने के बाद हाथ-पैर साबुन से धोकर तौलिए से पोंछकर बैठे.

  • खाने से पहले हाथों को साबुन से धोएं.
  • बारिश में भीगने के बाद गीले शरीर को सूखे तौलिए से पोंछकर कपड़े बदलें.
  • भीगने के बाद कुलर और एसी में न बैठे. कुलिंग वाली जगह पर बैठने से सर्दी-जुकाम हो सकता है.

  • त्वचा पर किसी भी तरह का फंगल इंफेक्शन होने पर तुरंत एंटी फंगल पाउडर, साबुन या क्रीम लगाएं.
  • तेज़ बारिश में ड्राइविंग करते समय सावधानी बरतें. घर से निकलने से पहले रेन वाइपर चेक कर लें, ताकि विंडस्क्रीन पर पड़नेवाली बारिश की बूंदें साफ़ की जा सकें.

और भी पढ़ें:  मॉनसून डायट टिप्स (Monsoon Diet Tips)

–  देवांश शर्मा

Share
Published by
Poonam Sharma

Recent Posts

#HBD: जानें बर्थडे गर्ल पीवी सिंधु की ये दिलचस्प बातें… (Happy Birthday To PV Sindhu)

भारतीय महिला बैडमिंटन में आज सबसे बड़ा नाम हैं सिंधु, उनके जन्मदिन पर मेरी सहेली…

गुरुपूर्णिमा की शुभकामनाएं! (Happy Gurupurnima 2020)

गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु, गुरुर्देवो महेश्‍वरः गुरुः साक्षात परब्रह्म तस्मै श्रीगुरुवे नमः आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष…

© Merisaheli