Dhadak Movie Review: ‘धड़क’ में ईशान और जाह्नवी की केमेस्ट्री देख धड़का दर्शकों का दिल (Dhadak Movie Review)

बॉलीवुड की दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी (Sridevi) की बेटी जाह्नवी कपूर (Jhanvi Kapoor) की डेब्यू फिल्म ‘धड़क’ के रिलीज़ होने का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे फैंस का यह इंतज़ार आख़िरकार ख़त्म हो ही गया और फिल्म ‘धड़क’ सिनेमाघरों में रिलीज़ हो गई है. यह फिल्म ब्लॉकबस्टर मराठी फिल्म ‘सैराट’ का हिंदी रीमेक है. यह जाह्नवी कपूर की पहली फिल्म है जबकि ईशान खट्टर (Ishaan Khattar) की यह दूसरी फिल्म है. इससे पहले ईशान इंटरनेशनल फेम डायरेक्टर माजिद मजीदी की फिल्म ‘बियॉन्ड द क्लाउड’ में अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं. बता दें कि रिलीज़ से पहले ही इस युवा जोड़ी की इस फिल्म का यंगस्टर्स में जबर्दस्त क्रेज देखा जा रहा था.
मूवी- धड़क
स्टारकास्ट- जाह्नवी कपूर, ईशान खट्टर, आशुतोष राणा.
डायरेक्टर- शशांक खेतान.
अवधि- 2 घंटा 18 मिनट.
रेटिंग- 3.5/5
कहानी-
फिल्म के डायरेक्टर शशांक खेतान (Shashank Khaitan) ने ‘सैराट’ की कहानी को महाराष्ट्र से राजस्थान की ख़ूबसूरत पृष्ठभूमि में तब्दील किया है और उन्होंने फिल्म में कुछ बदलाव भी किए हैं. इस फिल्म की कहानी राजस्थान के उदयपुर से शुरू होती है. जहां रहने वाली पार्थवी (जाह्नवी कपूर) राज परिवार के मुखिया ठाकुर रतन सिंह (आशुतोष राणा) की बेटी हैं, जो इस शाही परिवार के नियम और बंधनों का पालन दिल से करती हैं. कॉलेज में साथ पढ़ने वाले मधुकर (ईशान खट्टर) को पहली नज़र में ही पार्थवी से प्यार हो जाता है. उधर, चुनावी माहौल में जब पार्थवी के पिता को दोनों के प्यार की भनक लगती है तो वो छोटी जाति के मधुकर और उसके परिवार वालों पर काफ़ी जुल्म करते हैं. हालांकि अपने प्यार को बचाने के लिए पार्थवी हर मुमक़िन हथकडें अपनाती हैं, आख़िर में दोनों घर से भाग जाते हैं. उदयपुर से मुंबई और नागपुर से होते हुए दोनों कोलकाता पहुंचते हैं. एक राज परिवार से ताल्लुक रखने वाली पार्थवी क्या एक आम लड़के के साथ प्यार निभा पाती है? यह जानने के  लिए आपको सिनेमा घरों की ओर रूख करना पड़ेगा.
एक्टिंग-
बेहतरीन अदायगी जाह्नवी के ख़ून में ही मौजूद है और उन्होंने अपनी पहली ही फिल्म में इस बात को साबित किया है. हालांकि जाह्नवी ने कैमरा फेस करने से पहले लंबा होमवर्क किया था. उधर शाहिद कपूर के भाई ईशान खट्टर अपनी दमदार एक्टिंग से दर्शकों की कसौटी पर खरे उतरते दिखाई दे रहे हैं. एक्टिंग के मामले में ईशान जाह्नवी पर भारी पड़ते नज़र आ रहे हैं. हालांकि पर्दे पर ईशान और जाह्नवी की केमेस्ट्री देखते ही बनती है. ठाकुर रतन सिंह का किरदार निभाने वाले आशुतोष राणा ने कमाल की एक्टिंग की है. मधुकर के दोस्त बने अंकित बिष्ट और श्रीधरन अपने-अपने किरदार में फिट नज़र आए.
डायरेक्शन-
‘धड़क’ फिल्म को डायरेक्ट करने से पहले शशांक खेतान दो साधारण लव स्टोरी ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ और ‘हम्प्टी शर्मा की दुल्हनियां’ को डायरेक्ट कर चुके हैं. ये दोनों ही फिल्में बॉक्स ऑफिस पर क़ामयाब रही हैं. जिस तरह से साल 2016 में आई सुपरहिट मराठी फिल्म ‘सैराट’ के क्लाइमेक्स ने दर्शकों को अंदर तक हिलाकर रख दिया था. ‘धड़क’ में वैसा ही कुछ करने की कोशिश की है डायरेक्टर शशांक खेतान ने. हालांकि शशांक ने इस फिल्म के क्लाइमेक्स में कुछ बदलाव किए हैं, जो फिल्म को और भी मनोरंजक बनाते हैं.
 म्यूज़िक-
मराठी फिल्म सैराट में अतुल और अजय ने म्यूज़िक दिया था जो काफ़ी हिट हुआ था और फिल्म धड़क में भी इन्हीं दोनों ने म्यूज़िक दिया है. हिंदी में इस फिल्म के गानों के बोल अमिताभ भट्टाचार्य ने लिखे हैं. बता दें कि फिल्म के टाइटल ट्रैक और ‘झिंगाट’ सहित इसमें कुल चार गाने हैं. बहरहाल, जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर की धड़क आपके दिल को धड़का पाती है या नहीं इसका फ़ैसला करने के लिए आपको यह फिल्म देखनी पड़ेगी.
Anita Ram :
© Merisaheli