Categories: Skin CareBeauty

फंगल इन्फेक्शन से बचने के लिए बरसात में ऐसे करें पैरों की देखभाल (Easy Tips For Foot Care In Monsoon To Avoid Fungal Infections)

मॉनसून (Monsoon) में बार-बार भीगने, गंदे पानी, कीचड़ आदि के कारण पैरों (Feet) में इन्फेक्शन (Infection) होने का खतरा रहता है इसलिए बरसात में पैरों की ख़ास देखभाल करना बेहद जरूरी है. मॉनसून में पैरों की देखभाल करने के लिए आपको बहुत कुछ करने की जरूरत नहीं है, कुछ घरेलू नुस्खे (Home Remedies) आपको मॉनसून में पैरों की समस्याओं (Problems) से छुटकारा दिला सकते हैं. मॉनसून में पैरों को सुंदर और सुरक्षित बनाए रखने के लिए मॉनसून में ऐसे करें पैरों की देखभाल. मॉनसून में पैरों की देखभाल के आसान तरीके * जहां तक संभव हो पैरों को सूखा रखने की कोशिश करें. गीले पैरों में बैक्टिरिया पनपते हैं जिससे इन्फेक्शन हो सकता है, साथ ही इससे पैर से बदबू आने लगती है. * अंदर की तरफ बढ़ने वाले नाख़ूनों को काट दें. बरसात में अंदर की तरफ बढ़ने वाले नाखूनों के कारण फंगल इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है. * जब भी समय मिले टब में गरम पानी और बाथ सॉल्ट डालकर उसमें पैर भिगोएं (फुटबाथ). ऐसा करने से पैरों की मांसपेशियों को आराम मिलता है. * रात में सोने के पहले ग्लिसरीन लगाकर पैरों की मसाज करें. * छुट्टी के दिन थोड़ा समय पैरों की देखभाल के लिए निकालें. पैरों को सुंदर और सुरक्षित रखने के लिए टब में इतना पानी भरें कि पानी आपके पैरों के बीच तक पहुंचे. फिर पानी में शैम्पू मिलाएं और 10 मिनट तक इसमें पैर डालकर बैठें. * फिर टूथब्रश या नेलब्रश की मदद से पैर के नाख़ूनों को अच्छी तरह साफ़…

मॉनसून (Monsoon) में बार-बार भीगने, गंदे पानी, कीचड़ आदि के कारण पैरों (Feet) में इन्फेक्शन (Infection) होने का खतरा रहता है इसलिए बरसात में पैरों की ख़ास देखभाल करना बेहद जरूरी है. मॉनसून में पैरों की देखभाल करने के लिए आपको बहुत कुछ करने की जरूरत नहीं है, कुछ घरेलू नुस्खे (Home Remedies) आपको मॉनसून में पैरों की समस्याओं (Problems) से छुटकारा दिला सकते हैं. मॉनसून में पैरों को सुंदर और सुरक्षित बनाए रखने के लिए मॉनसून में ऐसे करें पैरों की देखभाल.

मॉनसून में पैरों की देखभाल के आसान तरीके

* जहां तक संभव हो पैरों को सूखा रखने की कोशिश करें. गीले पैरों में बैक्टिरिया पनपते हैं जिससे इन्फेक्शन हो सकता है, साथ ही इससे पैर से बदबू आने लगती है.
* अंदर की तरफ बढ़ने वाले नाख़ूनों को काट दें. बरसात में अंदर की तरफ बढ़ने वाले नाखूनों के कारण फंगल इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है.
* जब भी समय मिले टब में गरम पानी और बाथ सॉल्ट डालकर उसमें पैर भिगोएं (फुटबाथ). ऐसा करने से पैरों की मांसपेशियों को आराम मिलता है.
* रात में सोने के पहले ग्लिसरीन लगाकर पैरों की मसाज करें.
* छुट्टी के दिन थोड़ा समय पैरों की देखभाल के लिए निकालें. पैरों को सुंदर और सुरक्षित रखने के लिए टब में इतना पानी भरें कि पानी आपके पैरों के बीच तक पहुंचे. फिर पानी में शैम्पू मिलाएं और 10 मिनट तक इसमें पैर डालकर बैठें.


* फिर टूथब्रश या नेलब्रश की मदद से पैर के नाख़ूनों को अच्छी तरह साफ़ करें.
* प्यूमिक स्टोन की सहायता से पैर के डेड सेल्स को रगड़कर साफ़ करें.
* एड़ी (हील्स) से मोटी/खुरदरी चमड़ी या डेड सेल्स को हटाने के लिए मेटल स्क्रब का इस्तेमाल करें. इससे डेड स्किन आसानी से हट जाती है और एड़ियां बनती हैं साफ़ व मुलामय.

यह भी पढ़ें: 10 भारतीय मसालों से पाइए ख़ूबसूरत त्वचा और काले-घने-लंबे बाल (Top 10 Indian Spices For Beauty)

* नाख़ूनों को और साफ़ व सुन्दर बनाने के लिए उनके कोनों पर क्यूटिकल क्रीम लगाएं. इससे क्यूटिकल सॉफ्ट हो जाएंगे और नाख़ूनों की क्लींज़िंग व फिनिशिंग आसान हो जाएगी.
* नाख़ूनों के कोनों व अंदर से पिन नेल स्क्रबर की मदद से गंदगी हटाएं.
* अब पैरों को टॉवल से पोंछकर सुखाएं.
* फिर मॉइश्चराइज़िंग लोशन या क्रीम लगाकर पैरों का मसाज करें.


* यदि आप नेलपॉलिश लगा रही हैं, तो नाख़ून पर लगी अतिरिक्त क्रीम को साफ़ करके पहले बेस लगाएं. बेस कोट के बाद नेल पेंट लगाएं और फिर टॉप कोट लगाएं.
* इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी कोट के सूखे बिना नेल पेंट का दूसरा कोट कभी न लगाएं.
* यदि आप सभी उंगलियों के बीच में रुई या टॉवल लगाएंगी, तो नेल पॉलिश एक उंगली से दूसरी उंगली तक फैलेगी नहीं.

हफ्ते में एक दिन पैरों की उचित देखभाल करके आप मॉनसून में भी अपने पैरों को सुंदर और सुरक्षित बनाए रख सकती हैं.

यह भी पढ़ें: नींबू से गोरा रंग पाने के 10 आसान उपाय (10 Easy Home Remedies To Whiten Skin With Lemon)
Share
Published by
Kamla Badoni

Recent Posts

आलिया भट्ट ने कैसे घटाया 3 महीने में 16 किलो वज़न, जानें उनकी फिटनेस का राज़! (Alia Bhatt’s Fitness Journey)

आलिया ने कम उम्र में ही फ़िल्मों का रुख़ कर लिया था और अपनी पहली…

काव्य- आईने के एहसास (Kavya- Aaine Ke Ehsaas)

मैं ख्वाब देखता थातुम ख्वाब हो गए उम्मीद के शहर में तुम प्यास हो गए…

© Merisaheli