कोलेस्ट्रॉल लेवल तेज़ी से घटाने के 10+ असरदार व आसान उपाय (10+ Natural Ways to Lower Your Cholesterol Levels)

कोलेस्ट्रॉल हमारे रक्त में पाया जाने वाला फैट है, जो कोलेस्ट्रॉल हमारे रक्त में पाया जाने वाला फैट है, जो हार्मोन्स के निर्माण और उनके सही तरी़के से काम करने के लिए ज़रूरी है, लेकिन जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर आवश्यकता से अधिक बढ़ जाता है तो तरह-तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होती हैं. यही वजह है कि इसे मेंटेन रखने के लिए लोग अलग-अलग तरह के तेल का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन आपको बता दें कि कोलेस्ट्रॉल लेवल को संतुलित रखने के लिए खान-पान पर नियंत्रण रखना बहुत ज़रूरी है. अगर आप भी हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण परेशान हैं तो अपने डायट में से इन खाद्य सामग्रियों को पूरी तरह से हटा दें.

फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट्स-बहुत से लोगों को इस बात की जानकारी नहीं होती कि फुल फैट आइसक्रीम, चीज़, मलाईदार दूध और दही में कितना अधिक सैचुरेटेड फैट होता है. अगर कोलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रित रखना है तो मलाईवाले दूध, दही, आइसक्रीम, चीज़ इत्यादि से परहेज़ करें. इनकी बजाय फैट फ्री डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करें.


चिकन- हालांकि चिकन एक लो-फैट मीट है, लेकिन इसे बनाने के तरी़के से काफ़ी फ़र्क पड़ता है. स्किन वाले चिकन लेग में एक कप आइसक्रीम से ज़्यादा फैट व कोलेस्ट्रॉल होता है. इसलिए यह बहुत ज़रूरी है कि सोच-समझकर व सीमित मात्रा में चिकन का सेवन किया जाए.

अंडे की ज़र्दी-आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि अंडे की ज़र्दी में सबसे अधिक कोलेस्ट्रॉल होता है. एक अंडे की ज़र्दी में 210 एमजी कोलेस्ट्रॉल होता है, इसलिए यदि आपको हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो अंडे की ज़र्दी खाने से बचें.

मक्खन-ज़्यादातर लोगों को मक्खन से प्रेम होता है. चाहे पराठे हों, ब्रेड हो या कोई अन्य डिश- मक्खन के बिना हमारा खाना अधूरा है, लेकिन यदि आपको कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो मक्खन कम से कम खाएं, क्योंकि 100 ग्राम मक्खन में 215 एमजी कोलेस्ट्रॉल होता है.

फास्ट फूड्स- फास्ट फूड में अत्यधिक मात्रा में कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है. 100 ग्राम चिप्स के पैकेट, चीज़, बिस्किट व केक में 172 एमजी कोलेस्ट्रॉल होता है. ऐसे फास्ट फूड्स में मौजूद ट्रान्सफैट के कारण उनमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है. अतः कम से कम इसका सेवन करें.

कोलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रित रखने के घरेलू उपाय


1. एक रिसर्च से सिद्ध हो गया है कि गुग्गुल का प्रयोग यदि औषधि के रूप में किया जाए तो यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है.    हल्दी के उपयोग से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स की मात्रा में कमी आती है.
2. सुबह-शाम एलोवेरा और आंवला के रस में शहद मिलाकर पीने से फ़ायदा होगा. इसके अलावा कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रखना है तो अंकुरित मूंग खाएं.
जिन लोगों को हाई कोलेस्ट्रॉल है, उन्हें सुबह उठने के बाद ख़ाली पेट कच्चा लहसुन खाना चाहिए, इससे फ़ायदा होता है.
3.  कड़वे, कसैले और तीखे खाद्य पदार्थ कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं. ब्रोकोली, गोभी, फूलगोभी और फलों का सेवन करें.
4. दिनभर में कम से कम 7-8 गलास पानी अवश्य पीएं.
5. हमेशा खाना पकाने के तुरंत बाद गर्मागर्म खाना खाने की आदत डालें.
6. एक कप दूध को बर्तन में 5 मिनट तक उबालें और एक अन्य कप में पानी लेकर एक चुटकी इलायची और दालचीनी मिलाएं. दोनों को मिला कर धीरे-धीरे इस मिश्रण को पीएं.
7. घुलनशील फाइबर, जैसे-ओट, जौ और दानेदार अनाज के सेवन से कोलेस्ट्रॉल को शरीर से बाहर निकलने में आसानी होती है, इसलिए भोजन में कम से कम 20 ग्राम घुलनशील फाइबर की मात्रा शामिल करें.
8. भोजन बनाते समय हल्दी और करीपत्ते का प्रयोग करें. इसमें कोलेस्ट्रॉल कम करने के गुण होते हैं.
9. दिन में सोने से बचें, क्योंकि इससे मेटाबॉलिज़्म स्लो हो जाता है. सुबह 6 बजे से पूर्व उठा करें. सही समय पर भोजन करें और रात में सुपाच्य तथा हल्का भोजन करें.
10. एक ग्लास पानी में 2 चम्मच धनिया बीज डालकर उबालें. फिर उसे ठंडा होने दें. इस मिश्रण को दिन में 3 बार पीएं. तरबूज के बीज सुखाकर भून लें और इसका बारीक़ चूर्ण बना लें. 1 चम्मच चूर्ण को 1ग्लास पानी में अच्छी तरह मिलाकर दिन में एक बार पीएं.
ये भी पढ़ेंः डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए डायट प्लान

Shilpi Sharma :
© Merisaheli