Family Health

अपने घर को रखें हेल्दी इन होम हाइजीन टिप्स से, ताकि बनी रहे आपके घर की सेहत! (Smart Home Hygiene Tips: Keep Your Home Healthy And Safe)

बदलते मौसम में ही नहीं बल्कि हमेशा ही होम हाइजीन बेहद ज़रूरी होती है ताकि घर रहे सुरक्षित और कीटाणु मुक्त औरहम रहें हेल्दी. यहां हम होम हाइजीन के वो आसान टिप्स बता रहे हैं जो पता तो हम सबको होते हैं लेकिन कभी लापरवाहीके चलते तो कभी समय ना होने का बहाना करके हम उन्हें नज़रअंदाज़ करते रहते हैं. बेहतर होगा आप इन्हें अपनाकरसुरक्षित रहें और घर को हेल्दी रखें. सबसे पहले डोर हाइजीन ज़रूरी है. घर के बाहर डोर मैट ज़रूर रखें वो भी अच्छी क्वालिटी का. उसे समय समय पर क्लीन करें. डोरबेल को सैनिटाइज़ करें नियमित रूप से क्योंकि उसे कई तरह के लोग छूते हैं और उनके ज़रिए कीटाणु घर में याहमारे शरीर में प्रवेश कर सकते हैं.दरवाज़े को भी क्लीन करें. एंटीबैक्टीरियल स्प्रे से दरवाज़े को साफ़ करें. घर में नियमित रूप से डस्टिंग करें, ताकि धूल मिट्टी ना जम पाए और आपको हेल्दी माहौल मिले.सीलिंग और दीवारों को साफ़ रखें ताकि मकड़ी जाले ना बना पाए.पंखों की सफ़ाई भी उतनी ही ज़रूरी है.एसी की सर्विसिंग भी नियमित रूप से करवाएँ.सोफ़ा कवर और बेडशीट्स भी समय समय पर धोएँ क्योंकि उनमें भी कीटाणु पनप कर आपको बीमार कर सकते हैं.तकिए के कवर की भी सफ़ाई करें. इन सबको क्लीन करें. अगर वैक्यूम क्लीनर नहीं हो तो झाड़पोंछकर बिछाएँ बिस्तर. इसी तरह से फ़र्नीचर और बाक़ी के समनों की भी डस्टिंग करें.घर में बर्तन या बाल्टी में पानी भरकर ना रखें, जमा पानी में मछर-मक्खी पनप कर कई बीमारी दे सकते हैं.बाथरूम को भी गीला ना रखें. नहाने के बाद उसे सूखा कर दें.बाल्टी और मग प्लास्टिक के होते हैं उन्हें नियमित रूप से बदलते रहें और उन्हें साफ़ भी करते रहें. नल और बेसिन को भी साफ़ करते रहें. बेसिन में फिनाइल की गोलियाँ डालकर रखें.टूथब्रश एरिया को भी साफ़ करते रहें. वहाँ की सफ़ाई को भी लोग नज़रअंदाज़ करते हैं.परदों की सफ़ाई का भी ख़्याल रखें. खिड़कियाँ खुली रखें ताकि सूरज की रोशनी व ताज़ा हवा आ सके. सूरज की रोशनी से भी कीटाणु मरते हैं और ताज़ा हवा आपको फ्रेश फील देती है.किचन की सफ़ाई का भी पूरा ध्यान रखें क्योंकि यह सबसे महत्वपूर्ण जगह होती है.खाना बनाने से पहले बरतों को धोकर इस्तेमाल करें क्योंकि रात को कोकरोच बरतनों पर घूमकर उनमें संक्रमणछोड़ सकते हैं और आपको बीमार कर सकते हैं.सब्ज़ियों को धोकर बनाएँ.कटिंग बोर्ड को साफ़ रखें. नॉनवेज के लिए अलग से बर्तन व कटिंग बोर्ड रखें.फ्रिज को समय समय पर साफ़ करें और उसमें सामान ठूँसकर ना भरें. अक्सर लोग ऐसा करते हैं और सालों तकफ्रिज की सफ़ाई तक नहीं करते.किचन में एग्ज़ॉस्ट फैन ज़रूर होना चाहिए. सही वेंटिलेशन हेल्दी कुकिंग के लिए ज़रूरी है.किचन सिंक की सफ़ाई भी उतनी ही ज़रूरी है. सिंक में खाने के कण जमा ना होने दें.