Categories: FILMEntertainment

कंगना रनौत ने स्टार किड्स पर एक बार फिर साधा निशाना, बोलीं- उबले अंडे लगते हैं(Kangana Ranaut Takes A Dig At Star Kids, Says- They Look Like Boiled Eggs)

हर मुद्दे पर बिंदास बेबाक तीखे बयान देकर अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देनेवाली और कंट्रोवर्सियल स्टेटमेंट देकर हमेशा विवादों में रहनेवाली पंगा गर्ल…

हर मुद्दे पर बिंदास बेबाक तीखे बयान देकर अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देनेवाली और कंट्रोवर्सियल स्टेटमेंट देकर हमेशा विवादों में रहनेवाली पंगा गर्ल कंगना रनौत बॉलीवुड में नेपोटिज्म पर भी खुलकर बोलती रही हैं और नेपोटिज्म के बहाने कंगना ने एक बार फिर स्टार किड्स पर निशाना साधा है और उन्हें उबला हुआ अंडा बोल दिया है.

नेपोटिज्म पर निकाली भड़ास

कंगना रनौत हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान साउथ सिनेमा और उनके स्टार पर बात कर रही थीं, उसी दौरान उन्होंने ये बात कही है. उनका कहना है कि साउथ सिनेमा के स्टार की तुलना में बॉलीवुड के स्टार किड्स से जुड़ने में दर्शकों को मुश्किल होती है.

स्टार किड्स को कहा उबले हुए लगते

कंगना ने साउथ के एक्टर्स की तारीफ करते हुए कहा कि साउथ स्टार्स जिस तरह से दर्शकों से कनेक्ट करते हैं, वह बहुत ही मजबूत है. हमारे साथ क्या होता है कि उनके बच्चे यानी स्टार किड्स अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए विदेश चले जाते हैं. वे अंग्रेजी में बात करते हैं, केवल हॉलीवुड फिल्में देखते हैं. चाकू और कांटों से खाते हैं और अलग तरीके से बात करते हैं. तो वे यहाँ के ऑडिएंस से कैसे कनेक्ट करेंगे? ये बच्चे देखने में भी अजीब से ऐसे लगते हैं जैसे उबले हुए अंडे. उनका पूरा लुक बदला हुआ होता है, इसलिए लोग रिलेट नहीं कर पाते. मैं किसी को ट्रोल नहीं करना चाहती.’

की साउथ एक्टर्स की तारीफ

कंगना ने साउथ एक्टर अल्लू अर्जुन की फिल्म ‘पुष्पा’ की तारीफ की और अल्लू अर्जुन की मिसाल देते हुए कहा- ‘देखो पुष्पा कैसे दिखता है जिसे हम जानते हैं, हर मजदूर उससे जुड़ पा रहा है. बताओ आज के समय में हमारा कौन सा हीरो मजदूर की तरह लगता है? वे ऐसा कर ही नहीं पाते. साउथ के एक्टर्स अपनी संस्कृति और ज़मीन से जुड़े हुए हैं. इसलिए वो अपने ऑडिएंस से कनेक्ट कर पाते हैं. मुझे उम्मीद है कि वे बॉलीवुड से प्रेरणा लेना शुरू नहीं करेंगे. अपने लोगों से ज़मीनी स्तर पर जुड़े रहना जरूरी है.’

दरअसल पिछले कुछ महीनो में तेलुगु और कन्नड़ इंडस्ट्री की फिल्मों ‘पुष्पा'(Pushpa), ‘आरआरआर (RRR)’ और ‘केजीएफ: चैप्टर 2 (KGF Chapter 2)’ ने रिकॉर्ड तोड़ कमाई की है, जबकि पिछले दो सालों में रिलीज हुई ज्यादातर बॉलीवुड फिल्मों ने एवरेज बिज़नेस भी नहीं किया है. कंगना साउथ फिल्म इंडस्ट्री की इसी कामयाबी की तुलना बॉलीवुड से कर रही थीं और उनको लगता है कि ऐसा इसलिए है क्योंकि दर्शक स्टार किड्स को पसंद नहीं करते हैं, जिन्हें कई हिंदी फिल्मों में ऐसे ही ले लिया जाता है. इसी बहाने कंगना ने बॉलीवुड में नेपोटीजम भी अपनी भड़ास निकाल ली.

Recent Posts

कहानी- एक पवित्र पाप (Short Story- Ek Pavitra Paap)

“ये कहो अगर मैं इस बार प्रेम ऋतु में न आया होता तो…” मेघ ने…

© Merisaheli