Categories: FILMEntertainment

जानें ‘मिर्जापुर’ के मुन्ना त्रिपाठी उर्फ दिव्येन्दु शर्मा की लाइफ की अनकही बातें (Know Interesting Facts About Reel Life Munna Tripathi Aka Divyendu Sharma)

'मिर्जापुर' सीजन 2 का फैंस में जबरदस्त क्रेज है और पहले सीज़न के बाद इसके दूसरे सीज़न को भी दर्शकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है.…

‘मिर्जापुर’ सीजन 2 का फैंस में जबरदस्त क्रेज है और पहले सीज़न के बाद इसके दूसरे सीज़न को भी दर्शकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है. ‘मिर्जापुर’ के पहले सीजन में दिव्येंदु शर्मा का मुन्ना त्रिपाठी का निगेटिव किरदार लोगों को बहुत पसंद आया था और इसके दूसरे सीजन में भी मुन्ना त्रिपाठी के रोल ने फैंस को बहुत ज़्यादा इम्प्रेस किया है. आइये मुन्ना का रोल निभाकर लोगों के दिलों में जगह बनाने वाले एक्टर दिव्येंदु शर्मा के निजी जीवन, उनके स्ट्रगल बारे में कुछ बातें जानते हैं.



1. 37 वर्षीय दिव्येंदु बेसिकली दिल्ली के हैं और एक्टर ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित किरोड़ी मल कॉलेज से पोलिटिकल साइंस में ग्रेजुएशन किया है.



2. फिल्मों में आने से पहले दिव्येंदु ने 3 साल तक थिएटर किया. इसके बाद उन्होंने एफटीटीआई, पुणे से एक्टिंग में दो साल का डिप्लोमा कोर्स किया. उन्होंने कई विज्ञापन में भी काम किया है.


3. दिव्येंदु एक मिडल क्लास फैमिली से हैं. उन्होंने अपनी गर्ल फ्रेंड आकांक्षा शर्मा से शादी की थी. हालांकि उन्हें पिता बनने का सुख अब तक नहीं मिल पाया है, लेकिन दोनों इस रिलेशनशिप में खुश हैं.

4. पिछले साल दिव्येंदु शर्मा ने ऊना सरनेम हटा दिया और अपना नाम सिर्फ दिव्येंदु लिखने लगे. सभी ने कहा ऐसा उन्होंने न्यूमेरोलॉजी के चलते किया है, लेकिन बाद में दिव्येंदु ने स्पष्ट किया कि सरनेम के चलते होनेवाले कास्ट डिवीज़न के चलते किया है.

5. दिव्येंदु पहली बार माधुरी दीक्षित की कमबैक फ़िल्म ‘आ जा नच ले’ में साइड रोल में नज़र आये थे.

6. इसके बाद फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ में उन्हें अच्छा रोल मिला. फ़िल्म में उनके द्वारा निभाया गया लिक्विड का लोगों को बहुत पसंद आया. इस फ़िल्म के लिए दिव्येंदु स्क्रीन अवार्ड भी मिला था. इसके बाद रोमांटिक कॉमेडी मूवी ‘चश्मेबद्दूर’ में उनका ओमी कवि के किरदार और उनके परफॉर्मेंस को लोगों ने नोटिस किया.


7. लेकिन इसके बाद दिव्येंदु कुछ अलग करना चाहते थे. नए तरह के रोल्स के साथ एक्सपेरिमेंट करना चाहते थे. बतौर एक्टर खुद को साबित करना चाहते थे. इस बीच दिव्येंदु ने दो कमर्शियल फिल्में भी कीं. अक्षय के साथ ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ और शाहिद कपूर के साथ ‘बत्ती गुल मीटर चालू’

8. एक इंटरव्यू में दिव्येंदु ने कहा था कि वे गैंगस्टर का रोल करना चाहते हैं और वेब सीरीज़ ‘मिर्जापुर’ से उनकी ये इच्छा भी पूरी हो गयी. बल्कि गैंगस्टर के एक कैरेक्टर ने ही उन्हें असली पहचान दिलाई और वो मुन्ना त्रिपाठी के रूप में लोगों के दिलो दिमाग पर छा गए.

9. दिव्येंदु को पहले मिर्जापुर में बबलू पंडित वाले रोल के लिए अप्रोच किया गया था. उन्होंने बबलू के किरदार के लिए स्क्रिप्ट नरेशन भी दे दिया था. मुन्ना त्रिपाठी का किरदार अली फ़ज़ल निभाने वाले थे.

10. लेकिन अली फ़ज़ल ने मुन्ना वाला रोल करने से मना कर दिया, लेकिन अली ने गुड्डू पंडित वाले रोल के लिए हां कर दी. बाद में मुन्ना वाला रोल दिव्येंदु को मिल गया और दिव्येंदु ने इस किरदार को बड़े ही बेहतरीन ढंग से निभाया. मुन्ना त्रिपाठी का कैरेक्टर बेहद पॉपुलर हो गया. इनफैक्ट ‘मिर्जापुर’ के सभी किरदार इतने पसंद किए गए कि ये इंडिया की सबसे ज़्यादा देखी जानेवाली वेब सीरीज बन गई.

11. दिव्येंदु मुन्ना के किरदार को बहुत ही अलग तरह से डिफाइन करते हैं. ‘मुन्ना आपको बुरा इंसान लग सकता है. लेकिन वो बुरा इसलिए है क्योंकि हालात ऐसे हैं. वो काम्प्लेक्स इंसान है. वो पैसे वाले बाप का औलाद है, लेकिन वो पिता के साथ बहुत ही अच्छा रिश्ता चाहता है. उनको खुश रखने के लिए वो यहां वहां हिंसा करता घूमता है. उसके किरदार में नेगेटिव शेड है, लेकिन एक बच्चा भी है. मुन्ना 70-80 के दौर वाला विलेन नहीं है, उसमें अच्छाइयां भी हैं.

12. जल्द ही दिव्येंदु का एक और शो ‘बिच्छू का खेल’ जल्द ही ऑल्ट बालाजी पर रिलीज होने वाला है.

Recent Posts

स्वस्थ मन के लिए 11 ईज़ी इफेक्टिव वास्तु ट्रिक्स… (11 Easy Effective Vastu Tricks For Positive Mind…)

हर किसी की ख़्वाहिश रहती है कि वह स्वस्थ रहें और फिट रहें. इसके लिए…

कहानी- चिमटियां (Short Story- Chimtiyan)

“अरे हां अम्मा, संभालकर लगाई थीं. दोनों सिरों को अटकाया था चिमटी से, पर चिमटी…

सिंदूर का गिरना अशुभ क्यों माना जाता है? जानें सिंदूर गिरने के शुभ-अशुभ संकेत (Why Spilling Of Sindoor On The Floor Is Inauspicious)

हमने अपनी नानी-दादी को कहते सुना है कि सिंदूर का गिरना बहुत अशुभ संकेत है…

© Merisaheli