कैसे हो नए ऑफिस में सेटल? (How To Settle Into a New Office?)

नए ऑफिस (New Office) में एडजस्ट (Adjust) होना आसान नहीं होता. नए माहौल के साथ ख़ुद को बेहतरीन साबित करने का प्रेशर भी आप पर…

नए ऑफिस (New Office) में एडजस्ट (Adjust) होना आसान नहीं होता. नए माहौल के साथ ख़ुद को बेहतरीन साबित करने का प्रेशर भी आप पर रहता है. यदि आपने भी हाल ही में जॉब बदला (Job Change) है या बदलने की सोच रहे हैं, तो नए ऑफिस में ख़ुद को एडजस्ट करने के लिए किन-किन बातों का रखें ध्यान? आइए हम आपको बताते हैं.

  1. सहकर्मियों से घुले-मिलें

    हो सकता है अपनी काबिलीयत के बल पर आपको नए ऑफिस में बेहतर पोस्ट मिली हो, मगर इसका मतलब यह नहीं कि आप बाकी सहकर्मियों से बात तक न करें. हो सकता है बाकी सहकर्मी आपसे ख़ुद बात न रें, ऐसे में बेझिझक बातचीत की पहल करें. ऐसा करने से लोगों की नज़रों में आपकी इज़्ज़त बढ़ेगी.

2. एडजस्ट
माहौल को देखते हुए ख़ुद को एडजस्ट करने की कोशिश करें. आपको अनुसार बाकी लोग एडजस्ट हों, ये भ्रम निकाल दें. ऑफिस के रूल्स-रेगुलेशन्स को फॉलो करें.

3. तुलना करने की ग़लती न करें.


नए ऑफिस के रूल्स आपके पुराने ऑफिस से हू ब हू मिलते हों, ये ज़रूरी नहीं. ऐसे में नए ऑफिस के सहकर्मियों के साथ दोनों ऑफिस की तुलना करना शुरू न कर दें. जैसे- हमारे पुराने ऑफिस में ये सुविधाएं थीं, पर यहां तो नहीं है. ऐसा करने से मैनेजमेंट को लगेगा कि आप कर्मचारियों के भड़का रही हैं और आपकी नौकरी खतरे में पड़ सकती हैं.

और भी पढ़ें: करियर में कामयाबी के लिए अपनाएं सही एटीट्यूड (5 Proven Tips For A Successful Career)

4. सकारात्मक रवैया अपनाएं
इस बात का ध्यान रखें कि ऑफिस में आपका रवैया सकारात्मक हो. हमेशा हंसते-मुस्कुराते हुए ऑफिस में दाखिल होने की कोशिश करें.विचारों के साथ बॉडी लैग्वेज से भी सकारात्मकता दर्शाएं. किसी भी बात पर नकारात्मक प्रतिक्रिया न दें. इसी तरह किसी भी काम के लिए ना नुकुर न करें.

5. ईमानदारी से काम करें

इस बात का ध्यान रखें कि व्यक्तिगत रिश्तों की तरह व्यावसायिक रिश्ते में विश्‍वास की जरूरत होती है. एक बार अगर आपने मैनेजमेंट का विश्‍वास खो दिया तो आप उसे दोबारा नहीं पा सकती हैं. अत: अपना काम ईमानदारी से करें, ताकि ऑफिस में सभी के बीच सिर उठाकर रह सके.

6. अपनी अक्ल लगाएं
किसी दूसरे सहकर्मी की बातों में आकर अन्य सहकर्मियों के बारे में कोई भी अवधारणा न बनाएं. अगर आप दूसरों की बातों में आकर कोई ग़लत निर्णय लेती हैं, तो हो सकता है कि आपका ये निर्णय भविष्य में कोई समस्या खड़ी कर दे.

7. गॉसिप से बचे
ऑफिस में गॉसिप करने से आपकी छवि ख़राब हो सकती है. अगर न चाहने पर भी कोई आपको गॉसिप में शामिल करना चाहे तो उसे साफ़ तौर पर मना कर दे कि आपकी गॉसिपिंग में कोई रुचि नहीं है.

8. पर्सनल बातें शेयर न करें


किसी भी सहकर्मी की व्यक्तिगत ज़िंदगी के बारे में जानने की कोशिश करना आपकी छवि को बिगाड़ सकता है. ऐसे में न अपनी व्यक्तिगत बातें दूसरों के साथ शेयर न करें और न ही उनसे पूछे. अगर आप ऐसा करते हैं, तो आप अनप्रोफेशनल कहलाने के साथ ही ऑफिस में गॉसिप का मुद्दा बन सकती हैं.

9. अनुभव से सीखें
किसी चीज़ से तंग आकर या किसी कारणवश अगर आपको अपना पुराना ऑफिस छोड़ना पड़ा, तो उसी ग़लती को यहां नए ऑफिस में न दोहराएं. अगर आप ऐसा करती हैं,तो फिर से नए ऑफिस में भी आपको उन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

और भी पढ़ें: ऑफिस पॉलिटिक्स से दूर रहने के 8 स्मार्ट टिप्स (8 Smart Tips To Deal With Office Politics)

Recent Posts

नवरात्रि स्पेशल- समस्त इच्छाओं को पूर्ण करनेवाली स्कन्दमाता (Navratri Special- Worship Devi Skandmata)

ख्यात्यै तथैव कृष्णायै धूम्रायै सततं नमः या देवी सर्वभूतेषु माँ स्कन्दमाता रूपेण संस्थिता नमस्तस्यै नमस्तस्यै…

फिट रहने के लिए जिम से ज़्यादा योगा पर भरोसा करती हैं ये एक्ट्रेसेस! (Bollywood Actresses Who Chose Yoga Over Gym)

शिल्पा शेट्टी: शिल्पा के सेक्सी फिगर पर ना जाने कितने मरते हैं और हर लड़की…

कंगना रनौत ने शेयर कीं भाई अक्षत के प्री-वेडिंग सेलेब्रेशन्स की तस्वीरें (Kangana Ranaut Shares Pictures Of Brother Akshat’s Pre-Wedding Celebrations)

अपने बेबाक बयान और बिंदास अंदाज़ के लिए चर्चित बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत पिछले कुछ…

नवरात्रि स्पेशल- आदिदेवी कूष्मांडा (Navratri Special- Devi Kushmanda)

या देवी सर्वभूतेषु माँ कूष्माण्डा रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।। देवी कूष्मांडा अष्टभुजा…

© Merisaheli