Story

व्यंग्य- कुत्ता कहीं का… (Satire Story- Kutta Kahin Ka…)

गांव के कुत्ते और शहर के डॉगी में वही फ़र्क होता है, जो खिचड़ी और पिज़्ज़ा में होता है. कुत्ता…

पंचतंत्र की कहानी: आलसी गधा (Panchatantra Tales: The Lazy Donkey)

एक गांव में एक मेहनती और साधारण व्यापारी रहता था. उसके पास एक गधा था. व्यापारी अपने गधे से बहुत…

व्यंग्य- डाॅगी कल्चर (Satire Story- Doggy Culture)

तुम समझती क्यूं नहीं, मैं आधुनिक युग के डाॅगी कल्चर की बातें कर रहा हूं. जहां यह डाॅगी भी घर…

रंग तरंग- श्रमजीवी से परजीवी तक (Rang Tarang- Shramjivi Se Parjivi Tak)

पीने को मयस्सर है मेरे देश में सब कुछ वो सब्र हो या खून ये क़िस्मत की बात है… आंदोलन…

व्यंग्य- शादी का एल्बम (Satire Story- Shadi Ka Albam)

मेहराजी शादी की एल्बम और वीडियो फिल्म न बनने से काफ़ी ख़ुश हैं. उनका निजी अनुभव है कि जब-जब उन्होंने…

रंग तरंग- कहो ना चोर है… (Satire Story- Kaho Na Chor Hai…)

एक समर्थक चोर को सूचना दे रहा है, "पिछली रात सुकई चाचा के घर में चोर घुसा और सब कुछ…

व्यंग्य- दे दे प्यार दे… (Satire Story- De De Pyar De…)

इश्क़ का साइड इफेक्ट देखिए. लोग कहते हैं इश्क़ अंधा होता है. मै नहीं मानता. लैला-मजनू, रोमियो-जूलियट, शिरीन-फरहाद और हीर-रांझा…

व्यंग्य- भाग्य, सौभाग्य और दुर्भाग्य…(Satire Story- Bhagya, Saubhagya Aur Durbhagya…)

तोते ने घूर कर देखते हुए कहा, "कोई फ़ायदा नहीं. इसकी फटेहाल जैकेट देखकर मैं इसका भाग्य बता सकता हूं.…

व्यंग्य- पैसा बोलता है… (Satire Story- Paisa Bolta Hai…)

इंसान तो सिर्फ़ मुंह से बोलता है, पर पैसा चारों तरफ़ से बोलता है. पैसा चाहे कार की ड्राइविंग सीट…

व्यंग्य- डेढ़ कुंटल का लेखक…(Satire Story- Dhedh Kuntal Ka Lekhak…)

"क्या लिखते हो?" "व्यंग्य" "कितना लिखा है?" "कभी गिनकर नहीं देखा." ''गिनने को कौन कह रहा. कभी तौल कर नहीं…

व्यंग्य- मांगने का हुनर (Satire Story- Maangane Ka Hunar)

आजकल सब्ज़ीवाले से धनिया-मिर्ची नहीं मांगनी चाहिए. वैसे ही पडोसी से प्यार और नेता से उपहार न मांगने में ही…

व्यंग्य- सूर्पनखा रिटर्न (Satire Story- Surpnakha Return)

"भइया, मेरी नाक फिर कट गई." रावण को बिल्कुल हैरानी नहीं हुई. उसने नॉर्मल लहज़े में पूछा, "तुम नाक लेकर…

© Merisaheli