बाथरूम और टॉयलेट को भी नियमित रूप से साफ़ करें. सिर्फ़ साबुन-पानी से धोकर चमकाना ही ज़रूरी नहीं बल्किडिसइंफ़ेक्ट करना भी बेहद ज़रूरी है.तौलिए भी साफ़ रखें. उन्हें भी नियमित रूप से धोएँ.अलमारी को समय समय पर साफ़ करें और उसमें फिनाइल की गोलियाँ रखें. फर्नीचर के पीछे और नीचे भी काफ़ी कचरा जमा हो जाता है इसलिए ज़रूरी है कि उन्हें हटाकर वहाँ की सफ़ाई कीजाए.शूरैक की सफ़ाई को अक्सर लोग नज़रअंदाज़ करते हैं लेकिन वहाँ भी काफ़ी कीटाणु पनपते हैं इसलिए उसकाध्यान रखें.खिड़कियों के आसपास भी मकड़ी के जाले बन जाते हैं इसलिए वहाँ की सफ़ाई को भूलें नहीं.बालकोनी को स्टोर रूम ना बना दें. उसे क्लीन रखें और ध्यान रहे कि वहाँ से मछर-मक्खी अंदर ना आएँ इसलिएज़रूरी उपाय करें.अगर किसी रूम की दीवार में सीलन आती है तो इसे फ़ौरन ठीक करवाएँ क्योंकि इससे सांस की बीमारी हो सकतीहै और जिनको अस्थमा है उनकी तकलीफ़ बढ़ सकती है.दरवाज़ों में या किसी भी चीज़ पर ज़ंग लगा हो तो उसके उपाय करें क्योंकि यह ख़तरनाक हो सकता है.मेटल्स की नियमित सफ़ाई करते रहें और घर में मेटल क्लीनर रखें.इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि हर जगह के कलीनिंग प्रोडक्ट्स आपके पास होने चाहिए, चाहे फ्लोर हो, किचनहो, बाथरूम, डिशवाश सोप, हैंडवाश, फिनाइल, फिनाइल और कपूर की गोलियाँ आदि.पोछा और किचन का नैपकिन भी क्लीन रखें, इन्हें समय समय पर बदलते भी रहें. स्टोर व कंटेनर्स हो सके तो प्लास्टिक का यूज़ ना करें और अगर करें तो उन्हें नियमित रूप से बदलते रहें.यही नियम फ्रिज की बोतलों पर भी लागू होता है.बहुत सारा सामान एक जगह डम्प करके ना रखें. सामान और कमरा जितना व्यवस्थित होगा उतना ही आसान होगाउन्हें साफ़ रखना.कलीनिंग का एक नियम बना लें और उसी के अनुसार काम करें.रात के जूठे बर्तन सुबह के लिए ना रखें. बेहतर होगा उन्हें तभी धो लें वर्ना उनमें कोकरोच, मच्छर, चींटियाँ औरमक्खी आ सकते हैं.घर को इन सभी से मुक्त रखने के ज़रूरी उपाय करें. घर पर ही बनाएँ फ्लोर क्लीनर, जानें ईज़ी रेसिपी एक लीटर पानी में कपूर की गोलियाँ डालें, उसमें ३-४ चम्मच नमक और एक चम्मच विनेगर मिला लें. इसको स्टोरकर लें. जब भी इस्तेमाल करना हो एक ढक्कन क्लीनर को बाल्टी के पानी में मिला लें.दो कप गर्म पानी में आधा-आधा कप वाईट वीनेगर और रबिंग अलकोहोल मिला लें. इसमें ३-४ बूँदें लिक्विड डिशसोप की मिलाकर यूज़ करें. गर्म पानी में ओलिव ऑयल और नींबू का रस मिलाकर भी क्लीनर बनाया जा सकता है.नींबू का रस और विनेगर को भी पानी में मिक्स करके क्लीनर बनाया जा सकता है.सबसे सिंपल है कि पोछा लगाते वक़्त बाल्टी में एक दो चम्मच नमक मिला लें. यह भी क्लीनर का काम करता है.गर्म पानी में बेकिंग सोडा और विनेगर मिला लें, चाहें तो लिक्विड डिश सोप भी मिक्स कर लें.आधा कप ब्लीच पानी में मिलाकर डिसइंफेक्टेंट तैयार किया जा सकता है.गर्म पानी में विनेगर मिलाकर भी क्लीनर तैयार किया जा सकता है. इन क्लीनर्स में चाहें तो अपनी पसंद का एसेंशियल ऑयल भी मिक्स कर सकते हैं.

