Categories: TVEntertainment

मौत से पहले खुद को भी भूल गए थे नट्टू काका, बेटे ने बताई पल पल की रिपोर्ट (Nattu Kaka Had Forgotten Himself Before His Death, Son Tells Moment To Moment Report)

टीवी जगत का काफी मशहूर शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में नट्टू काका का किरदार निभाने वाले दिग्गज अभिनेता घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) जी…

टीवी जगत का काफी मशहूर शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में नट्टू काका का किरदार निभाने वाले दिग्गज अभिनेता घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) जी का 3 अक्टूबर 2021 को निधन हो गया. वो पिछले काफी समय से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे व उनका इलाज़ चल रहा था. कुछ ही महीने पहले उनका दो ऑपरेशन हुआ था. 77 साल की उम्र में वो इस दुनिया से चल बसे, लेकिन आखिरी पलों में उनका जीवन काफी कष्टमय हो गया था, जिसे जानकर आपकी आंखें छलक आएंगी. उनके बेटे ने उनके बारे में एक इंटरव्यू में सारी जानकारी दी.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

9 कीमोथेरेपी हुई थी घनश्यान नायक की ईटाइम्स को दिए इंटरव्यू के दौरान घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) जी के बेटे विकास ने उनसे जुड़ी कई जानकारियां शेयर की. इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया कि, “एक साल पहले मेरे पिताजी की कैंसर की सर्जरी हुई थी. इसके बाद रेडियेशन और कीमोथेरेपी हुई. उनका कैंसर इतना दुर्लभ था कि उपचार का तरीका ट्रायल-एन-एरर लगता था. उनके 9 कीमोथेरेपी सेशन्स हुए थे, जिसमें से पिछले 5 और 4 इस साल हुए. उसके बाद 30 रेडियेशन सेशन्स हुए. यह सितंबर 2020 के आसपास का समय था और चीजें नियंत्रण में होती दिख रही थी, लेकिन मार्च 2021 में पापा के चेहरे पर सूजन आ गई. हमने माना कि यह रेडियेशन का परिणाम था, लेकिन जांच से पता चला कि कैंसर उनके फेफड़ों में फैल गया था.”

ये भी पढ़ें : सिद्धार्थ शुक्ला को मौत के बाद मिला ये बड़ा अवॉर्ड, फैंस हो रहे इमोशनल (Siddharth Shukla Got This Big Award After Death, Fans Are Getting Emotional)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

आर्युवेद और होम्योपैथी की ली मदद – घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) जी के बेटे ने बात करते हुए कहा कि, “अप्रैल 2021 में हमने कीमोथेरेपी फिर से शुरु की, जिसके बाद 2021 में 4 सेशन हुए. जून तक सेशन्स चलते रहे, लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ. सूजन भी कम नहीं हुई, लेकिन पिताजी ने जोर देकर कहा कि वो अभी भी काम पर जाना चाहते हैं और इसलिए उन्होंने ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के लिए थोड़ी शूटिंग की और एक विज्ञापन भी किया. हमने इस बार फिर से एक टेस्ट कराया और महसूस किया कि कैंसर अब केबल फेफड़ों में ही नहीं बल्कि शरीर के अन्य अंगों में भी था. हमने कीमोथेरेपी बंद कर दी और होम्योपैथी और आर्युवेद की मदद ली, लेकिन हालात बिगड़ते चले गए.”

ये भी पढ़ें : ‘बबीता जी’ ने शेयर की ‘नट्टू काका’ से जुड़ी भावुक कर देने वाली बातें, जानकर आंखे नम हो जाएंगी आपकी (‘Babita Ji’ Shares Emotional Things Related To ‘Nattu Kaka’, Knowing That Your Eyes Will Become Moist)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

काफी मुश्किलों भरा था अंतिम वक्त – घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) जी के बेटे ने बताया कि, “पिछले कुछ दिनों से पिताजी को सांस लेने में दिक्त हो रही थी और हमने घर पर ऑक्सीजन और नर्सों की व्यव्स्था करने की कोशिश की, लेकिन मामला और गंभीर हो गया, जिसके बाद हम उन्हें अस्पताल ले गए. उन्हें आईसीयू में भर्ती होना पड़ा. हालत थोड़ा सुधरने पर उन्हें रूम में शिफ्ट किया गया. दुबारा उनकी हालत बिगड़ी और उन्हें फिर आईसीयू में वापस भेजा गया. उनके निधन से 15 दिन पहले, उनका शुगर लेवल बहुत ज्यादा बढ़ गया था. वो किसी को पहचान भी नहीं रहे थे. जब शुगर लेवल कम हुआ तो वो दुबारा सबको पहचानने लगे.”

ये भी पढ़ें : जब एक्टिंग छोड़ ढाबे पर काम करने लगे थे संजय मिश्रा, इस डायरेक्टर ने लाया था वापस (When Sanjay Mishra Left Acting And Started Working On The Dhaba, This Director Brought Him Back)

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

मौत के बाद करवाया गया मेकअप घनश्याम नायक (Ghanshyam Nayak) जी के अंतिम समय के बारे में बताते हुए उनके बेटे ने कहा कि, “हालांकि 2 अक्टूबर को पिताजी ने मुझसे पूछा, ‘मैं कौन हूं? वो अपना ही नाम भूल गए थे. उसी समय मुझे इस बात का एहसास हो गया था कि वो अब दूसरी दुनिया में जाने लगे हैं. उनके निधन के बाद हमने एक पेशेवर मेकअप आर्टिस्ट को उनके चेहरे पर मेकअप करने के लिए बुलाया. वो मेकअप के साथ इस दुनिया को अलविदा कहना चाहते थे. मैं आपको बता दूं कि जब उनकी नब्ज बंद हुई तो उनके चेहरे पर अपार शांति थी.”

Recent Posts

फहमान खान ने बिग बॉस 16 के ऑफर को कर दिया था रिजेक्ट (Fahman Khan Had Rejected The Offer Of Bigg Boss 16)

रियलिटी शो 'बिग बॉस 16' TRP की लिस्ट में कमाल कर रहा है, जिसका पूरा…

लघुकथा- मासूम बात (Short Story- Masoom Baat)

"पिछली बार ख़ूब मज़ा आया था जहां आप लेकर गए थे. कितने सारे बच्चे थे.…

© Merisaheli