बर्थ एनिवर्सरीः टेनिस प्लेयर बनना चाहते थें जॉय मुखर्जी (Birth Anniversary of joy mukherjee)

सुपरहिट फिल्म लव इन टोक्यो से हिंदी फिल्मों में अपनी अलग छवि बनाने वाले मशहूर अभिनेता जॉय मुखर्जी की बर्थ एनिवर्सरी के मौ़के पर आइए, आपको बताते हैं उनसे जुड़ी कुछ ख़ास बातें.

* मशहूर फिल्मी ख़ानदान से ताल्लुक रखने वाले जॉय मुखर्जी मशहूर निर्माता सशधर मुखर्जी के बेटे थे. अशोक कुमार और किशोर कुमार उनके मामा थे.

* जॉय का इरादा टेनिस खिलाड़ी बनकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्धि पाने का था, लेकिन जब वह बी.ए. की पढ़ाई कर रहे थे तभीे एक दिन उनके पिता ने पूछ लिया कि वह ज़िदगी में करना क्या चाहते हैं? इस सवाल के साथ ही उन्होंने जॉय के सामने फिल्म हम हिंदुस्तानी का कॉन्ट्रैक्ट रख दिया.

* जॉय ने ये सोचकर फिल्म साइन कर ली कि चलो अच्छी पॉकेटमनी मिल जाएगी, मगर जब फिल्म का ट्रायल शो हुआ, तो प्रिव्यू थियेटर से वो भागकर घर आ गए. स्क्रीन पर वो अपनी एक्टिंग और लुक को बर्दाशत नहीं कर पाएं.

* इस फिल्म के बाद उन्हें कई और फिल्मों के ऑफर मिलने लगे. बस फिर क्या था उनका टेनिस प्लेयर बनने का सपना तो धरा का धरा रह ही गया, बी.ए. में भी वो थर्ड क्लास पास हुए.

* धीरे-धीरे फिल्मी दुनिया उन्हें रास आने लगी. उनकी दूसरी फिल्म लव इन शिमला सुपरहिट रही. इस फिल्म में साधना उनकी हीरोइन थी. इस फिल्म की सफ़लता के साथ ही वो सुपरस्टार बन गए और लोगों के बीच साधना का हेयरस्टाइल पॉप्युलर हो गया. साधना की ये पहली हिंदी फिल्म थी.

* इस फिल्म के हिट होने के बाद जॉय को जो भी फिल्में मिली अधिकाश लव स्टोरीज़ ही थीं.

* लव इन शिमला के बाद उन्होंने लव इन टोकियो, शागिर्द, एक मुसाफिर एक हसीना और एक बार मुस्करा दो जैसी कई लव स्टोरी वाली फिल्में की.

* परदे पर अपनी लवर बॉय वाली इमेज से परेशान होकर जॉय मुखर्जी ने डायेरक्शन में हाथ आज़माया, मगर सफ़ल न हो सकें.

* जॉय को फिल्म इंडस्ट्री का ग्लैमर पसंद नहीं आता था, फैन से मिलना, हाथ मिलाना उन्हें ज़रा भी अच्छा नहीं लगता था.

* अपनी को-स्टार के साथ उनके संबंध हमेशा अच्छे रहें. वैजयंतीमाला का वो बहुत आदर करते थे, लेकिन उनके सबसे रिश्ते बहुत प्रोफशनल थे. उनकी दोस्ती फिल्म की शूटिंग शुरू होने से लेकर द एंड तक बनी रहती, मगर इसके कहीं कोई धुआं नहीं उठता था.

* 2012 में 73 साल की उम्र में उनका निधन हो गया.

– कंचन सिंह

Kanchan Singh :
© Merisaheli