स्वस्थ मन के लिए 11 ईज़ी इफेक्टिव वास्तु ट्रिक्स… (11 Easy Effective Vastu Tricks For Positive Mind…)

हर किसी की ख़्वाहिश रहती है कि वह स्वस्थ रहें और फिट रहें. इसके लिए योग, प्राणायाम, हेल्दी लाइफस्टाइल काफ़ी…

हेल्दी लिविंग के सीक्रेट और स्मार्ट सूत्र! (Healthy Living: Secrets And Sutras For Healthy Life)

हेल्दी तो हम सभी रहना चाहते हैं लेकिन कुछ छोटे छोटे सूत्र हैं जिन पर हम ध्यान ही नहीं देते, अगर ये सूत्र और सीक्रेट हमसमझ जाएँ तो हेल्दी रहना आसान हो जाए.  आइए जानते हैं इन्हीं सीक्रेट सूत्रों को- सकारात्मक रहें और अपना महत्व समझें. खुद पर ध्यान देना ज़रूरी है इस तथ्य को समझ लें.दूसरों के लिए जीना अच्छी सोच है लेकिन उससे पहले खुद के लिए जीना सीखें.आप हेल्दी रहेंगे तभी तो दूसरों के लिए भी कुछ कर पाएँगे.हाईड्रेटेड रहें ताकि शरीर में पानी व नमी की कमी ना हो. पानी ज़हरीले तत्वों को बाहर करता है और पाचन क्रियाको बेहतर बनाता है.फ़िज़िकली एक्टिव रहें. एक्सरसाइज़ व योगा करें. आप भले ही कितना भी हेल्दी खा लें पर जब तक शरीर कोक्रियाशील नहीं रखेंगे तब तक कहीं न कहीं कोई कमी रह ही जाएगी. रोज़ाना कम से कम आधा घंटा कसरत करें. जॉगिंग और वॉकिंग करें.लिफ़्ट की बजाए सीढ़ियों का इस्तेमाल करें. यह रूटीन आपकी मांसपेशियों को लचीला बनाएगा और पाचन कोबेहतर. ध्यान और योगा भी कर सकते हैं. मेडिटेशन से ब्रेन में हैप्पी हार्मोंस रिलीज़ होते हैं और एक नई ऊर्जा का एहसासहोता है.ध्यान रहे फ़िज़िकल एक्टिविटी की कमी से क़ब्ज़ जैसी समस्या हो सकती है. हेल्दी खाना खायें. अपने दिन की शुरुआत पोषण भरे नाश्ते से करें. भले ही लंच ठीक से ना करें लेकिन नाश्ता अच्छी तरह और हेल्दी करेंगे तो फ़ैट्स से बचेंगे.रिसर्च बताते हैं कि जो लोग नाश्ता करते हैं उनका एनर्जी लेवल अधिक होता है और वो दिनभर ऐक्टिव बने रहते हैं.जंक फूड से बचें. हेल्दी खाना खाएँ. मंचिंग के लिए भी हेल्दी ऑप्शन पर ध्यान दें. फ़्राइड सनैक्स की बजाए ड्राई फ़्रूट्स, बेक्ड फ़ूड रखें.स्ट्रेस ना लें, क्योंकि तनाव पूरे शरीर पर नकारात्मक प्रभाव डालता है. इस से गैस, ऐसिडिटी, क़ब्ज़ जैसी समस्या होसकती है.स्ट्रेस के कारण पेट में रक्त व ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है जिससे पेट में ऐंठन, जलन जैसी समस्या होनेलगती है, साथ ही पेट में मैजूद हेल्दी बैक्टीरिया में भी असंतुलन आने लगता है. शराब व कैफेन का सेवन कम करें क्योंकि यह भीतर से शरीर को ड्राई और डीहाईड्रेट करते हैं.अपने भोजन में साबूत अनाज, गाजर, ब्रोकोली, नट्स, मकई, बींस, ओट्स, दालें व छिलके सहित आलू को शामिलकरें.मौसमी फल खाएँ और अपने खाने में हर रंग की फल-सब्ज़ियाँ शामिल करें.दही व छाछ का सेवन करें, क्योंकि इनमें हेल्दी बैक्टीरिया होते हैं जो पेट और आँतों को स्वस्थ रखते हैं.पनीर का सेवन करें क्योंकि यह वज़न को भी नियंत्रित रखने में कारगर है.हफ़्ते में एक या दो दिन अपनी क्रेविंग्स के लिए रखें. मनपसंद कुछ खाएँ क्योंकि अगर आप बहुत ज़्यादा स्ट्रिक्टडायट करते हो तो बहुत ज़्यादा समय तक उसको फ़ॉलो कर पाना बेहद मुश्किल है.