Categories: Top Stories Others

गुड मॉर्निंग से पहले ख़ुद से पूछें ये 5 सवाल (5 Inspiring And Motivational Thoughts To Start Your Day)

जैसे पृथ्वी के भीतर गुरुत्वाकर्षण की अद्भुत शक्ति होती है, ठीक उसी प्रकार हमारे भीतर भी आकर्षण की महाशक्ति मौजूद…

जैसे पृथ्वी के भीतर गुरुत्वाकर्षण की अद्भुत शक्ति होती है, ठीक उसी प्रकार हमारे भीतर भी आकर्षण की महाशक्ति मौजूद होती है. आकर्षण की इस शक्ति का प्रयोग करके हम अपने जीवन को और ख़ुशहाल व सकारात्मक बना सकते हैं और जिसकी शुरुआत हमें हर रोज़ सुबह करनी चाहिए. क्या हैं वे सकारात्मक बातें और सवाल, आइए जानते हैं.

करें सुबह की शुभ शुरुआत

–   सुबह आंखें खुलने पर एकदम झटके से न उठें.

–   भले ही आप अलार्म की आवाज़ के साथ उठते हैं, फिर भी दो मिनट तक बिस्तर पर यूं ही लेटे रहें.

–   उठते ही कामों की लिस्ट याद करने की बजाय सबसे पहले ईश्‍वर का नाम लेकर उन्हें धन्यवाद दें.

–   अगले एक मिनट में ख़ुद से कुछ सवाल पूछें, ताकि आपका पूरा दिन ऊर्जा और जोश से भरपूर हो.

–   कोशिश करें कि मुस्कुराएं और अपनी मुस्कुराहट को कुछ देर तक बनाए रखें.

–  अगर शरीर में कहीं तकलीफ़ है, तो भी मुस्कुराएं और ख़ुद से कहें कि आप जल्दी ही दर्दमुक्त हो जाएंगे.

पूछें ये 5 जादुई सवाल

हर सुबह हमारा नया जन्म होता है और हर दिन नई उम्मीदें, आशाएं और अवसर लेकर आता है. कभी-कभी ईश्‍वर हमें अपने चमत्कारों से आश्‍चर्यचकित कर देते हैं. जो आपने सोचा भी नहीं होता, वो भी आपको मिल जाता है. ऐसे में यह जादुई एहसास वाकई बहुत ख़ास होता है. तो आइए आपको भी बता दें कि कौन-से हैं वो पांच जादुई सवाल, जो आपको हर दिन पूछने चाहिए.

  1. मैं कैसा महसूस कर रहा/रही हूं?

–   आपके दिन की शुरुआत सेहत से होनी चाहिए, क्योंकि सेहत से बढ़कर कुछ भी नहीं.

– सबसे पहले ख़ुद से पूछें कि मैं कैसा महसूस कर रहा हूं? क्या मेरा शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य दुरुस्त है? मेरे शरीर में कहीं कोई तकलीफ़ तो नहीं? कहीं तनाव का असर मेरी मेंटल हेल्थ पर तो नहीं पड़ रहा?

–   इस बारे में सवाल करने पर आप इस तरफ़ ध्यान देंगे, क्योंकि आज भी बहुत-से लोग इमोशनल और मेंटल हेल्थ को उतनी तवज्जो नहीं देते.

–   अगर आपको कहीं भी ऐसा लग रहा है कि आप कमतर पड़ रहे हैं, तो थोड़ी और कोशिश करें और ख़ुद को ख़ुश व स्वस्थ रखें.

  1. आज का दिन कैसा होगा?

–   दूसरा सवाल ख़ुद से करें कि आज का दिन कैसा होगा. यक़ीनन हर दिन अपने साथ बहुत कुछ नया लेकर आता है.

–   आज का दिन मेरे लिए ढेरों ख़ुशियां लेकर आ रहा है. मैं ख़ुश हूं और दिनभर यह ख़ुशी, जोश और उत्साह बना रहेगा.

–   आज का दिन भी अपने साथ बहुत कुछ अच्छा लेकर आएगा. आज मैं अपने कुछ अधूरे वादे पूरे करने की कोशिश करूंगा.

