Categories: FILMEntertainment

मूवी रिव्यूः छिछोरे, मनोरंजन के साथ-साथ संदेश भी (Movie Review Of Chhichhore)

फिल्मः छिछोरे कलाकार- सुशांत सिंह राजपूत, श्रद्धा कपूर, वरुण शर्मा, तुषार पांडे, नवीन पॉलिशेट्टी, ताहिर भसीन, प्रतीक बब्बर. निर्देशक- नितेश तिवारी स्टार्स- 3.5 ये कहानी है इंजीनियरिंग की…

फिल्मः छिछोरे
कलाकार- सुशांत सिंह राजपूत, श्रद्धा कपूर, वरुण शर्मा, तुषार पांडे, नवीन पॉलिशेट्टी, ताहिर भसीन, प्रतीक बब्बर.
निर्देशक- नितेश तिवारी
स्टार्स- 3.5

ये कहानी है इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके अनिरुद्ध पाठक, माया और उनके दोस्तों सेक्सा, एसिड, मम्मी, डेरेक और बेवड़ा की. अनिरुद्ध और माया (श्रद्धा कपूर) का एक बेटा है, राघव, जो अपने मां-बाप की तरह इंजीनियरिंग करने का सपना लिए जी रहा है. एंट्रेंस एग्जाम्स में जब राघव का सिलेक्शन नहीं हो पाता, तो वह इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाता और दोस्त की बिल्डिंग से कूदकर जान देने की कोशिश करता है. खुदकशी की कोशिश में उसके दिल-दिमाग पर गहरी चोट लगती है. अनिरुद्ध जब बेटे को हाथों से जाता हुआ देखता है, तो बेटे को बचाने के लिए अपने हॉस्टल डेज के दौर में ले जाता है और उसे लूजर की कहानी सुनाता है. हॉस्टल में माया के प्यार के साथ उसे सेक्सा( वरुण शर्मा), डेरेक (ताहिर राज भसीन), एसिड (नवीन पॉलीशेट्टी), बेवड़ा (सहर्ष शुक्ला), क्रिस क्रॉस( रोहित चौहान), मम्मी (तुषार पांडे) जैसे जिगरी दोस्तों की दोस्ती मिलती है, तो रेजी (प्रतीक बब्बर) जैसे अव्वल स्टूडेंट की राइवलरी. सुशांत और उनके दोस्त इस कहानी के साथ बेटे को ठीक करने की कोशिश करते हैं. इस तरह इस फिल्म की मदद से फिल्म के निर्देशक नितेश तिवारी ने ‘छिछोरे’ को एक इंस्पिरेशनल फिल्म बनाने की कोशिश की है, और इसमें यह संदेश देने की कोशिश की गई है कि बच्चों को सिर्फ जीतने ही नहीं, अगर वह हारते हैं तो उसके बाद क्या करना चाहिए वह भी समझाना चाहिए.

दंगल के डायरेक्टर नितेश तिवारी कितनी बढ़िया फिल्में बनाते हैं, ये हम सभी को पता है. नितेश ने जिस तरह से इस कहानी को सामने रखा है और जो सीख देने की कोशिश है, वो तारीफ के लायक है. निर्देशक ने व्यावसायिक परीक्षाओं के दौरान विद्यार्थियों पर किस तरह का बोझ और मानसिक तनाव काम करता है, इसे बेहद खूबसूरती के साथ कहानी में पिरोया है. इस फ़िल्म में वह सब कुछ है, जो आप देखना चाहते हैं. दोस्त है, मस्ती है, प्यार-मोहब्बत है, ज़िंदगी है और साथ ही है ज़िंदगी की जवाबदारी भी.  इसका मतलब ये नहीं है कि इसमें इम्प्रूवमेंट का कोई स्कोप नहीं है. लेकिन कभी-कभी लोगों को लाइट हार्टेड फिल्में देखने की जरूरत भी होती है. फिल्म के गाने भी बढ़िया हैं.

अभिनय की बात करें तो सुशांत सिंह ने अपने किरदार बख़ूबी निभाया है. एक स्मार्ट स्टूडेंट, जो चतुराई से सामने वाले को पागल बनाता है और एक बाप जो अपने बेटे से बहुत प्यार करता है- किरदार के ये दोनों ही पहलु उन्होंने बढ़िया निभाए हैं. इसके अलावा एक्टर वरुण शर्मा, ताहिर राज भसीन, नवीन पॉलीशेट्टी, तुषार पांडे, प्रतीक बब्बर और सहर्ष शुक्ला का काम भी बढ़िया है. श्रद्धा कपूर अपने किरदार में बेहद खूबसूरत लग रही हैं.

ये भी पढ़ेंः जन्मदिन पर विशेष- ऋतिक रोशन ने पापा राकेश रोशन को यूं टीचर्स डे और बर्थडे की मुबारकबाद दी… (Hritik Roshan Wishes Papa Rakesh Roshan For Teachers’ Day And Birthday)

Share
Published by
Shilpi Sharma

Recent Posts

ब्यूटी प्रॉब्लम्स: क्या कंप्यूटर के सामने ज़्यादा बैठने से आंखों को नुकसान हो रहा है? (Beauty Problems: Protect Your Eyes While Working On Computer)

मैं वर्किंग वुमन हूं. ऑफ़िस में कंप्यूटर पर ज़्यादा देर काम करने के कारण मेरी…

कोरोना काल के लॉकडाउन के दौरान बच्‍चों का ध्‍यान कैसे रखें? (How You Can Take Care Of Children During Lockdown)

दुनियाभर में अचानक आए सोशल आइसोलेशन या क्वारंटाइन जैसी स्थिति में, लोगों का भयभीत और…

अपने फेवरेट फूड को सामने देख डाइट प्लान तक भूल जाते हैं टीवी के ये स्टार्स (These Tv Stars Forget Diet Plans For Their Favourite Food)

स्लिम लुक पाने के लिए स्टार्स को क्या-क्या नहीं करना पड़ता है, यहां तक की…

दांतों और मसूड़ों का यूं रखें ख़्याल (Tips For Healthy Teeth And Gums)

जब आप हंसते-मुस्कुराते हैं, तो दुनिया को अपनेपन का एक ख़ूबसूरत संदेश देते हैं. इसमें…

© Merisaheli