हेल्दी सूप को अपने डायट का हिस्सा बनाएँ. किचन में मौजूद मसाले भी बहुत हेल्दी होते हैं , काली मिर्च, दालचीनी, लौंग, इलाइची,धनिया आदि को खाने में शामिल करें. अगर गले में ख़राश या सिर में दर्द हो तो चटकीभर दालचीनी पाउडर को पानी के साथ लें. यही नहीं दालचीनी वज़नभी कम करती है. इसे सलाद या दही में मिलाकर ले सकते हैं. यह मुँहासों को भी कम करता है. दालचीनी पाउडर कोपानी में मिलाकर पेस्ट तैयार करें और अप्लाई करें.अगर कफ़ की समस्या हो तो सरसों के तेल में लहसुन और सेंधा नमक मिलाकर गुनगुना करें और सीने पर मालिशकरें.वज़न को नियंत्रण में रखें क्योंकि बढ़ता वज़न कई बीमारियों को जन्म देता है. हार्ट से लेकर ब्लड प्रेशर औरडायबिटीज़ तक जैसी समस्याएँ बढ़ते वज़न के कारण हो सकती हैं.वज़न कम करने के लिए छोटे गोल्स सेट करें और धैर्य ना खोएँ.वज़न कम करने में नींबू और शहद बेहद कारगर हैं. गुनगुने पानी में रोज़ सुबह खाली पेट सेवन करें.स्पोर्ट्स, स्विमिंग या डांस क्लास से जुड़ सकते हैं.अपने शौक़ को ज़रूर पूरा करें, उन्हें मरने ना दें, क्योंकि यही शौक़ आपको जीवंत बनाए रखते हैं.पर्सनल हाइजीन से लेकर ओरल हाइजीन तक के महत्व को समझें और उनपर ध्यान भी दें. हेल्दी सोशल लाइफ़ मेंटेन करें, क्योंकि इससे आपको अकेलापन और डिप्रेशन नहीं होगा. लोगों की मदद करें यहआपको बेहतर महसूस कराएगा.पार्टी करें, दोस्तों से मिलें और रिश्तों में इंवेस्ट करें.धोखा ना दें क्योंकि यह आपमें अपराधबोध की भावना को जन्म देगा और आप भीतर से अनहेल्दी मेहसूस करेंगे.ज़िम्मेदारी लेना सीखें, यह आपमें आत्मविश्वास बढ़ाएगा.नींद पूरी लें, यह आदत आपको कई तरह के तनावों से बचाएगी और साथ ही दिनभर ऊर्जावान रखेगी. साथ ही यहडिप्रेशन जैसी नकारात्मक भावनाओं से भी आपका बचाव करती है.ओवर ईटिंग और ओवर स्लीपिंग से भी बचें, ये आपको अनहेल्दी बनाती हैं.बहुत ज़्यादा टीवी ना देखें, यह आपको आलसी और इनएक्टिव तो बनाएगा ही साथ ही रिसर्च बताते हैं कि ज़्यादाटीवी देखने वालों की लाइफ़ कम होती जाती है. इसी तरह मोबाइल और बहुत ज़्यादा सोशल साइट्स पर भी ना बने रहें. ये आपके रिश्तों की सेहत के लिएहानिकारक है जिसका असर आपने शरीर पर भी पड़ता है.कुकिंग थेरेपी आज़माएँ. रिसर्च के अनुसार जब आप खुद खाना बनाते हैं तो स्ट्रेस कम होता है, आप बेहतर महसूसकरते हैं, क्रिएटिव बनते हैं और हेल्दी रहते हैं.नए दोस्त बनाएँ और हो सके तो पेट्स रखें. ये आपको खुश और हेल्दी रखने में मदद करते हैं.खुश होने का मौक़ा ना छोड़ें. बड़ी चीज़ों की बजाए छोटी छोटी चीज़ों में ख़ुशियाँ देखें. यह आपको सकारात्मकबनाती है और मन के संतोष को दूर करती हैं.ये तमाम बातें आपको पहले से ही पता होती हैं लेकिन कमी सिर्फ़ जज़्बे की होती है. बेहतर होगा बिना देर किएआज से ही हेल्दी लाइफ़ के इन सीक्रेट और सूत्रोंको अमल में लाया जाए. सरस्वती शर्मा यह भी पढ़ें: हेल्थ अलर्ट- मास्क पहनते समय इन…

