कॉस्मेटिक सिलेक्शन (Cosmetic Selection)

अब जब चांद खिलेगा आसमान में, तो पूछूंगा मैं उससे कि तेरे बिना क्यों अधूरी लगती है सितारों की ये महफ़िल… जागती आंखों से जब अपने महबूब का सपना देखता हूं, तो क्यों तेरा ही ख़्याल आता है मुझे… तेरा नूर जब बिखरता है, तो रातें हसीं क्यों लगती हैं इतनी और जब तू नहीं, तो सब वीरान-सा क्यों लगता है. ये तू है या मेरे महबूब का अक्स कि तेरे वजूद में उसे और उसके चेहरे में तुझे देखता हूं.
अक्सर हम ऐसे लोगों को देखते हैं, जिनका मेकअप इतना परफेक्ट होता है कि वो नेचुरल ही लगता है और ऐसी भी बहुत-सी महिलाएं होती हैं, जिनका मेकअप मास्क जैसा लगता है. दरअसल, परफेक्ट मेकअप के लिए सही मेकअप सिलेक्शन की जानकारी होना बहुत ज़रूरी है.

फाउंडेशन सिलेक्शन: सबसे पहले अपनी स्किन टाइप को जानें.

अगर आपकी स्किन ड्राई है

– लिक्विड, स्टिक या हाइड्रेटिंग पाउडर फाउंडेशन सिलेक्ट करें.

– लिक्विड और स्टिक की कंसिस्टेंसी क्रीमी होती है और हाइड्रेटिंग पाउडर में त्वचा को मॉइश्‍चराइज़ करनेवाले तत्व होते हैं और वो स्किन को अच्छा कवरेज भी देते हैं.

– जब भी मेकअप ख़रीदें, तो यह देखें कि कॉम्पैक्ट मेकअप या फाउंडेशन का लेबल लगा हो.

अगर आपकी स्किन ऑयली है

– आप ऑयल फ्री लिक्विड या पाउडर फाउंडेशन सिलेक्ट करें.

– इनमें तेल सोखनेवाले तत्व होते हैं, जो त्वचा के अतिरिक्त तेल को सोखकर मैट, स्मूद फिनिश देते हैं.

– ऑयली स्किन पर मिनरल मेकअप भी अच्छा इफेक्ट देता है.

– अगर ऑयली स्किन की वजह से आपको पिंपल्स भी आते हैं, तो सैलिसिलिक एसिड युक्त फाउंडेशन लें, क्योंकि ये तेल का निर्माण करनेवाले ग्लांड्स को तेल बनाने से रोकते हैं, जिससे पिंपल्स रोकने में मदद मिलती है.

अगर कॉम्बीनेशन स्किन है

– पाउडर फाउंडेशन इस तरह यूज़ करें कि जहां ऑयल ज़्यादा आता हो, वहां इसका अधिक इस्तेमाल करें और जहां कम आता है, वहां कम.

– इसका सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि चेहरे के अलग-अलग हिस्सों पर अलग-अलग मात्रा में लगाने पर भी यह पैची लुक नहीं देता है.

अगर सामान्य स्किन है

– आपके लिए पाउडर फाउंडेशन ही परफेक्ट चॉइस है.

– यह अप्लाई करने में आसान होता है और त्वचा में आसानी से अच्छी तरह ब्लेंड हो जाता है.

– इसके बाद अगर कोई बेहतर ऑप्शन है, तो वो है कॉम्पैक्ट में क्रीम फाउंडेशन. यह स्किन में लिक्विड की तरह ब्लेंड हो जाता है.

मेकअप टिप: मेकअप के बाद अगर आप चेहरे पर नैपकीन यूज़ करती हैं या किसी से गले मिलती हैं, तो अक्सर आपका फाउंडेशन कपड़े पर लग जाता है, तो इससे बचने के लिए फाउंडेशन अप्लाई करने के बाद बिना मेकअप लगे पफ को चेहरे पर थपथपा लें.