  1. आज कौन-सी ख़ुशख़बरी मिलेगी?

–   दिनभर ख़ुद को उत्साहित रखने के लिए अपने दिन की शुरुआत इसी सवाल से करें. यक़ीन मानिए इस सवाल के साथ ही आपके चेहरे पर एक बड़ी-सी मुस्कान खिल जाएगी.

–   जो भी आप पाना चाहते हैं, उसकी एक लिस्ट अपनी आंखों के सामने लाएं और सोचें कि इसमें से ही एक ख़ुशख़बरी आज मुझे मिलेगी.

–   आपकी वाइब्स उस ख़ुशख़बरी को लाने के लिए सुबह से ही काम पर लग जाती हैं और जल्द ही आपको वो ख़ुशी नसीब होती है.

  1. क्या झुंझलाने से सब ठीक हो जाएगा?

–   बहुत-से लोग बीते हुए कल की समस्याओं, ईर्ष्या और नफ़रत जैसे नकारात्मक विचारों को ढोकर अगले दिन भी ले आते हैं और नए दिन की शुरुआत भी उसी नकारात्मकता से करते हैं.

–   अब बस दो मिनट के लिए शांत मन से सोचें कि झुंझलाने से क्या समस्या हल हो जाएगी? यक़ीनन जवाब ना में ही होगा. तो फिर ‘रात गई बात गई’ वाला फॉर्मूला अपनाएं और नए दिन की एक बेहतरीन नई शुरुआत करें.

  1. किस बात से मुझे सबसे ज़्यादा ख़ुशी मिलती है?

–  मोटिवेशनल स्पीकर्स की मानें, तो 100 में से 95 लोग इस पहलू की ओर ध्यान ही नहीं देते. माना कि आप अपनों से बहुत प्यार करते हैं और उनकी ख़ुशी के लिए ही सब कुछ करते हैं, पर अपनी ख़ुशी का भी ख़्याल रखें, वरना धीरे-धीरे आपके भीतर हताशा-निराशा घर करने लगेगी.

–   हर सुबह ख़ुद से अपनी ख़ुशियों के बारे में सवाल करें और उन्हें पूरा करने की ईमानदारी से कोशिश करें.

–   कुछ लोगों को लगता है कि ‘चल रहा है ना’ चलने दो, लेकिन ज़िंदगी ख़ुशी-ख़ुशी जीने के लिए है, चलाने के लिए नहीं, इसलिए अपनी ख़ुशियों को ख़ास तवज्जो दें.

–   छोटी-छोटी चीज़ें, जैसे- पानीपूरी खाना, आईस्क्रीम खाना, दोस्त को कॉल करना, किसी से दिल खोलकर बातें करना, झूला झूलना, पेड़ों को छूकर उनसे बातें करना आदि करके भी आप ख़ुश हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें: 10 तरह के चुगलखोर: कैसे करें इनसे डील (10 Types Of Snitches You Must Know)

थैंक्यू कहें, ख़ुश रहें

–   रोज़ाना सोकर उठने पर सबसे पहले ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि आप ज़िंदा हैं, क्योंकि यही एक चीज़ है, जिसे लोग सबसे ज़्यादा ग्रांटेड लेते हैं. रोज़मर्रा की ज़िंदगी में हम अक्सर ऐसे उदाहरण देखते हैं, जहां अचानक ही आपके जान-पहचान के लोग यूं ही दुनिया छोड़कर चले जाते हैं, फिर भी हम अपने जीवन को ग्रांटेड लेते हैं.

–   शुक्रिया अदा करें कि आप स्वस्थ हैं, क्योंकि जब आप अस्वस्थ होते हैं, तो जल्द से जल्द ठीक होना चाहते हैं, पर ठीक होते ही अपने शरीर को अनहेल्दी फूड और माइंड को निगेटिव बातों और स्ट्रेस से भर देते हैं और फिर बीमार पड़ जाते हैं, इसलिए ख़ुश हो जाएं कि आप स्वस्थ हैं. आपकी सकारात्मक सोच आपको सकारात्मक ऊर्जा देती हैं, जिससे आप और अच्छा महसूस करते हैं.