हेल्थ अलर्ट- मास्क पहनते समय इन बातों का रखें ख़्याल… (Health Alert- The Do’s And Don’ts When It Comes To Masks…)

कोरोना के कारण महामारी के इस दौर में मास्क अब हर किसी के जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन चुका…

हर रोज़ दूध पीने के इन चमत्कारी फ़ायदों के बारे में नहीं जानते होंगे आप.. (Benefits Of Milk That You Never Knew When You Drink It Every Day)

दूध दुनिया के सबसे सेहतमंद प्रोडक्ट्स में से एक है, जिसका सेवन दुनियाभर में किया जाता है. कैल्शियम, विटामिन डी,…

त्योहारों के बाद बढ़ गया है वजन, तो इन 8 तरीकों से करें बॉडी को डिटॉक्स (8 Ways To Detoxify Your Body After The Festive Season)

त्योहार बीत चुके हैं, लेकिन अभी भी मिठाइयां और शाही व्यंजनों को खाने का दौर चल रहा है. त्योहरों में…

दिवाली मनाएं, पर हेल्थ को भी इग्नोर न करें. रहें सेफ और हेल्दी (15 Tips For Healthy And Safe Diwali)

कोरोना के चलते इस साल वैसे भी पटाखों का बाज़ार ठंडा है, लेकिन फिर भी कहीं न कहीं लोग निर्देशों…

फिट और हेल्दी रहने के 5 बेहतरीन आयुर्वेदिक ट्रिक्स… (Top 5 Ways To Stay Fit And Healthy- According To Ayurveda)

आपका फिटनेस लक्ष्य जो भी हो, आप इसे आयुर्वेद तरीक़े से प्राप्त कर सकते हैं. सुनने में अच्छा लग रहा…

पुरुष बांझपन के कारण और उन्हें कैसे दूर किया जाए? (Male Infertility- Symptoms, Causes And Treatment)

दुनियाभर में लगभग 8-12 फ़ीसदी जोड़ों को बांझपन यानी इन्फर्टिलिटी की समस्या का सामना करना पड़ता है. इसमें 40-50 फ़ीसदी…

हेल्थ अलर्ट- आयरन की कमी और एनीमिया की चुनौती… (Iron Deficiency Anaemia- A Clinical Challenge…)

आयरन की कमी से होनेवाला एनीमिया दुनियाभर में ख़तरनाक रूप से चिंता का विषय बनता जा रहा है. आमतौर पर…

हेल्थ अलर्ट: ब्रेस्ट कैंसर- जानें कारण, लक्षण और उपाय… (Health alert: Breast Cancer- Causes, Symptoms And Remedies)

ब्रेस्ट कैंसर यानी स्तन कैंसर भारतीय महिलाओं में कैंसर के कारण होनेवाली मौतों के मुख्य कारणों में से एक है.…

कोरोना के दौर में पीसीओएस से ग्रसित महिलाएं यूं बिताएं स्वस्थ जीवन… (Polycystic Ovary Syndrome (PCOS) Management During Corona)

कोरोना की मौजूदा महामारी हमारे समय के सबसे बड़े स्वास्थ्य संकट में से एक है, जिसने इस वर्ष की शुरुआत…

© Merisaheli