स्किन टोन के अनुसार मेकअप सिलेक्शन:अक्सर हम यलो बेस्ड और पिंक बेस्ड फाउंडेशन के बारे में सुनते हैं. अधिकतर महिलाएं यलो बेस्ड फाउंडेशन सिलेक्ट करती हैं, क्योंकि वो ज़्यादातर स्किन टाइप को सूट करता है. पिंक बेस्ड फाउंडेशन बहुत ही ज़्यादा गोरी रंगत पर ठीक लगता है. हालांकि उसके बेस से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, आप बिना उसका बेस जाने भी अच्छा फाउंडेशन सिलेक्ट कर सकती हैं.

– आप फाउंडेशन का डॉट अपने जॉलाइन के सेंटर में अप्लाई करें और उसे ऊपर व नीचे, दोनों तरफ़ ब्लेंड करें. अगर वो स्किन में पूरी तरह ब्लेंड हो गया, तो समझिए आपका शेड मिल गया.

– इसके अलावा आप अपने स्किन टोन को ध्यान में रखते हुए भी इसे सिलेक्ट कर सकती हैं, जैसे- अगर आपका स्किन टोन कूल है यानी अगर आपकी कलाई की नसों का कलर ब्लू है, तो आपको रोज़ी, रेडिश या ब्लू बेस के फाउंडेशन सिलेक्ट करने चाहिए.

– इसी तरह अगर आपकी कलाई की नसों का कलर ग्रीन है, तो आपका स्किन टोन वॉर्म है. आपको गोल्डन या यलो बेसवाले फाउंडेशन लेने चाहिए.

लिप कलर सिलेक्शन

– अपने लिप कलर से दो शेड डीप कलर की लिपस्टिक सिलेक्ट करें.

– पिंक और रेड के शेड्स से एक्सपेरिमेंट करें, क्योंकि ये कलर्स सभी स्किन टोन्स पर अच्छे लगते हैं और हर तरह के आउटफिट व हेयर स्टाइल पर सूट करते हैं.

– दिन के समय लिप कलर हल्का ही रखें, बशर्ते आप किसी शादी वगैरह में न जा रही हों.

– अपनी स्किन टोन के अनुसार शेड्स सिलेक्ट करें.

– फेयर स्किन के लिए पिंक अंडरटोन्स के, जैसे- कोरल रेड या डार्क रेड कलर्स अच्छे लगते हैं.

– मीडियम या ऑलिव स्किन टोन पर क्रैनबेरी और ब्रिक रेड कलर्स अच्छे लगते हैं.

– डार्क कॉम्प्लेक्शन पर बरगंडी व ब्राउन टोन्स के रेड शेड्स अच्छे लगते हैं.

– हमेशा लिपस्टिक ख़रीदने से पहले टेस्टर्स से ट्राई ज़रूर करें.

– ट्राई करने से पहले लिप पर लगा पहलेवाला लिप कलर पूरी तरह से हटा लें, वरना कलर मिक्स हो जाएगा और सही शेड का पता नहीं चलेगा.

– कलर देखते व़क्त सही रोशनी होनी चाहिए.

– जब भी लिप कलर ट्राई करें यह ध्यान में रखें कि फेस मेकअप या तो न हो या बहुत ही हल्का हो, वरना कलर का सही इफेक्ट पता नहीं चलेगा.

– अगर आपके साथ कोई फ्रेंड नहीं है, तो काउंटर के लोगों से पूछ लें कि कौन-सा कलर आप पर ज़्यादा अच्छा लग रहा है.

– अपने आउटफिट से लिप कलर एकदम मैच न करें, वो लाउड लगेगा.

– आंखों और लिप्स दोनों में से एक को ही हाईलाइट करें.

 

– कमलेश शर्मा

Meri Saheli Team :
© Merisaheli