–   धन्यवाद दें कि आपके पास नौकरी या व्यवसाय है, जिसके कारण आप स्वाभिमान के साथ अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण कर पा रहे हैं, वरना बाहर बहुत-से लोग बेरोज़गार घूम रहे हैं, जिसके कारण वो डिप्रेशन का शिकार भी हो रहे हैं.

–   ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि आपका परिवार है, दोस्त-रिश्तेदार हैं. आपके चाहनेवाले आपसे प्यार करते हैं, आपकी परवाह करते हैं, आपको स्पेशल फील कराने के लिए कुछ न कुछ करते रहते हैं, जबकि बहुत-से लोग अकेले हैं और अकेलापन उनकी ज़िंदगी को खोखला बना रहा है.

–   मुश्किल समय हमें बहुत कुछ सिखाता है. जब हम सबसे ज़्यादा मुसीबत में होते हैं, तब अपनी बहुत-सी पुरानी ग़लतियां याद आती हैं. बुरे हालात हमें लड़ने की ताक़त देते हैं. हमें सब्र और हिम्मत से काम लेना सिखाते हैं. ईश्‍वर को धन्यवाद दें कि उन्होंने आपको चैंलेंजेस दिए, वरना आप अपनी काबीलियत कभी पहचान ही नहीं पाते.

5 पावरफुल पैकेजेस 

हम आपकी भागदौड़ को अच्छी तरह समझते हैं, इसलिए अगर आपको लगता है कि आप रोज़ाना ये सवाल नहीं पूछ सकते, तो कोई बात नहीं आप हफ़्ते में तीन दिन सवाल के लिए रखें और तीन दिन पावरफुल पैकेजेस के लिए. सुबह सोकर उठने पर ये कहें-
1. मैं बेस्ट हूं.
2. मैं यह कर सकता हूं.
3. ईश्‍वर मेरे साथ हैं.
4. मैं विजेता हूं.
5. आज का दिन मेरा है.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: सर्वगुण संपन्न बनने में खो न दें ज़िंदगी का सुकून (How Multitasking Affects Your Happiness)

यह भी पढ़ें: क्या आप भी बहुत जल्दी डर जाते हैं? (Generalized Anxiety Disorder: Do You Worry Too Much?)

Aneeta Singh

Recent Posts

इमोशनल अत्याचार: पुरुष भी हैं इसके शिकार (#MenToo Movement: Men’s Rights Activism In India)

जिस तरह सारे पुरुष बुरे नहीं होते, उसी तरह सारी महिलाएं बेचारी नहीं होतीं. कई महिलाएं पुरुषों को इस कदर…

कहानी- सफ़र (Short Story- Safar)

  “अपने से कमतर ओहदे और वेतनवाले जीवनसाथी के साथ हंसते-खेलते पूरी ज़िंदगी जी जा सकती है, लेकिन ऐसी कमतर…

पढ़ाई में न लगे बच्चे का मन तो करें ये 11 उपाय (11 Ways To Increase Concentration Power In Kids)

आजकल पढ़ाई के बढ़ते दबाव और टेक्नोलॉजी के बढ़ते प्रभाव के कारण बच्चे पढ़ाई से जी चुराने लगे हैं या…

क्यों पुरुषों के मुक़ाबले महिला ऑर्गन डोनर्स की संख्या है ज़्यादा? (Why Do More Women Donate Organs Than Men?)

जब किडनी ख़राब होने से बेटे की जान ख़तरे में थी, तो उसके सिरहाने उसकी मां खड़ी थी, जब उसे…

टीवी एक्ट्रेस रश्मि देसाई को मिला नया बॉयफ्रेंड? (Rashami Desai finds love again in actor Arhaan Khan)

एक्टर नंदिश संधू से 2015 में तलाक लेने के बाद अब रश्मि देसाई के जीवन में प्रेम की वापसी हो…

करोड़ों ऑफर किए जाने के बाद भी इस प्रोडक्ट का विज्ञापन करने से शिल्पा शेट्टी ने किया इंकार (Shilpa Shetty REFUSES to endorse This Product)

शिल्पा शेट्टी का नाम सुनते ही हम फिटनेस के बारे में सोचने लगते हैं. 44 की उम्र में भी शिल्पा…

© Merisaheli