अकबर-बीरबल की कहानी… तीन सवाल (Akbar-Birbal Tale: 3 Weird Questions)

अकबर-बीरबल की कहानी... तीन सवाल (Akbar-Birbal Tale: 3 Weird Questions) बीरबल की समझदारी के किस्से काफ़ी मशहूर थे और वो अकबर के प्रिय भी थे,…

अकबर-बीरबल की कहानी… तीन सवाल (Akbar-Birbal Tale: 3 Weird Questions)

बीरबल की समझदारी के किस्से काफ़ी मशहूर थे और वो अकबर के प्रिय भी थे, इसलिए अक्सर लोग उनसे ईर्ष्या करते थे. एक बार राजा अकबर के दरबार के कुछ लोगों ने बीरबल से जलकर उन्हें चुनौती दी और कहा कि अगर बीरबल हमारे 3 सवालों के जवाव दे देंगे, तो हम मान लेंगे कि बीरबल बहुत होशियार हैं.

दरबारियों ने आगे कहा कि लेकिन अगर बीरबल इन सवालों के जवाब नहीं दे पाए, तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना होगा.
बीरबल ने यह चुनौती मंज़ूर कर ली और तीनों सवाल पूछने को कहा…
सवाल इस तरह थे-

1. आकाश में कितने तारे हैं आपको बताना होगा?
2. धरती का केंद्र कहां है?
3. दुनिया में कितनी औरतें और कितने आदमी हैं?

यह भी पढ़ें: पंचतंत्र की कहानी: चालाक लोमड़ी और मूर्ख कौआ


इन सवालों को सुनकर बीरबल मन ही मन मुस्कुराए और शांति से जवाब देने लगे…

पहले सवाल के जवाब में बीरबल एक भेड़ को ले आए और दरबारियों से कहा कि इस भेड़ के शरीर पर जितने बाल हैं, ठीक उतने ही आकाश में तारे हैं. आपको यदि विश्‍वास न हो, तो आप गिन सकते हैं.

दूसरे सवाल के जवाब में बीरबल ने 2 रेखाएं खींची और उसमें लोहे की छड़ी डाल दी और कहा कि यही धरती का केंद्र है. जिसे यकीन न हो, वह नाप सकता है.

और तीसरे सवाल के जवाब में बीरबल ने कहा कि यह सवाल थोड़ा मुश्किल है, क्योंकी मेरे कुछ दरबारी मित्रों के बारे में कहना मुश्किल है कि वह औरत है या आदमी, अगर उनको मार दिया जाए, तो इसका जवाब दिया जा सकता है.

बीरबल के जवाब सुनकर राजा बेहद ख़ुश हुए और उन्हें चुनौती देनेवाले भी समझ गए कि बीरबल के आगे किसी की खिचड़ी नहीं पकने वाली, क्योंकि उनकी बुद्धिमता का कोई सानी नहीं.

सीख: ऐसी कोई समस्या नहीं, जिसका समाधान न हो और ऐसा कोई सवाल नहीं, जिसका जवाब न हो… बस अपनी सूझबूझ और बुद्धिमता का इस्तेमाल करना ज़रूरी है.

 

Share
Published by
Geeta Sharma

Recent Posts

काजोल ने ट्रोलर्स से निपटने के लिए अपने बच्चों को दिया ये दमदार मंत्र (Kajol Gave This Powerful Mantra To Her Children To Deal With Trollers)

सोशल मीडिया ने जहां लोगों की जिंदगी काफी आसान कर दी है, वहीं इससे लोगों…

कहानी- आस (Short Story- Aas)

“सिया, तुम कोरी भावुकता में बह रही हो. हमारी तो यह इकलौती संतान है. हमें…

© Merisaheli