Categories: SportsOthers

वर्ल्ड सुपर सीरीज़ फाइनल्स: रियो हार का बदला जीत से लिया पी.वी. सिंधु ने (Rio final reply PV Sindhu won)

रियो ओलिंपिक के फाइनल में कैरोलीना मारिन से फाइनल हारने के बाद पी. वी. सिंधु के मन में हार की वो कसक बरक़रार थी. उस हार को इसी साल जीत में बदलते हुए सिंधु ने दुबई में चल रहे वर्ल्ड सुपर सीरीज़ में कैरोलीना को हार की राह दिखाई. इसे कहते हैं जीत की हुंकार. 46 मिनट तक चले इस मैच को सिंधु ने 21-17, 21-13 से जीता. यह सिंधु की ग्रुप बी में दूसरी जीत थी, जिससे उन्होंने अंतिम चार में भी अपनी जगह पक्की कर ली. चीन की सुन यू अपने तीनों मैच जीतकर ग्रुप बी में शीर्ष पर रहीं, जबकि मारिन को अपने तीनों मैच में हार का सामना करना पड़ा. शुरुआत में इस मैच में मारिन ने कई बार अपना दबदबा बनाने की कोशिश की, लेकिन सिंधु उन्हें अपनी धारा में बहा ले गईं. मारिन थोड़ी चीखते हुए भी दिखीं, लेकिन पहला सेट 21-17 से जीतकर सिंधु ने मारिन की कमर तोड़ दी. वैसे इस मैच को देखने के बाद लग रहा था कि सिंधु के आगे मारिन कहीं टिक नहीं रही थीं. भले ही रियो ओलिंपिक की गोल्ड मेडलिस्ट थीं मारिन, लेकिन इस मैच में वो सिंधु के सामने छोटे क़द की दिखीं. इसे कहते हैं खेल. हार और जीत तो लगी ही रहती है. फिलहाल ये मैच सिंधु के नाम था. सेमीफाइनल में पहुंचकर सिंधु ने देश का मान बढ़ाया है. - श्वेता सिंह 

रियो ओलिंपिक के फाइनल में कैरोलीना मारिन से फाइनल हारने के बाद पी. वी. सिंधु के मन में हार की वो कसक बरक़रार थी. उस हार को इसी साल जीत में बदलते हुए सिंधु ने दुबई में चल रहे वर्ल्ड सुपर सीरीज़ में कैरोलीना को हार की राह दिखाई. इसे कहते हैं जीत की हुंकार.

46 मिनट तक चले इस मैच को सिंधु ने 21-17, 21-13 से जीता. यह सिंधु की ग्रुप बी में दूसरी जीत थी, जिससे उन्होंने अंतिम चार में भी अपनी जगह पक्की कर ली. चीन की सुन यू अपने तीनों मैच जीतकर ग्रुप बी में शीर्ष पर रहीं, जबकि मारिन को अपने तीनों मैच में हार का सामना करना पड़ा.

शुरुआत में इस मैच में मारिन ने कई बार अपना दबदबा बनाने की कोशिश की, लेकिन सिंधु उन्हें अपनी धारा में बहा ले गईं. मारिन थोड़ी चीखते हुए भी दिखीं, लेकिन पहला सेट 21-17 से जीतकर सिंधु ने मारिन की कमर तोड़ दी.

वैसे इस मैच को देखने के बाद लग रहा था कि सिंधु के आगे मारिन कहीं टिक नहीं रही थीं. भले ही रियो ओलिंपिक की गोल्ड मेडलिस्ट थीं मारिन, लेकिन इस मैच में वो सिंधु के सामने छोटे क़द की दिखीं.

इसे कहते हैं खेल. हार और जीत तो लगी ही रहती है. फिलहाल ये मैच सिंधु के नाम था. सेमीफाइनल में पहुंचकर सिंधु ने देश का मान बढ़ाया है.

– श्वेता सिंह 

Share
Published by
Meri Saheli Team

Recent Posts

सुशांत सिंह राजपूत के डुप्लीकेट की फोटो और वीडियो हुआ वायरल, फैन्स ने कहा ये (Sushant Singh Rajput’s Duplicate Photo And Video Goes Viral)

सुशांत सिंह राजपूत के डुप्लीकेट ने फैन्स को एक बार फिर सुशांत की याद दिला…

सोन परी की ‘फ्रूटी’ अब दिखती हैं ऐसी, जानें क्या करती हैं आजकल? (Where Is Son Pari Fame Tanvi Hegde These Days?)

सोन परी टीवी का वो पॉप्युलर सीरियल था, जिसके सभी बच्चे दीवाने थे. आज भी…

© Merisaheli